... बीजेपी का सूपड़ा साफ़ करने के लिए NH 43 की बदहाली ही काफी -सोशल मिडिया,जशपुर से सरगुजा तक होगा बड़ा परिवर्तन .?

बीजेपी का सूपड़ा साफ़ करने के लिए NH 43 की बदहाली ही काफी -सोशल मिडिया,जशपुर से सरगुजा तक होगा बड़ा परिवर्तन .?

अब क्या वाकई लालबत्ती वालों को  ध्यान देना होगा। ..?

जशपुर(पत्रवार्ता.कॉम) इन दिनों सोशल मिडिया पर NH 43 की बदहाली को लेकर खूब मखौल उड़ाया जा  रहा है।गौरतलब है  कि अंबिकापुर से बतौली ,सीतापुर,पत्थलगांव के रास्ते जशपुर तक कटनी गुमला राष्ट्रीय  राजमार्ग  की स्थिति बद  से बद्द्तर हो चुकी है। बावजूद इसके एनएच के ठेकेदारों को शासन प्रसाशन का वरद हस्त प्राप्त है जिसके कारण अब तक सड़क निर्माण का कार्य उस गति से शुरू नहीं हो पाया है जैसा होना चाहिए था। 

अब बात करें सोशल मिडिया की तो  परेशानी तो वाकई है जिससे आप हम भी वाकिफ हैं ।बीते दिनों ही पत्थलगांव इलाके में एनएच पर धान का "रोपा" लगाकर सरकार को सड़क की दुर्दशा दिखाने का प्रयास किया जा चूका है। 

आप सोशल मिडिया का वार देखकर दंग रह जायेंगे जी हाँ यहाँ तो  सड़क की दुर्दशा के कारण सोशल मिडिया पर बीजेपी का सफाया तक  होने की बात कही जा रही है।फेसबुक पर नासिर अली ने पोस्ट किया है 


 इतना ही नहीं इस पोस्ट पर लोगों ने अपने विचार भी रखे हैं और व्यंग्यात्मक कमेंट भी। ..देखिये किसने क्या कहा। .......

Sandeep Kushtarpan Pure Pradesh s hatana hai kamal phool ko Bhaiya.....

Alok Rai सही बोले ,NH के लिए अलॉटमेंट केंद्र की सरकार देती है 10 साल मनमोहन सिंह जी की यानी आपकी सरकार ने पैसा ही नही दिया क्योंकि सरगुजा और जशपुर से bjp का सांसद था , 4 साल में 43 के लिए कितना पैसा मिल ओ सबको पता है और काम भी शुरू है ये बात आप को नही लिखना था क्योंकि कॉंग्रेस मे पूरे जिले में आप जैसा विद्वान शायद नही है जो आंकड़ो को जनता है

Prakash Mishra सही पकड़े है

Santosh Choudhary आपकी सोच गलत है कीचड़ में ही कमल खिलता है। और कीचड़ बढ़ेगा तभी तो कमल खिलेगा ।

Thakur Purusottam Singh जनता को यह मालुम है कि भाजपा के शासन मे रोड़ के लिए पैसा मिला और काम चालू है और रोड़ बनेगा ही ये हमारे लिए काफी है

Deepak Heda गलतफहमी पल लिए है आप ।जब 1400 सौ करोड़ की रोड बन जायेगी आपको भी आराम मिल जायेगा। थोड़ा सब्र रखिये महोदय जी समय तो लगेगा। तात्कालिक समस्या है। समाधान निकल रहे हैं



अब देखना दिलचस्प होगा कि  एनएच 43  की दुर्दशा ठीक होती है या जशपुर से लेकर सरगुजा तक बीजेपी  का सूपड़ा साफ़  होता है।  






Post a comment

0 Comments