मामला DAV MPS :- स्कूल के प्रिंसिपल की शिकायत SDM से। डीएव्ही के प्रिंसिपल ने पूरे मुद्दे पर क्या कहा..?



बगीचा(पत्रवार्ता.कॉम) मुख्यमंत्री डीएव्ही पब्लिक स्कूल बगीचा के प्रिंसिपल पर दो अभिभावकों ने मानसिक प्रताड़ना संबंधी आरोप लगाते हुए एसडीएम से मामले की शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है।

एसडीएम बगीचा को दिए गए शिकायत आवेदन में अभिभावक गौतम शर्मा व आदित्य भगत ने बताया है कि उनके बच्चे डीएव्ही में पढ़ते हैं और वे पान की दुकान व चना बेचकर अपने बच्चों को पढ़ा रहे हैं।कभी कभार बच्चों के द्वारा उनके काम मे सहयोग किया जाता है।इस बात को लेकर स्कूल के प्रिंसिपल द्वारा बच्चों को जलील किये जाने की बात का उल्लेख किया गया है।मानसिक प्रताड़ना से बच्चों ने खाना पीना छोड़ दिया है और बिस्तर में पड़े होने की बात उक्त आवेदन में लिखी गई है।

उक्त मामले पर अभिभावक गौतम शर्मा ने बताया की उनके बच्चे और स्कूल के शिक्षकों द्वारा उन्हें बताया गया कि प्रार्थना के दौरान अन्य स्कूली बच्चों के सामने बच्चों को डांटा गया है जिसके कारण बच्चों की मानसिक स्थिति ठीक नहीं।उन्होंने बताया कि इस विषय पर अब तक उन्होंने विद्यालय प्रबंधन से न तो बात की है न मुलाकात की है।

जब इस मामले पर हमने विद्यालय प्रबंधन से बात की तो प्रिंसिपल एसएन पांडेय ने बताया कि डीएव्ही अपने अनुशासन के लिए पूरे देश मे जाना जाता है।यदि बच्चों को अनुशासन और संस्कारपरक शिक्षा दी जाती है तो इसमें गलत क्या है।

दोनों अभिभावकों द्वारा लगाए गए आरोपों पर उन्होंने कहा कि अभिभावकों को गंभीरता से बच्चों की पढ़ाई व भविष्य की चिंता करनी चाहिए।मानसिक प्रताड़ना जैसी कोई बात नहीं।स्कूल की असेम्बली में हर बच्चे को अनुशासन के लिए बाल कटाने,फूल ड्रेस में आने व अन्य आवश्यक हिदायत दी जाती है।

बच्चे पढ़ाई पर पूरा फोकस रखें इसके लिए अभिभावकों को हमेशा निर्देशित किया जाता है।यदि बच्चों को अभिभावकों को कोई परेशानी है तो विद्यालय प्रबंधन से बात करनी चाहिए।हर प्रकार से अभिभावकों के सुझावों पर विचार किया जाएगा।

Comments

Popular Posts

"जशपुरिया मॉडल दिल्ली में हुई हिट",मॉडल "रेने" का वह गाँव जहाँ से शुरू हुई संघर्ष की कहानी,पत्रवार्ता की टीम पंहुची रेने के घर

BREAKING(पत्रवार्ता)शासकीय महिला कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर,छग में भी लागू होगा चाइल्ड केयर लीव,हाईकोर्ट ने दिया आदेश..

बड़ी खबर : जब उड़नदस्ता टीम ने छात्राओं के उतरवाए कपड़े...? ..और फांसी के फंदे पर झूल गई 10 वीं की छात्रा।