... छत्तीसगढ़ कांग्रेस में टिकट की सौदेबाजी का सच...? फिरोज और पप्पू फ़रिश्ता ने क्यों किया स्टिंग..?

छत्तीसगढ़ कांग्रेस में टिकट की सौदेबाजी का सच...? फिरोज और पप्पू फ़रिश्ता ने क्यों किया स्टिंग..?



रायपुर(पत्रवार्ता.कॉम) प्रदेश कांग्रेस में सीट फिक्सिंग को लेकर हुए स्टिंग आपरेशन का पूरा सच सामने आ गया है दरअसल कांग्रेस के बड़े नेताओ को बेनकाब करने के लिए इस विडियो को बनाये जाने की खबर है 

दरअसल फिरोज सिद्दीकी और पप्पू फ़रिश्ता ने मिलकर इस स्टिंग आपरेशन को अंजाम दिया है जिसकी पूरी डिटेल सोशल मिडिया पर वायरल की गयी है 

वायरल मैसेज के कुछ सवाल जवाब और वीडियो में हुई बातचीत जिससे पूरा मामला आप समझ जाएँगे 

इस स्टिंग का उद्देश्य क्या है??

राजनीतिक अपराध को समाप्त करना इस स्टिंग ऑपरेशन के मकसद था। हमारे सूत्रों से जानकारी मिली थी कि कांग्रेस में टिकट के बदले जमकर सौदेबाजी चल रही है जिसके बाद मैने कांग्रेस में चल रहे इस खेल का पर्दाफाश करने का फैसला किया ।

इस स्टिंग में पप्पू फरिश्ता आपका सहयोगी था या शामिल था ।

पप्पू फरिश्ता मेरे इस स्टिंग ऑपरेशन में सहयोगी थे। वे भी स्टिंग ऑपरेशन का एक हिस्सा थे। उन्होंने इस पूरे स्टिंग में मध्यस्थता की भूमिका निभाई है। राजनीतिक अपराध को पर्दाफाश करने में पप्पू फरिश्ता का भी मकसद था इसलिए हम दोनों ने मिलकर कांग्रेस में चल रहे इस खेल को बेनकाब करने का योजना बनाई और इस स्टिंग ऑपरेशन को अंजाम दिया ।


इस स्टिंग ऑपरेशन में किन्ही पुनिया का जिक्र है ।क्या ये कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी पी एल पुनिया ही है। स्टिंग में उनके सीडी का जिक्र है। ये सी डी किस तरह की है।या काल्पनिक है।

जी हां सीडी में जिक्र छत्तीसगढ़ कांग्रेस ले प्रभारी पी एल पुनिया का ही है। और जिन सीडी की बात हों रही है सभी हैं कोई बात इस स्टिंग में काल्पनिक नही है।


आपको ये क्यो लगा कि जब पूनिया की सीडी के बदले भूपेश आपको सीट दे देंगे ?

मुझे ऐसा इसलिए लगा क्योंकि मेरे पास कांग्रेस के अंदरूनी हालात और नेताओं के बेच चल रही गुटबाजी को लेकर जो सूचना थी उसके मुताबिक पी एल पुनिया और भूपेश के बीच टिकट वितरण और अन्य मामलों को लेकर तकरार चल रही है। और कांग्रेस में cm पद के लिए दावेदारों को वे निपटना भी चाहते है । इसलिए मुझे पूरा विश्वास था कि भूपेश सीटों के सौदेबाजी के लिए तैयार हो जाएंगे।


क्या इस स्टिंग को आपने बीजेपी और सरकार के इशारे पर किया है या उनके कहने पर इसका खुलासा किया है ? 

ऐसा कुछ नही है कि मैंने इस स्टिंग को बीजेपी के इशारे पर किया है ।।वो बात और है कि किसी भी पार्टी के गलत कामों के उजागर होने के बाद उसका फायदा दूसरे दल को ही मिलता है। लेकिन बीजेपी की इस स्टिंग में कोइ भूमिका नही है । बीजेपी के नेताओ का भी मैने स्टिंग करने की कोशिश की थी लेकिन अभी तक बीजेपी के किसी नेता का इस तरह के कामों गया सौदेबाज में नाम  सामने नही आया है।

पुनिया को लेकर भी कोई खुलासा करेंगे क्या ?

जब होगा खुलासा तो सबको पता भी चलेगा और
जानकारी भी मिलेगी।

ये सीडी असली ही है इसे कैसे कहा जा सकता है ।क्योंकि इससे पहले एक नकली सीडी भी आ चुकी है?

ये स्टिंग मेरे (फिरोज सिद्दीकी) द्वारा किया गया है ।ये पूरी तरह से असली सीडी है ।इसमें किसी तरह की कोई कांट छाट नही की गई है है। ये मेरा दावा है कि ये सीडी असली है इसकी किसी भी तरह की कोई भी जांच करा सकता है।

कांग्रेस कह रही है कि ये बीजपी का षड्यंत्र है।

ये उनका बचकाना बयान है। भूपेश इस स्टिंग में जो कह रहे है वो क्या बीजेपी ने उनसे बुलवाया है। एक प्रदेश अध्यक्ष छत्तीसगढ़ के अपनी हिनपर्टी के प्रभारी की सीडी को चाह रहा है और उसके बदले में दो सीटें देने के लिए तैयार है। खुद अपने जुबान से सीट और प्रत्याशियों के नाम ले रहे है अब इसमें बीजेपी की क्या साजिश होगी ।।ये तो बचाव का पारंपरिक तरीके है कि जब आपके गलत काम उजागर हो जाये तो विपक्षी दल पर आरोप लगा दीजिये ।


इस स्टिंग के बाद आप किस तरह की कार्यवाही की कांग्रेस से उम्मीद करते है।

इस स्टिंग से उनके नेताओ के गलत काम और चेहरा सबके और कांग्रेस के सामने है।  इसमें अब कांग्रेस को तय करना है कि उनके नेता द्वारा किया गया काम जो इस स्टिंग में दिख रहा है वो गलत है या नही।ये उनका अंदरूनी मामला है। की वो इस मामले में क्या कार्यवाही करती है ।लेकिन मेरी निजी राय है कि ऐसे नेताओं को पार्टी से बाहर कर देना चाहिए क्योंकि ऐसे नेताओं के हाथ के छत्तीसगढ़ का भविष्य सुरक्षित नही है ।


 सीडी में कांग्रेस के कई नेताओं का नाम लिया है आपने। क्या इनकी कोई सीडी है या कोई खास  वजह है ?

सीडी में मैंने ताम्रध्वज साहू और टी एस सिंहदेव का नाम भी लिया था।उसमें मामला ये था कि भूपेश इन दोनों नेताओं को मुख्यमंत्री की कुर्सी के नजदीक मानते है या अपना कंपटीटर मानते है ।तब हमने इस स्टिंग में प्रस्ताव दिया कि हम इन दोनों नेताओं का भी स्टिंग करते है ताकि आपके लीये मुख्यमंत्री की कुर्सी सुरक्षित हो जाये । और इसके जवाब में उन्होंने सर हिलाकर अपनी सहमति दे दी।

इस स्टिंग में सबसे खास बात क्या है जो आपको लगा। 

इस स्टिंग में सबसे खास बात ये थी कि भूपेश अपनी पद बाकी गरिमा से बाहर जाकर जहां अश्लील बातें हो रही थी जन्होने कही रोकने की कोशिश नही की । पूरे स्टिंग में भुपेश ने कही भी नही कहा ये गलत है, हमारे नेताओं के साथ ऐसा नही होना चाहिए ,सीटे नही दी जा सकती ,क्यों आपको सीटे दें, हमारे नेताओं को निपटाने के लिए बीजेपी का षड्यंत्र है, या किसी तरह से कोई इनकार जैसी कोई भी बात भूपेश इस स्टिंग में नही कर रहे हैं । मुझे ऐसा लगता है कि भूपेश सीडी के माध्यम से अपने नेताओं को निपटाना चाहते है और राजनीति करना चाहते है।










==============================

Post a comment

0 Comments