... ब्रेकिंग पत्रवार्ता जशपुर : मुआवजे की मांग को लेकर अड़े ग्रामीणों ने एनएच 43 से जाम हटाया,कलेक्टर डॉ रवि मित्तल ने प्रकट की शोक संवेदना,कहा प्रशासन सदैव पीड़ित परिवार के साथ ,स्थानीय प्रशासन की समझाईश पर खुला जाम,नहीं पंहुचे विधायक रामपुकार,आरती सिंह ने मोर्चा सम्हाला।

Breaking News

BREAKING जशपुर जशपुर -तेज रफ्तार बोलेरो ने स्कूली छात्र को मारी टक्कर,एनएच 43 पर हुआ हादसा,गम्हरिया की घटना,एनएच ने नहीं लगाया है नोटिस बोर्ड।जशपुर - गंजियाडीह धान खरीदी केंद्र में टोकन काटने को को लेकर डीडीसी नवीना पैंकरा पर लगे धमकाकर टोकन काटने के आरोप

आपके पास हो कोई खबर तो भेजें 9424187187 पर

ब्रेकिंग पत्रवार्ता जशपुर : मुआवजे की मांग को लेकर अड़े ग्रामीणों ने एनएच 43 से जाम हटाया,कलेक्टर डॉ रवि मित्तल ने प्रकट की शोक संवेदना,कहा प्रशासन सदैव पीड़ित परिवार के साथ ,स्थानीय प्रशासन की समझाईश पर खुला जाम,नहीं पंहुचे विधायक रामपुकार,आरती सिंह ने मोर्चा सम्हाला।

 


जशपुर,टीम पत्रवार्ता,11 अक्टूबर 2022 

BY  योगेश थवाईत 

ट्रक से कुचलकर मितानिन की मौत के बाद पत्थलगांव में एनएच 43 पर ग्रामीणों  ने 5 घंटों तक चक्का जाम करते हुए शासन प्रशासन से पचास लाख के मुआवजे की मांग की थी। ग्रामीणों की मांग थी कि सरकार से मृतक के परिवार को पचास लाख का मुआवजा मिले।जर्जर खराब सड़क को तत्काल बनवाया जाए। इसके साथ ही स्थानीय विधायक मौके पर आकर मुआवजे की घोषणा करें। 

हांलाकि स्थानीय विधायक रामपुकार सिंह घटनास्थल पर नहीं पंहुचे और उनकी बेटी जिला पंचायत सदस्य  आरती  सिंह  ने मोर्चा सम्हालते हुए ग्रामीणों को समझाने का काफी प्रयास किया।ग्रामीणों ने उनकी एक नहीं सुनी और अपनी मांग पर अड़े रहे। 

ग्रामीणों का साफ़ तौर पर कहना था कि पिछले बार हुए घटना में मृतक गौरव अग्रवाल के परिवार वालों को पत्थलगांव विधायक रामपुकार सिंह ने पचास लाख का मुआवजा दिलवाया था। इसी जगह पर वह सड़क हादसा हुआ था। आज फिर से उसी जगह के आसपास ट्रक से कुचलकर मितानिन महिला की मौत हो गई है।मृतिका के दो बच्चे हैं उनका लालन पालन कैसे होगा यह एक बड़ी समस्या है। 

मृतिका गोंड समाज से थी वहीँ विधायक रामपुकार सिंह भी गोंड समाज का प्रतिनिधित्व करते हुए लगातार पत्थलगांव विधानसभा में विजयी होते आ रहे हैं। लिहाजा समाज प्रमुखों की मांग यही थी कि जिस प्रकार पूर्व में विधायक रामपुकार सिंह ने गौरव अग्रवाल के परिजनों को पचास लाख का मुआवजा सरकार से दिलवाया था उसी प्रकार मृतिका भूमिजा सिदार के परिवार वालों को भी पचास लाख का मुआवजा विधायक दिलवाएं।
  

हांलाकि ग्रामीणों की मांग पूरी नहीं हुई इसके बाद कुछ घंटो के अंतराल में पुनः आरती सिंह मौके पर पंहुची। उन्होंने कोर्ट क्लैम्प व  बच्चों को नौकरी दिलवाने की बात कही जिसके बाद स्थानीय एसडीएम व पुलिस प्रशासन की समझाईश के बाद एनएच का जाम खुलवाया गया।

एसडीएम आरएस  लाल ने बताया कि स्थानीय प्रशासन ने मौके पर जाकर प्रभावित परिवारों को हर संभव सहायता करने का भरोसा दिलाया है और जिला प्रशासन ने 25 हजार रुपए की आर्थिक अनुदान सहायता राशि परिवार को सौंपी गई है।प्रभावित परिवारों ने स्थानीय प्रशासन की समझाइश पर चक्का जाम ख़त्म कर दिया है। कलेक्टर डॉ  रवि मित्तल ने कहा कि जिला प्रशासन इस दुःख की इस घड़ी में प्रभावित परिवार के साथ खड़ी  है।दोनों बच्चों के शिक्षा दीक्षा और परवरिश के लिए जिला प्रशासन  हर संभव प्रयास करेगी।
 

Post a Comment

0 Comments

जशपुर की आदिवासी बेटी को मिला Miss India का ख़िताब