... आन्दोलन : जिला चिकित्सालय में हुए कथित भ्रष्टाचार के विरोध में "जनजातीय सुरक्षा मंच" करेगी धरना प्रदर्शन,कलेक्टर से मांगी "धरना प्रदर्शन " की अनुमति,जाँच टीम द्वारा रिपोर्ट न सौंपे जाने से जताई जा रही लीपापोती की आशंका.....?

आन्दोलन : जिला चिकित्सालय में हुए कथित भ्रष्टाचार के विरोध में "जनजातीय सुरक्षा मंच" करेगी धरना प्रदर्शन,कलेक्टर से मांगी "धरना प्रदर्शन " की अनुमति,जाँच टीम द्वारा रिपोर्ट न सौंपे जाने से जताई जा रही लीपापोती की आशंका.....?

जशपुर,टीम पत्रवार्ता,08 जून 2021

जिले के राजा देवशरण जिला चिकित्सालय में हुए कथित भ्रष्टाचार की जाँच में लेटलतीफी व मामले में लीपापोती की आशंका व्यक्त करते हुए अखिल भारतीय जनजाति सुरक्षा मंच ने धरना प्रदर्शन की चेतवानी जिला प्रशासन को दी है।लिखित आवेदन देकर जनजातीय सुरक्षा मंच ने जिला कलेक्टर से क्रमिक धरना प्रदर्शन की अनुमति मांगी है 

उल्लेखनीय है कि जशपुर में पिछले 10 दिनों से जिला चिकित्सालय में बिना नियमों के करोड़ों की खरीदी और भुगतान का मामला गरमाया हुआ है।लगभग 1 हफ्ते की जाँच के बाद भी कलेक्टर को जाँच टीम ने रिपोर्ट नहीं सौपी है जिसके कारण मामले में लीपापोती के कयास लगे जा रहे हैं।

अखिल भारतीय जनजातीय सुरक्षा मंच के जिला अध्यक्ष नयु राम भगत ने जशपुर जिला कलेक्टर को धरना प्रदर्शन के लिए आवेदन दिया है जिसमें उल्लेख है कि जशपुर जिले की जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करते हुए करोड़ों का भ्रष्टाचार किया गया है जिस पर मंच के द्वारा लगातार सवाल उठाए जा रहे हैं।जाँच के इतने दिन बीत जाने के बाद भी सम्बंधित के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई है।जिसको लेकर नागरिकों में रोष व्याप्त है।


उक्त मामले में अखिल भारतीय जनजातीय सुरक्षा मंच के राष्ट्रीय संयोजक गणेश राम भगत के नेतृत्व में तत्काल कार्यवाही की मांग को लेकर रणजीता स्टेडियम के सामने 15 जून से धरना प्रदर्शन किये जाने की बात का उल्लेख किया गया है।

वहीँ मामले में जिला कलेक्टर महादेव कावरे ने पत्रवार्ता को बताया कि जिले में धारा 144 लगी हुई है जिसमें धरना जुलुस सभी प्रतिबंधित हैं।अब देखना होगा कि अनुमति नहीं मिलने पर जनजातीय सुरक्षा मंच का अगला कदम क्या होगा ..?

Post a Comment

0 Comments