... "जशपुरिया मॉडल दिल्ली में हुई हिट",मॉडल "रेने" का वह गाँव जहाँ से शुरू हुई संघर्ष की कहानी,पत्रवार्ता की टीम पंहुची रेने के घर

"जशपुरिया मॉडल दिल्ली में हुई हिट",मॉडल "रेने" का वह गाँव जहाँ से शुरू हुई संघर्ष की कहानी,पत्रवार्ता की टीम पंहुची रेने के घर

"रेने" के गांव पिरई से लौटकर "योगेश थवाईत"
जशपुर(पत्रवार्ता.कॉम) जब बात हो बुलंदियों की तो शुरुआत संघर्ष भरी होती है।मॉडलिंग की दुनिया में तहलका मचाने वाली मशहूर मॉडल "रेने" उर्फ़ "रेणु कुजूर" ने विपरीत परिस्थितियों में अपनी अलग पहचान बनाई है।जशपुर के बगीचा जनपद पंचायत के एक छोटे से गांव पिरई से निकलकर "रेने"आज फेमस मॉडल बन चुकी है जिसकी तुलना मशहूर मॉडल "रेहाना" से की जा रही है
पत्रवार्ता डॉट कॉम ने आखिरकार 
"जशपुरिया मॉडल रेने" का घर ढूंढ 
ही लिया।बुलंद हौसलों के साथ रेने ने 
अपने सांवलेपन को ही अपना श्रृंगार 
बनाया और मॉडलिंग की दुनिया में
 गोरेपन का भेद ख़त्म कर ऊँचा 
मुकाम हासिल किया

एक ओर रेने का सपना दूसरी ओर पिता की बीमारी दोनों से संघर्ष करते हुए अंततः रेने ने उस मंजिल को पा ही लिया जिसे वह सपनों में देखा करती थी

सुदूर वनांचल में पहाड़ के किनारे बसे रेने के गांव पिरई पंहुचते ही हमें दिखी "दिल्ली किराना स्टोर" जहाँ रेने की मां फिलिसिता कुजूर उसी दुकान में ग्राहकों को सामान दे रहीं थी और रेने के पिता फिलिदियुस कुजूर उनका हाथ बंटा रहे थे शांत,सरल पर जिंदगी से जूझते हुए बुलंद हौसलों के साथ जीने की चाह उन बूढी आँखों में देखते ही बन रही थी 

"रेने"के पिता फिदिलियुस कुजूर बताते हैं कि वह दिल्ली में स्वास्थ्य मंत्रालय में 22 वर्षों तक कार्यालय अधीक्षक के पद पर कार्यरत थे और रिटायर्मेंट के एक साल पहले उन्हें दिल की गंभीर बीमारी के साथ भयंकर कैंसर रोग ने जकड लिया,ऐसी विपरीत परिस्थिति में उनके तीनों बच्चे अनुरंजन,रेने और रोहित उनका हौसला बने और सफदरगंज अस्पताल में उनका ईलाज कराया

नम आँखों से उन्होंने बताया कि दिल्ली में रहते तो वहां के प्रदुषण भरे वातावरण से वे मर जाते ..दिल्ली में बच्चो की पढाई भी चल रही थी और उन्होंने रिटायर्मेंट भी ले ली थी ..अंततः उन्होंने कड़े फैसले के साथ गाँव की शुद्ध हवा में रहने का निर्णय लिया और बच्चो को छोड़कर अपनी पत्नी के साथ वर्ष 2012 में अपने जशपुर के गृहग्राम पिरई आ गए।यहाँ उनके तीन भाई भी हैं जिनके साथ अपनी 4 एकड़ जमीन पर खेती करके स्वस्थ जीवन बीता रहे हैं

हमारे पंहुचने पर अपनी बेटी "रेने"से फोन करके पहले उन्होंने पूछा कि क्या हुआ मीडिया वाले आये हैं तो
"रेने ने कहा "पापा" 
मैं "फेमस मॉडल" बन गई हूँ,
मुझे बड़े लोगों के फोन आ रहे हैं,
मेरा इंटरव्यू लिया जा रहा है,
मेरा सपना सच हो गया "पापा"

रेने के माता पिता के आँखों से ख़ुशी के आंसू छलक उठे और उन्हें हमारी बताई हुई बातों पर भरोसा हो गया कि "रेने सुपर मॉडल बन गई है "

रेने की मां फिलिसिता ने बताया की रेणु अक्सर स्कूलों में फैंसी ड्रेस प्रतियोगिताओं में भाग लेती थी पर 
"उसके काले होने के कारण वो भी रेणु को कहा 
करती थी बेटा मॉडल की दुनिया गोरे लोगों 
की है यहाँ काले लोगों का कोई मोल नहीं" 

पर रेने के बुलंद हौसलों से उसे वह मुकाम हासिल हो गया जिसे वह पाना चाहती थी ।रेने ने पत्रवार्ता को फोन पर बताया की वह उसके भाई रोहित के साथ दिल्ली में रहती है जहाँ सफलता उसके कदम चूम रही है जशपुर के लोगों का जो प्यार उन्हें मिल रहा है उसके लिए उन्होंने जशपुर के लोगो का धन्यवाद किया है.....
देखें विडियो :-

==============================
यहाँ क्लिक करें 
👇👇👇👇

इंडियन रेहाना के विडियो के लिए यहाँ क्लिक करें 
👇👇👇👇👇👇👇👇

👇👇👇👇




Post a Comment

0 Comments