... ब्रेकिंग पत्रवार्ता : "थानेदार" पर लगा यौन प्रताड़ना का आरोप,2 वर्षों में 3 बार पीड़िता का कराया "गर्भपात" DGP से शिकायत, पीड़िता ने की कड़ी कार्रवाई की मांग,अब तक दर्ज नहीं हुई FIR...?

Recents in Beach


ब्रेकिंग पत्रवार्ता : "थानेदार" पर लगा यौन प्रताड़ना का आरोप,2 वर्षों में 3 बार पीड़िता का कराया "गर्भपात" DGP से शिकायत, पीड़िता ने की कड़ी कार्रवाई की मांग,अब तक दर्ज नहीं हुई FIR...?




रायपुर,टीम पत्रवार्ता,17 अक्टूबर 2019

जशपुर जिले के एक थानेदार पर महिला ने यौन प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए डीजीपी से मामले की शिकायत  कर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।पुलिस विभाग के शीर्षस्थ अधिकारी को दिए गए शिकायत आवेदन में पीड़िता ने टीआई पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं

पीड़िता ने अपने आवेदन में बताया है कि थानेदार के द्वारा शादी का झांसा देकर 2 वर्षों तक उसका दैहिक शोषण किया गया।इस बीच तीन बार वह गर्भवती हुई और तीनों बार उसका गर्भपात कराया गया 

मामले में 21 अगस्त को डीजीपी कार्यालय में दिए  गए आवेदन के अनुसार जशपुर जिले में पदस्थ  एक थानेदार से पीड़िता की मुलाकात 2 साल पहले हुई जिसके बाद थानेदार ने उसे विश्वास में लेकर शादी का भरोसा दिलाया और उसके साथ शारीरिक सम्बन्ध स्थापित किया।यह क्रम लगातार चलता रहा।पीड़िता ने बताया कि वह हमेशा कहा करता था कि उसे वह कभी नहीं छोड़ेगा।पति पत्नी की तरह रखने की बात उसके द्वारा कही जाती थी।कुछ दिन बाद पीड़िता को पता चला कि थानेदार शादीशुदा है जिसके बाद पीड़िता ने उसे समझाया कि वह उससे मिलना जुलना बंद कर दे

तब उसने पीड़िता को विश्वास दिलाया कि वह उससे शादी करेगा और उसने यह भी कहा कि वह उसके बिना वह नहीं रह सकता पीड़िता के छोड़ने की बात कहने पर उसने अपनी जान देने की बात कही। यहाँ तक कि पत्थलगाँव के नामी होटल में उन्होंने आत्महत्या करने की भी कोशिश कीजिससे पीड़िता ने उसपर विश्वास कर लिया

डीजीपी को दिए गए शिकायत आवेदन में उल्लेख है कि जब भी उनका मिलने का मन होता था तो पत्थलगाँव के नामी होटल के कर्मचारी ड्राईवर को वे अपनी स्कार्पियो देकर पीड़िता को लेने भेज देते थे।और उसे हमेशा वहां लाया जाता था

होता रहा इमोशनल अत्याचार 
पीड़िता ने अपने आवेदन में बताया है कि वे हमेशा उसे अपनी ख़ुशी और प्यार का हवाला देते थे और प्यार नहीं मिलने पर मरने की बात कहते थे।यह सब देखकर पीड़िता को विश्वास हो गया था कि थानेदार उसे कभी नहीं छोड़ेगा।फोन नहीं उठाने पर पीड़िता के घर तक आने की बात का उल्लेख आवेदन में किया गया है 

पीड़िता ने बताया है कि 26 जुलाई को थानेदार उसे लेने खुद उसके घर गए थे और फिर 29 जुलाई को वापस उसे उसके घर छोड़ दिया।इसके बाद उनका आना जाना बंद हो गया

अब पीड़िता के सामने बड़ी मुसीबत आ गई है उसने बताया कि उसने अपना सबकुछ लुटा दिया है और अब वह उसे अपने साथ रखने से मना कर रहा है।अब थानेदार कहता है कि वह शादीशुदा है,पत्नी है उसे कैसे साथ रख सकता है।उसने पीड़िता को धमकी भी दी है कि वह उसका क्या करेगी ..? वह टीआई है .. है। वह उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकती,उसकी पंहुच बहुत ऊपर तक है

अब पीड़िता के सामने यह समस्या है कि उसके जीवन को बरबाद करके उसे बेसहारा छोड़ दिया गया है ऐसे में वह अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैमामले की गंभीरता को देखते हुए कुछ गोपनीयता बरती गई है,वहीँ इस मामले से सम्बंधित आवेदन व अन्य साक्ष्य सुरक्षित हैं।मामले में थाना प्रभारी का पक्ष लेने का प्रयास किया गया पर उनका फोन स्वीच ऑफ़ आने लगा जिसके कारण उनसे संपर्क नहीं हो पाया

पीड़िता ने अपने साथ हुए छलपूर्वक व्यवहार के साथ उसकी आबरु से खेलने वाले टीआई के विरुद्ध क़ानूनी कार्यवाही की मांग की है।फिलहाल जिला पुलिस मामले की जाँच के बाद कार्रवाई की बात कर रही है।एसपी एसएल बघेल ने बताया कि डीजीपी से मामले की शिकायत हुई है जिसमें जांच कराई जा रही है  


वहीँ डीजीपी ने शिकायत जाँच के लिए जशपुर एसपी को आवेदन भेज दिया है,पुलिस मुख्यालय के अफसरों का कहना है कि जशपुर एसपी टीआई के खिलाफ जांच कार्यवाही के लिए स्वतंत्र हैं 

Post a Comment

0 Comments