Recents in Beach


NH43- खराब सड़क से होकर आप पहुचेंगे मतदान केंद्र, चुनावी प्रचार होगा प्रभावित ,नंद कुमार साय ने अधिकारियों को लगाई फटकार।


By प्रदीप ठाकुर।

पत्थलगांव(पत्रवार्ता.कॉम) जिस जिले की सड़क खराब है निश्चित ही इसके लिए जिला प्रशासन जिम्मेदार है।अजजा आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष नंदकुमार साय ने आज इस मुद्दे पर जिला के अधिकारियों के साथ एनएच के जिम्मेदार अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई।

अब सड़क बनेगी तो वक्त तो लगेगा।अब ये अलग बात है कि पर्याप्त समय के बाद भी स्थिति बद से बद्तर हो गई है।पत्थलगांव प्रवास के दौरान स्थानीय रेस्ट हाउस में पत्रकारों से चर्चा में उन्होंने बताया कि महात्मा गांधी ने जिस तरह डांडी यात्रा की थी उसी तरह मैंने जनता की आवाज और शिकायतों को लेकर एनएच 43 अम्बिकापुर से पत्थलगांव तक सड़क रास्ते से चलकर डांडी यात्रा में निकला हूं।

उन्होंने बताया कि अम्बिकापुर से लेकर पत्थलगांव व जशपुर तक सड़क खस्ताहाल है जिसके लिए उन्होंने दिल्ली से लेकर रायपुर और जशपुर के अधिकारियों को तलब कर उन्हें निर्देश दिया हैं अन्यथा कड़ी कार्रवाई किये जाने की बात भी कही।

आगामी विधानसभा चुनाव ही नहीं बल्कि वर्तमान परिस्थिति में खराब सड़क से हो रही परेशानी को लेकर उन्होंने अधिकारियों के साथ बैठक कर उन्हें कड़े निर्देश दिए।

खराब सड़क से होकर पहुचेंगे मतदान केंद्र।

एनएच के अधिकारियों को अब भी समय चाहिए उसपर भी आगामी 15 नवंबर तक केवल चलने लायक एनएच बनाएंगे।  श्री साय क्षेत्र की बदहाल एन एच को लेकर एन एच अधिकारियों के साथ पत्थलगांव बैठक में पहुंचे थे उन्होंने कहा कि इस सड़क के खराब होने से स्वास्थ्य संबंधी परेशानी के साथ दुर्घटना बढ़ती जा रही है वहीं क्षेत्रवासियों को इसी सड़क से आना जाना होता है।

एनएच अधिकारियों से सवाल किया गया कि जो ठेका कम्पनी फेल हो गयी उसी कम्पनी को फिर से तीन महीने के लिए एक्सटेंशन दे देना कहा तक सही है। अधिकारियों के साथ आयोजित पत्थलगांव में हुवे आयोग की बैठक में यह तय किया गया कि किसी भी तरह आपको सड़क बनाना है दो हफ्ते के अंदर मरम्मत विशेष फंड हेतु प्रस्ताव भेजा जाए आयोग इस हेतु अनुशंसा करेगा। एन एच अधिकारियों ने आयोग के समक्ष 15 नवम्बर तक सुलभ मार्ग निर्मित करने का आश्वाशन दिया।

पत्थलगांव के बड़े घोटालों में कार्यवाही के निर्देश।

श्री साय ने क्षेत्र में आदिवासियों के साथ हो रहे भेदभाव को लेकर कलेक्टर से बात की।उन्होंने कहा कि पूरे देश मे नकली व फर्जी आदिवासियों की भरमार है इस पर अंकुश लगाने हेतु आयोग लगातार कार्य कर रही है। हमारे पास जो शिकायत मिलती है उसपर आयोग छानबीन प्रक्रिया के बाद निर्णय सामने आने पर फर्जी आदिवासियों पर दण्डात्मक कार्यवाही करेगा। श्री साय ने कहा कि नन्दन झरिया में आदिवासी वर्ग की जमीन को फर्जी तौर पर रजिस्ट्री किये जाने एवं आदिवासियों के साथ हुए 25 लाख के गबन मामले पर कड़ी आपत्ति जताते हुवे अधिकारियों को इन मामलों पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए।



साय ने चुनाव लड़ने के सवाल पर पार्टी हाईकमान के निर्देश पर कार्य करने की बात कही,पत्रवार्ता के दौरान पत्रकार सुरेंद्र चेतवानी पर हुए हमले पर भी साय ने नवपदस्थ टीआई श्री ध्रुव को निर्देश देते हुए कार्रवाई किये जाने का निर्देश दिया।

जशपुर जिले से होकर गुजरने वाली कटनी गुमला राष्ट्रीय राज मार्ग की बदहाली का मुददा मीडिया के माध्यम से उठाए जाने के बाद राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग ने इस मामले में संज्ञान लेकर राष्ट्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के चीफ इंजीनियर सहित छत्तीसगढ़ के 2 उच्च पदस्थ अधिकारी और जशपुर कलेक्टर को नोटिस देकर पत्थलगांव बुलाकर बदहाल सड़क को लेकर अधिकारियों द्वारा ठोस पहल नही किये जाने पर कड़ी आपत्ति जताई। 

आज स्थानीय विश्राम गृह में हुए बैठक के बाद श्री साय ने बदहाल सड़क को लेकर राजमार्ग अधिकारियों द्वारा फिर से ढुलमुल जवाब देने पर सभी को लेकर सड़क का मुआयना करने पहुंच गए, यहां सड़क पर खड़े होकर अधिकारियों को श्री साय ने वस्तु स्थिति से अवगत कराया।जिसपर 15  नवंबर तक चलने लायक रोड बनाने की बात अधिकारियों ने कही।

Post a Comment

0 Comments