गड़बड़ी:-वाह!सीएमओ साहब,आपने तो कमाल कर दिया।

By प्रदीप ठाकुर

पत्थलगांव(पत्रवार्ता) इन दिनों नगर पंचायत पत्थलगांव में टेंडर प्रक्रिया में गड़बड़ी को लेकर चर्चा का माहौल गरम है।जिसमें छोटे से लेकर बड़े अधिकारियों तक के मिलीभगत की बात कही जा रही है।दिलचस्प बात यह है कि जो टेंडर किसी को कम दर पर मिल चूका था उसे निरस्त कर दुसरे किसी को टेंडर दे दिया गया।

दरअसल नपं पत्थलगांव द्वारा 29 लाख 80 हजार के नगर पंचायत कार्यालय भवन निर्माण के लिए 23 अगस्त को निविदा आवेदन आमंत्रित किया गया था जिसमें 4 लोगों ने आवेदन किया 1 आवेदन अपात्र होने के कारण 3 फर्म ने उक्त ऑनलाईन निविदा में भाग लिया जिसमें सबसे कम दर 16.18 एसओआर से कम बम भोले कंस्ट्रक्शन कम्पनी का था जिसे अयोग्य करार देते हुए अधिकारियों ने इसे निरस्त कर दिया और दुसरे बोलीदार अप्पा कंस्ट्रक्शन को 13.76 एसओआर से कम दर पर कार्य स्वीकृत कर दिया गया।

इस पुरे मामले में नगर पंचायत के अधिकारी व कर्मचारियों की मनमानी स्पष्ट रूप से परिलक्षित होती है जिसमें टेंडर खुलने के बाद पात्र फर्म के खुले निविदा को निरस्त कर दिया गया।इस पुरे मामले में स्थानीय ठेकेदार धीरज उर्फ बंटी सिंह ने टेंडर के दौरान खास ठेकेदारों तक ही प्रक्रिया सीमित रहने का आरोप लगाया है।

      


उन्होंने बताया कि वर्तमान मे जिस दस्तावेज के कारण विभाग के अधिकारी त्रुटी की बात कहते हुए टेंडर निरस्त कर रहे है उसी दस्तावेज के आधार पर उन्होंने इसी विभाग मे दर्जनों निर्माण कार्य का टेंडर लेकर बखुबी अपने कार्य का निर्वहन किया है ऐसे में आज उनके द्वारा लगाए गए शपथ पत्र मे हस्ताक्षर को लेकर जो त्रुटी की बात कही जा रही है वह सरासर अपने चहेते ठेकेदार को लाभ पहुंचाने की मंशा से प्रेरित नजर आ रही है।

उल्लेखनीय है की वर्तमान मे यहां पदस्थ सीएमओ व सब इंजीनियर इससे पुर्व भी कई बार विवादों मे आ चुके हैं उनके द्वारा टेंडर प्रक्रिया को लेकर उच्च अधिकारियों को भ्रमित कर चहेते ठेकेदारों को लाभ पहुंचाया जाता है उन्होने बताया कि अपने साथ हुए अवैधानिक कार्य के विरूद्ध अब वे न्यायालय के शरण मे जाकर न्याय की गुहार लगाएंगे साथ ही इस तरह के कार्यशैली को अंजाम देने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग करेंगे।

उक्त मामले में एसडीएम पत्थलगाँव ने शिकायत प्राप्त होने पर जांच की बात कही है वहीँ अब देखना दिलचस्प होगा कि नगर पंचायत के मनमानी रवैये के खिलाफ स्थानीय ठेकेदार क्या कड़ा कदम उठाते हैं .....?


Comments

Popular Posts

"जशपुरिया मॉडल दिल्ली में हुई हिट",मॉडल "रेने" का वह गाँव जहाँ से शुरू हुई संघर्ष की कहानी,पत्रवार्ता की टीम पंहुची रेने के घर

BREAKING(पत्रवार्ता)शासकीय महिला कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर,छग में भी लागू होगा चाइल्ड केयर लीव,हाईकोर्ट ने दिया आदेश..

बड़ी खबर : जब उड़नदस्ता टीम ने छात्राओं के उतरवाए कपड़े...? ..और फांसी के फंदे पर झूल गई 10 वीं की छात्रा।