... जशपुर में ! ये नहीं देखा तो क्या देखा,जरुर देखिये

जशपुर में ! ये नहीं देखा तो क्या देखा,जरुर देखिये


  • योगेश थवाईत

जशपुर(पत्रवार्ता.कॉम) जी हां मुस्कुराईये आप जशपुर में हैं,आपको जानकर आश्चर्य होगा कि एशिया के सबसे बड़े शिवलिंग के रूप में मधेशर पहाड़ की ख्याति है जिसका उल्लेख स्थानीय किवदंतियों व लोकगीतों में  मिलता है।समुद्र तल से इसकी ऊंचाई लगभग 1500 मीटर है अब इसे देखें कैसे यह सवाल जेहन में उठाना लाजिमी है... तो आपको आना होगा देवबोरा नेचर कैम्प मयाली जी हाँ जशपुर की मयाली यहाँ जिला प्रशासन द्वारा पब्लिक प्राईवेट पार्टनरशीप अंतर्गत उक्त नेचर कैम्प की शुरुआत की गई है जहाँ आप प्रकृति के नैसर्गिक आनंद का लुत्फ़ उठा सकते हैं



जिले के बगीचा से चरईडांड मार्ग पर मयाली देवबोरा में यह स्थित है उक्त नेचर कैम्प की स्थापना वन विभाग जशपुर के द्वारा की गई है,जहाँ प्रकृति के अनुपम सौन्दर्य के साथ मधेश्वर की नैसर्गिक उर्जा को आप अनुभव कर पाएंगे
बच्चो के मनोरंजक झूले

यहाँ स्थित डेम में नौकाविहार,वन भ्रमण,बच्चों के मनोरंजन के लिए झूले,बम्बू रेस्टोरेंट,आवास विश्राम के लिए टेन्टेड हट,लकड़ी के वाच टावर समेत अन्य साधन संसाधन का आनंद आप ले सकते हैं।इतना ही नहीं आपको बिलकुल पारंपरिक व स्थानीय भोजन भी यहाँ मिलेगा जिसके लिए आपको नियत शुल्क देना होगा 

यहाँ आप अपने बच्चों,मित्रों व परिवार के साथ आ सकते हैं जहाँ आपको प्रकृति के नैसर्गिक सौन्दर्य का नजारा देखने को मिलेगा 
वाच टॉवर

पर्यावरण संरक्षण के साथ वनों के प्रति जागरूकता व वैज्ञानिक अध्यन इस केंद्र का प्रमुख उद्देश्य हैइस नेचर कैम्प के सञ्चालन का जिम्मा स्थानीय वन प्रबंधन समिति को दिया गया है जिसमे लगभग 20 सदस्य कार्यरत हैं,समिति द्वारा ही सुरक्षा व् अन्य व्यवस्थाएं सम्हाली जाती हैं
मधेश्वर शिवलिंग का मनोहारी दृश्य


इस नेचर कैम्प की सबसे खास बात यह है की यहाँ आपके रुकने की सारी व्यवस्थाएं हैं जिसके लिए यहाँ 5 टेंट हट उपलब्ध हैं प्रत्येक हट में 6 लोग विश्राम कर सकते हैं वनमंडलाधिकारी पंकज राजपूत ने बताया की जिले में पर्यटन विकास का यह प्रमुख केंद्र है जहाँ प्रथम चरण में उक्त नेचर कैम्प की शुरुआत की गई है वहीँ दुसरे चरण में पर्यटकों के लिए नेचुरल ट्रेल,योग अभ्यास,मेडिटेशन सेंटर,इक्को क्लब की शुरुआत किये जाने की योजना है 
आवास विश्राम के लिए बने हट

अगर आप प्रकृति से सीधे संवाद करना चाहते हैं तो एक बार जरुर पहुचे नेचर कैम्प देवबोरा,यहाँ का शांत वातावरण आपको निश्चित ही आत्मिक शांति व सुकून प्रदान करेगा। आइये वन मंडल जशपुर की इस मुहीम में आप भी शामिल हों.......
नेचर कैम्प देवबोरा में पर्यावरण संरक्षण का सन्देश 


Post a comment

0 Comments