... सुनो सरकार :- जशपुर शिक्षा विभाग सवालों के घेरे में..? "बदहवास और बदहाल" शिक्षा व्यवस्था का जिम्मेदार कौन..? जिला शिक्षा अधिकारी पर सरकार मेहरबान..क्यों ..??

Recents in Beach


सुनो सरकार :- जशपुर शिक्षा विभाग सवालों के घेरे में..? "बदहवास और बदहाल" शिक्षा व्यवस्था का जिम्मेदार कौन..? जिला शिक्षा अधिकारी पर सरकार मेहरबान..क्यों ..??



जशपुर(पत्रवार्ता) शिक्षा सत्र की शुरुआत के साथ ही जिला शिक्षा विभाग की खामियां एक एक करके सामने आती जा रहीं हैं।कहीं शिक्षक शराब के नशे में मौसम का मजा ले रहे हैं तो कहीं शिक्षक स्कूल से गायब हैं और तो और स्कूलों में पढ़ाई न होने के कारण बच्चे खेतों में काम करते तक देखे जा रहे हैं।


इन सबके बीच शिक्षा विभाग में खरीदी के नाम पर करोड़ों का भ्रष्टाचार जग जाहिर है।वहीं स्कूली बच्चों के साथ मारपीट और प्रताड़ना का मामला सुर्खियों में बना हुआ है।हाल ही में 2 छात्राओं की मौत स्कूल में सांप के डंसने के कारण हो गई....ऐसे में बड़ा सवाल...? कैसे पढ़ेगा जशपुर...? कैसे बढ़ेगा जशपुर ...? 

अब बात करें जिम्मेदारी की तो जिले के कलेक्टर ने बेहतर शिक्षा के लिए नए व अच्छे प्रयोग किये हैं।शिक्षा के प्रति लापरवाही पर भी कलेक्टर महोदय ने सख्ती से कार्रवाई की है। इसके बावजूद बड़ा सवाल सामने है कि जिले में शिक्षा विभाग की लापरवाही के मामले बार बार सामने क्यूँ आ रहे हैं,कहीं न कहीं जिला शिक्षा अधिकारी की पकड़ से सब कुछ बाहर होता नजर आ रहा है। जिसके कारण स्कूलों की बदहाली सामने है वहीं कई शिक्षक भी अपने कर्तव्य के प्रति लापरवाह बने हुए हैं।



आए दिन अपने कारनामों से सुर्खियों में रहने वाले शिक्षा विभाग के अधिकारियों को यह भी नहीं पता कि कई इलाकों में अब तक बच्चों को न तो किताबें मिल पाई हैं और न ही स्कूल में पढ़ाई शुरु हो पाई है।

ताजा मामला है कांसाबेल विकासखंड के ग्राम तुरंगखार प्राथमिक शाला में पदस्थ शिक्षक अजयदान मिंज का जो शराब के नशे में चूर सोते हुए मिले। वही विद्यार्थी चुपचाप कक्षा में बैठे हुए शिक्षक के उठने का इंतजार करते हुए देखे गए। इस बीच ग्रामीणों ने बच्चों को शिक्षक के साथ खड़ा कर तस्वीरें भी ली, लेकिन शिक्षक को इसकी भनक नहीं लगी शिक्षक के शराब पीने पर ग्रामीणों ने जमकर नाराजगी जताई है।इस स्कूल में 19 बच्चे हैं जिनके लिए दो शिक्षक हैं।एक मातृत्व अवकाश पर हैं तो दूसरे शराब के नशे में मौसम का मजा ले रहे हैं।



जिले में बेहतर शिक्षा के लिए किए जा रहे प्रयासों पर शिक्षा विभाग पलीता लगाता नजर आ रहा है।ऐसे में बड़ा सवाल जिले की बदहाल शिक्षा व्यवस्था के लिए जिम्मेदार कौन ...? अब तक क्यूँ नहीं हुई कार्रवाई...? जिला शिक्षा अधिकारी भी सवालों के घेरे में।

यह भी पढ़ें 

जशपुर जिले में थोक में हुए तबादले,देखिये ट्रांसफर की पहली सूची

स्कुल कैम्पस में सर्पदंश से 2 छात्राओं की मौत,स्कुल की लापरवाही आई सामने

बच्चों ने विधायक से कहा- सर एक बार चल के देखिए हमारे स्कूल की दुर्दशा

स्कूल में दाखिला चाहिए तो लाना होगा "दारु और मुर्गा"

जशपुर शिक्षा विभाग का बड़ा कारनामा

गड़बड़ी : जशपुर शिक्षा विभाग में बड़ा भ्रष्टाचार

स्कूलों में चार गुने दाम पर अग्निशामक यंत्रो की खरीदी

7 साल के सजायाफ्ता शिक्षक का हो गया संविलियन।

Post a Comment

0 Comments