... BIG ब्रेकिंग पत्रवार्ता : "दिखा प्रकृति का रौद्र रुप" जशपुर के "छिछली पाठ" में लगभग "5 एकड़ भूमि पर भूस्खलन",कृषक की 2 एकड़ जमीन समेत फसल हुई बरबाद,SDM जनपद सीईओ समेत प्रशासनिक अमला पंहुचा मौके पर,आसपास के इलाकों में जारी किया अलर्ट,लगातार 2 दिनों से जारी है भू स्खलन ....

आपके पास हो कोई खबर तो भेजें 9424187187 पर

BIG ब्रेकिंग पत्रवार्ता : "दिखा प्रकृति का रौद्र रुप" जशपुर के "छिछली पाठ" में लगभग "5 एकड़ भूमि पर भूस्खलन",कृषक की 2 एकड़ जमीन समेत फसल हुई बरबाद,SDM जनपद सीईओ समेत प्रशासनिक अमला पंहुचा मौके पर,आसपास के इलाकों में जारी किया अलर्ट,लगातार 2 दिनों से जारी है भू स्खलन ....

 


जशपुर,टीम पत्रवार्ता,12 अक्टूबर 2021

BY योगेश थवाईत 

जशपुर जिले के बगीचा जनपद पंचायत अंतर्गत छिछली गाँव में भूस्खलन की खबर है जहाँ लगभग 5 एकड़ की भूमि में मिटटी 10 से 20 फीट तक धंस गई है।लगभग 2 एकड़ किसान की निजी जमीन है जिसमें उसने धान की खेती की थी।यह फसल पुरी तरह से बरबाद हो गई है।ग्रामीणों की सुचना पर बगीचा एसडीएम आकांक्षा त्रिपाठी व जनपद सीईओ विनोद सिंह मौके पर पंहुचे और उन्होंने प्रभावित क्षेत्र का जायजा लिया

उल्लेखनीय है कि बगीचा के पाठ इलाके में लगभग 4 साल पहले रौनी घाट में भी भू स्खलन की घटना सामने आई थी।इस बार पाठ में छिछली से खुडियारानी मार्ग में जंगल राम की जमीन से लगे क्षेत्र में भूस्खलन की घटना सामने आई है।बताया जा रहा है की इस क्षेत्र को स्थानीय लोग धसका के नाम से जानते हैं जहाँ पहले भी ऐसी घटना हुई है जो इतनी बड़ी नहीं थी।यह डोडकी नदी का तटीय क्षेत्र बताया जा रहा है जहाँ यह घटना हुई है।

ग्रामीण बता रहे हैं कि छोटे क्षेत्र में मिटटी के धसकने की शुरुआत हुई जिसके बाद पिछले तीन दिनों में लगभग 5 एकड़ जमीन भूस्खलन से प्रभावित हो गई है।बताया जा रहा है कि पिछले तीन चार दिनों से लगातार भूस्खलन हो रहा है।जिससे आसपास के ग्रामीण भी डरे हुए हैं।

बगीचा एसडीएम सुश्री आकांक्षा त्रिपाठी ने मौके का दौरा किया और पटवारी को तत्काल मुआवजा प्रकरण बनाने के निर्देश जारी किए हैं।ग्राम पंचायत के सचिव,पटवारी को निर्देशित किया गया है कि मामले पर नजर बनाएं रखें वहीँ लगातार रिपोर्टिंग करते रहे।एहतियातन प्रशासन ने ग्रामीणों को अलर्ट करते हुए प्रभावित क्षेत्र की ओर जाने से मना किया है

एसडीएम सुश्री आकांक्षा त्रिपाठी ने बताया कि भूस्खलन से लगभग 5 एकड़ की भूमि प्रभावित हुई  है।लगभग 2 एकड़ भूमि निजी कृषक की है जिसका फसल मुआवजा प्रकरण तैयार कराया जा रहा है।सुरक्षा की दृष्टि से पंचायत व राजस्व अमले को लगातार निरीक्षण का निर्देश दिया गया है।ग्रामीणों को प्रभावित क्षेत्र में जाने से मना किया गया है

Post a Comment

0 Comments