... BIG ब्रेकिंग पत्रवार्ता : बड़ी लापरवाही - आश्रम छात्रावास में पूरी रात रंगरेलियां मनाते पकड़ा गया भृत्य,अनैतिक कार्यों में आश्रम छात्रावास का दुरुपयोग,सरपंच व ग्रामीणों ने मिलकर बनाया पंचनामा,पति ने जब शुरु की खोजबीन तो बिना कपड़ों के भृत्य के साथ ...? सहायक आयुक्त की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में......अधीक्षक व भृत्य की लापरवाही पर अब तक नहीं हुई कार्यवाही।देखिए VIDEO

आपके पास हो कोई खबर तो भेजें 9424187187 पर

BIG ब्रेकिंग पत्रवार्ता : बड़ी लापरवाही - आश्रम छात्रावास में पूरी रात रंगरेलियां मनाते पकड़ा गया भृत्य,अनैतिक कार्यों में आश्रम छात्रावास का दुरुपयोग,सरपंच व ग्रामीणों ने मिलकर बनाया पंचनामा,पति ने जब शुरु की खोजबीन तो बिना कपड़ों के भृत्य के साथ ...? सहायक आयुक्त की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में......अधीक्षक व भृत्य की लापरवाही पर अब तक नहीं हुई कार्यवाही।देखिए VIDEO

 


जशपुर,टीम पत्रवार्ता,06  जून 2022 

BY  योगेश 

जशपुर जिले में इन दिनों शासकीय आश्रम व छात्रावासों की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं।जिले के बगीचा विकासखंड अंतर्गत शासकीय बालक आश्रम गुरम्हाकोना में पूरी रात आश्रम का भृत्य रंगरेलियां मनाता रहा और प्रशासन बेखबर बना रहा। दरअसल पूरा मामला तब सामने आया जब इस आश्रम में पदस्थ पूर्णकालिक स्वीपर को किस गैर महिला के साथ ग्रामीणों ने रंगेहाथों आपत्तिजनक अवस्था में पकड़ लिया।जिसके बाद तालाबंदी की गई और सुबह छात्रावास अधीक्षक,सरपंच व ग्रामीणों ने मिलकर दोनों को आश्रम से बाहर निकाला और सवाल जवाब के बाद पंचनामा तैयार कर अपने शीर्षस्थ अधिकारीयों को अवगत कराते हुए कार्यवाही की मांग की।

देखिये वीडियो 

मामला है बगीचा के गुरम्हाकोना शासकीय बालक आश्रम का जहाँ रविवार को रात में लगभग 9 बजे के आसपास आश्रम का पूर्णकालिक स्वीपर त्रिलोचन यादव पिता नवीं यादव किसी महिला को लेकर आश्रम पंहुचा और उसने वहां नाईट ड्यूटी कर रहे दूसरे भृत्य बुधनाथ से आश्रम का चाभी लिया और अंदर चला गया।ग्रामीणों ने बताया कि आपत्तिजनक अवस्था में दोनों रात भर आश्रम के अंदर साथ में सोते रहे।आश्रम समिति के अध्यक्ष ने भोर में 3  बजे इसकी जानकारी आश्रम के अधीक्षक सुरेश राम को फोन पर इसकी जानकारी दी।  

मामले में तब सब कुछ स्पष्ट हो गया जब आश्रम में त्रिलोचन यादव के साथ पकड़ी गई महिला का पति भी मौके पर पंहुच गया और उसने सब कुछ अपनी आखों से देखा।दरअसल महिला बगीचा बाजार आई हुई थी और बस छूट जाने की बात कहकर ऑटो में घर जाने की बात अपने पति को बताई थी।जब महिला घर नहीं पंहुची तो पति ने भी खोजबीन शुरु कर दी थी और उसे शक था कि महिला गुरम्हाकोना आश्रम गई होगी।पति जगरनाथ जब आश्रम पंहुचा तो उसने त्रिलोचन यादव और महिला को बिना कपड़ों के आपत्तिजनक अवस्था में देख लिया।

सुबह आश्रम अधीक्षक ने सरपंच व अन्य ग्रामीणों को बुलाकर दोनों को आश्रम से बाहर निकाला और पंचनामा करते हुए शीर्षस्थ अधिकारीयों को इसकी जानकारी दी।फिलहाल मामले में आश्रम अधीक्षक ने अपना बचाव करते हुए भृत्य के निलंबन की मांग की है।हांलाकि आश्रम में किसी भी प्रकार की घटना के लिए आश्रम अधीक्षक की पूर्ण जिम्मेदारी बनती है वहीँ ऐसे गैर जिम्मेदार पूर्णकालिक स्वीपर के कृत्य से कहीं न कहीं आश्रम की सुरक्षा व्यवस्था सवालों के घेरे में हैं।आश्रम छात्रावासों में फिलहाल छात्र नहीं हैं इसके बाद भी आश्रमों में इस प्रकार का अनैतिक कृत्य पूरे  सिस्टम पर सवालिया निशान खड़े करता है।

एक ओर जहाँ जिले का सहायक आयुक्त कार्यालय अपने भ्रष्टाचार को लेकर हमेशा सुर्ख़ियों में बना रहता है वहीँ आश्रम छात्रावास के कर्मचारी द्वारा आश्रम के अंदर इस प्रकार का अनैतिक कृत्य किया जाना सहायक आयुक्त की लापरवाही को उजागर करता नजर आ रहा है।जरुरत है अधिकारियों को एसी बंद कमरों से निकलकर फील्ड में उतरने की जिससे आश्रम छात्रावासों का दुरूपयोग न हो और बच्चों को बेहतर माहौल के साथ अच्छी शिक्षा मिल सके। 

मामले में जिम्मेदार बड़े अधिकारी सहायक आयुक्त बीके राजपूत से बात करने पर उन्होंने दोषी भृत्य की सेवा समाप्ति के साथ एफआईआर दर्ज कराने की बात कही।

फिलहाल आश्रम अधीक्षक व  सरपंच ने मिलकर पंचनामा तैयार किया है और कार्यवाही की बात कर रहे हैं।अब देखना होगा कि उक्त मामले पर जिला प्रशासन दोषियों पर क्या कार्यवाही करती है।

"शासकीय आश्रमों में इस प्रकार की घटना बेहद गंभीर है,मामले में अधीक्षक से जानकारी लेकर कार्यवाही की जाएगी।"

अविनाश चौहान,तहसीलदार,बगीचा

Post a Comment

0 Comments