... आन्दोलन : सांसद गोमती साय ने कांग्रेस सरकार पर साधा निशाना,कवर्धा मामले की न्यायिक जांच की मांग के साथ लगाया आरोप "जिस भी राज्य में कांग्रेस की सरकार रहती है,वहां हिंदूओं के साथ इसी प्रकार का व्यवहार होता है"

आपके पास हो कोई खबर तो भेजें 9424187187 पर

आन्दोलन : सांसद गोमती साय ने कांग्रेस सरकार पर साधा निशाना,कवर्धा मामले की न्यायिक जांच की मांग के साथ लगाया आरोप "जिस भी राज्य में कांग्रेस की सरकार रहती है,वहां हिंदूओं के साथ इसी प्रकार का व्यवहार होता है"

 

जशपुर,टीम पत्रवार्ता,12 अक्टूबर 2021

BY योगेश थवाईत  

कवर्धा जिले में दो समुदायों के बीच हुई झड़प और इसके बाद शासन प्रशासन द्वारा की गई कार्रवाई के विरोध में विश्व हिंदू परिषद ने जशपुर शहर में हिंदू आक्रोश रैली का आयोजन किया। इस आयोजन के लिए जिला और पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के अभूतपूर्व इंतजाम किए थे। आयोजन स्थल के साथ ही शहर से बाहर जाने वाले सभी प्रमुख मार्गों पर बेरिकेट लगा कर,पुलिस बल तैनात कर दिया गया था। पुलिस की पेट्रोलिंग पार्टी शहर में गश्त कर रही थी। 

धरना और रैली के आयोजन से पहले,कलेक्टर रितेश अग्रवाल और एसपी विजय अग्रवाल ने  एहतियातन सुरक्षा इंतजाम का जायजा भी लिया। कवर्धा की घटना से सबक लेते हुए प्रशासन ने बाजार बंद करने की अपील भी व्यवसाईयों से की। हालांकि,मंगलवार को साप्ताहिक बाजार बंदी होने की वजह से अधिकांश दुकानें बंद थी। लेकिन,नगरपालिक की अपील के बावजूद,खुले हुए दुकानदारों ने,व्यवसाय करना जारी रखा। धरना का आयोजन शहर के आदर्श बस स्टेण्ड में किया गया था। इस वजह से आज शहर से बस,रणजीता स्टेडियम से रवाना की गई और दो पहिया व चार पहिया वाहनों को इस ओर आने से रोक दिया गया।

बस स्टेण्ड में आयोजित धरना कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय,सांसद श्रीमती गोमती साय,जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रायमुनि भगत,कार्यक्रम के संयोजक दिलीप कुमार बेसरा,सह संयोजक कृष्ण कुमार राय,नीतिन राय,देवधन नायक सहित विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारी शामिल थे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि कवर्धा में दो समुदायों के बीच जो कुछ भी हुआ,उसके लिए सीधे तौर पर प्रदेश की कांग्रेस सरकार जिम्मेदार है। 

उन्होनें कहा कि कवर्धा की गिनती प्रदेश के सबसे शांत जिले में होती रही है। वहां इस तरह तनाव की स्थिति,प्रदेश में गिरती हुई कानून व्यवस्था को दर्शाती है। उन्होनें कवर्धा के विधायक और प्रदेश के वन मंत्री मोहम्मद अकबर पर निशाना साधते हुए कहा कि घटना के बाद पुलिस प्रशासन ने राजनीतिक दबाव में समुदाय विशेष के विरूद्व कार्रवाई की। लाठीचार्ज के दौरान घरों में घुस कर महिलाओं को पीटा गया। विष्णुदेव साय ने गिरफ्तार किए गए लोगों को निशर्त रिहा करने की मांग करते हुए,पूरे घटना क्रम की न्यायिक जांच कराने की मांग भी अपने संबोधन में किया। 

रायगढ़ की सांसद श्रीमती गोमती साय ने कहा कि हिंदूत्व और भगवा झंडा का अपमान किसी भी कीमत में सहन नहीं किया जा सकता। उन्होनें कहा कि कवर्धा की घटना से पूरे देश की भावना आहत हुई है। उन्होनें कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा जिस भी राज्य में कांग्रेस की सरकार रहती है,वहां हिंदूओं के साथ इसी प्रकार का व्यवहार होता है।
 

जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रायमुनि भगत ने प्रशासन पर आसपास के ग्रामीण अंचल से रैली में शामिल होने के लिए आ रहे लोगों को रोकने का आरोप लगाया। उन्होनें कहा कि सरकार,प्रशासनिक तंत्र का जितना भी दुरूपयोग कर ले,हिंदू समाज जाग उठा है,वह समय आने पर सरकार को जवाब जरूर देगा। 

विश्व हिंदू परिषद के प्रवीण डोलके ने कहा कि हिंदू समाज में शक्ति कोई कमी नहीं है। जरूरत,सिर्फ सोई हुई चेतना को जागृत करने की है। उन्होनें कहा कि सनातन संस्कृति और परम्परा की रक्षा के लिए हर परिवार ने संघर्ष किया है। उस संघर्ष को याद करने की जरूरत है।
 

Post a Comment

0 Comments