Recents in Beach


प्रदेश की सियासत में तांत्रिक का दखल, तांत्रिक सम्राट ने मांगा राज्यमंत्री का दर्जा, कहा तांत्रिक यज्ञ से होगा नक्सलवाद का खात्मा।

बिलासपुर(पत्रवार्ता.कॉम) इन दिनों हर कोई सियासत की सरपरस्ती का लाभ लेने की जोर जुगत में लगा हुआ है।मध्यप्रदेश की तर्ज पर अब छत्तीसगढ़ में भी एक तांत्रिक सम्राट ने राज्यमंत्री का दर्जा मांगा है जिससे उन्होंने प्रदेश में नक्सलवाद के खात्मे की बात कही है।


"जब राजतंत्र दिशा विहीन हो जाता है तब उसे दिशा देने का काम धर्मतंत्र करता है।बिलासपुर निवासी तंत्र शास्त्र के ज्ञाता जेपी दुबे ने प्रदेश सरकार को नक्सलवाद के खात्मे के लिए तंत्रमार्ग का रास्ता सुझाया है।उन्होंने इसके लिए राज्यमंत्री का दर्जा दिए जाने की बात कही है।"

उन्होंने बताया कि उनके 50 हजार से अधिक अनुयायी हैं।वहीं उनके द्वारा नक्सलवाद के खात्मे का दावा भी किया जा रहा है।जिसके लिए वन बंजारिन यज्ञ किये जाने की बात कही है।

कैसे होगा नक्सलवाद का खात्मा..?
तांत्रिक जेपी दुबे ने पत्रवार्ता डॉट कॉम से चर्चा करते हुए बताया कि नक्सलवादी राक्षस हैं और वन बंजारिन देवी जंगल के राक्षसों का विनाश करने में सक्षम है।उन्होंने बस्तर के जंगलों में वन बंजारिन यज्ञ कराए जाने की बात कही।जिससे पूरे प्रदेश में नक्सलवाद का खात्मा होगा।उनके दावे को सफल करने के लिए उन्हें राज्य शासन का सहयोग चाहिए।


सच साबित हुए सारे दावे 
प्रदेश का सियासी समीकरण हो या बॉलीवुड की समस्या,मोदी का पद या अटल का ताज हर मामले में सटीक भविष्यवाणी देने वाले तंत्र विशेषज्ञ श्री दुबे ने बताया कि उनके द्वारा रमन सिंह,अजीत जोगी,शिवराज, उमा भारती के मुख्यमंत्री बनने की घोषणा की गई थी जो सच साबित हो चुकी है।

उन्होंने बताया कि यज्ञ हवन पूजन के साथ लाखों लोग उन्हें धर्मगुरु के रूप में मानते हैं व्यापारी,कर्मचारी,जनप्रतिनिधि,किसान समेत हर वर्ग के लोग उनका अनुसरण करते हैं।राज्यमंत्री के दर्जे के लिए उन्होंने अपने को योग्य बताया।इससे उन्हें बल मिलेगा और चौगुने कार्यक्षमता के साथ प्रदेशवासियों के हित मे कई असाधारण कार्य कर सकेंगे।

मध्यप्रदेश के बाबाओं को बताया ढोंगी।
उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश के शिवराज सरकार में जिन 5 बाबाओं को राज्यमंत्री का दर्जा दिया गया है उनकी अवकात मेरे सामने खड़े होने की नहीं है। वे सभी बाबा केवल राजनैतिक व्यक्ति हैं इस पद के योग्य नहीं हैं।मैंने मुम्बई बोर्ड से ज्योतिष आचार्य व तंत्र शास्त्र में शोध किया है।इस दिशा में 27 वर्षो का अनुभव है।जिससे लाखों व्यक्ति लाभान्वित हो रहे हैं।

"अब देखने वाली बात यह होगी कि मध्यप्रदेश की तर्ज पर छत्तीसगढ़ सरकार श्री दुबे को राज्यमंत्री का दर्जा देकर राजतंत्र पर धर्मतंत्र को तरजीह देती है या नहीं।"

"मेरे 27 वर्षों के अनुभव व लाखों अनुयायियों के साथ राज्यमंत्री के दर्जे के लिए मैंने सीएम रमन सिंह को पत्र प्रतिवेदन भेजा है।प्रदेश के राजतंत्र में धर्मतंत्र के समावेश से निश्चित ही विलक्षण परिवर्तन होगा साथ ही नक्सलवाद का खात्मा होगा।"

तांत्रिक जेपी दुबे,बिलासपुर।
=============================
चलते चलते तांत्रिक जेपी दुबे से पत्रवार्ता डॉट कॉम के सवाल।

सवाल। आप तांत्रिक हैं आपको पद प्रतिष्ठा की क्या जरूरत..?प्रदेश के लिए आप निःस्वार्थ कार्य भी कर सकते हैं फिर राज्यमंत्री का दर्जा क्यूँ..?

जवाब।उन्होंने सरल शब्दों में जवाब दिया कि यदि एमपी में फर्जी बाबाओं को दर्जा दिया जा सकता है तो यहां योग्य बाबा को क्यों नहीं।उन्होंने बताया कि 27 वर्षों से वे लोगों की सेवा कर रहे हैं यदि उन्हें पद दिया जाता है तो राजतंत्र के सहारे वे प्रदेश के लिए 4 गुना अधिक कार्य कर सकेंगे।

सवाल।जब आप स्वयं सिद्ध हैं तो आपको किसी से क्या डर..?

जवाब।सिद्धियां,ज्योतिष ज्ञान,तंत्रविद्या परोपकार के लिए होती हैं स्वयं के लिए इसका प्रयोग वर्जित है।आदर्श अस्तित्व के लिए मैं भी कभी इनका प्रयोग अपने लिए नहीं करूंगा।

Post a Comment

0 Comments