Recents in Beach


विश्व हिन्दू परिषद से अलग हुए तोगड़िया ,17 अप्रैल से अहमदाबाद में आमरण अनशन,संसद में राममंदिर बनाये जाने का कानून बने,कश्मीर में धारा ३७० ख़त्म हो-तोगड़िया


दिल्ली(पत्रवार्ता.कॉम) विश्व हिन्दू परिषद में अंतर्राष्ट्रीयअध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में अपने प्रत्याशी की हार के बाद डॉ प्रवीण तोगड़िया ने सरकार के साथ आर पार का मन बना लिया है उन्होंने संसद में राम मंदिर बनाये जाने के कानून,कश्मीर में धारा 370 हटाने व किसानों को फसल के दुगुने मूल्य सी2 के आधार पर दिलाये जाने की मांग को लेकर 17 अप्रैल से अहमदाबाद में अनिश्चितकालीन आमरण अनशन का ऐलान कर दिया है

उल्लेखनीय है की विश्व हिन्दू परिषद् के माध्यम से तोगड़िया ने 32 वर्षों तक देश के करोड़ों हिन्दुओं का नेतृत्व किया वहीँ अपने साथ हुए व्यवहार के बाद तोगड़िया ने आक्रामक रुख अपना लिया है उन्होंने एक निजी चैनल को दिए अपने वक्तव्य में बताया की देश के करोड़ों युवा व हिन्दुओं का साथ उनको मिल रहा है जिसने उनको  इस निर्णय पर पंहुचाया है।देश में राम मंदिर के निर्माण के लिए संसद में कानून,गो हत्या के विरुद्ध कानून व कामन सिविल कोड,किसानों को कर्ज से मुक्ति समेत अन्य मुद्दों पर सत्ता पक्ष को अपने वादे के अनुरूप कार्य करना था जिसपर कोई ठोस निर्णय नहीं लिया जा रहा है राजनैतिक स्वार्थ की पूर्ति के बाद सत्ता में पूर्ण समर्थन है बावजूद इसके अब तक देश के हिन्दुओ के राम मंदिर का सपना साकार होता नहीं दिख रहा है

डॉ प्रवीण तोगड़िया ने कहा सत्ता के मदमस्तों ने सत्य व धर्म को डुबाया है देश के करोड़ों लोग आक्रोश में मुझसे संपर्क कर रहे हैं,करोड़ो हिन्दुओं की आवाज को दबाने का काम वीएचपी में हुआ है,चाणक्य ने कहा था बड़ा जंग जीतना है तो छोटी हार से गुजरना होता है,बड़ी लड़ाई जीतने के लिए तोगड़िया छोटी हार से गुजर रहा है,मेरा संकल्प रहा है हिंदू ही आगे,मैं विश्व हिन्दू परिषद् में था अब नहीं हूँ फिर भी मैं सौ करोड़ हिन्दुओं,किसानों,युवाओ,मजदूरों,महिलाओं की आवाज को उठाता रहूँगा जिसके लिए मैं 17 अप्रैल से अनिश्चितकालीन उपवास में बैठने जा रहा हूँ जिसके लिए देश के लाखों करोड़ों युवाओ का आह्वान है

Post a Comment

0 Comments