... सुनो सरकार : ठगी करोड़ों की,मामला बना 6 लाख का,सैकड़ों पहाड़ी कोरवाओं से ठगी करने वाली आरोपी सुमित्रा नायक करोड़ों लेकर हुई फरार..राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र,महिलाएं नवजात बच्चों के साथ राशन,रसद के साथ बैठ गईं धरने पर,समूहों को कर्ज दिलाकर सैकड़ों महिलाओं से ठगी,बैंक वालों की वसूली से परेशान होकर "सरकार से लगा रहे कर्जमाफी की गुहार"पक्ष विपक्ष के नेताओं पर भी महिलाओं का गुस्सा ....थानेदार ,SDM पंहुचे मौके पर ..SP ने कहा जल्द होगी गिरफ्तारी

आपके पास हो कोई खबर तो भेजें 9424187187 पर

सुनो सरकार : ठगी करोड़ों की,मामला बना 6 लाख का,सैकड़ों पहाड़ी कोरवाओं से ठगी करने वाली आरोपी सुमित्रा नायक करोड़ों लेकर हुई फरार..राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र,महिलाएं नवजात बच्चों के साथ राशन,रसद के साथ बैठ गईं धरने पर,समूहों को कर्ज दिलाकर सैकड़ों महिलाओं से ठगी,बैंक वालों की वसूली से परेशान होकर "सरकार से लगा रहे कर्जमाफी की गुहार"पक्ष विपक्ष के नेताओं पर भी महिलाओं का गुस्सा ....थानेदार ,SDM पंहुचे मौके पर ..SP ने कहा जल्द होगी गिरफ्तारी

 


जशपुर,टीम पत्रवार्ता,26 अक्टूबर 2021

BY योगेश थवाईत 

राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र कहे जाने वाले पहाड़ी कोरवा अब अपने अधिकारों के लिए स्वयं ही मुखर होते नजर आ रहे हैं।हांलाकि इस बार पहाड़ी कोरवा महिलाएं ठगी का शिकार हुई हैं इनके साथ अन्य ग्रामीण महिलाएं भी हैं जिन्हें अच्छा काम व प्रशिक्षण दिलाने के नाम पर लाखों का लोन दिलवाया गया और लोन की राशि मिलते ही आरोपी महिला सुमित्रा नायक पैसे लेकर फरार हो गई।पीड़ित महिलाओं का आरोप है कि ठगी की रकम लाखों में नहीं करोड़ों में हैं और ऐसे ठगी का शिकार होने वाली स्वसहायता समूह की महिलाओं की संख्या सैकड़ो में हैं

जशपुर के रणजीता स्टेडियम में स्वसहायता समूह की महिलाएं अपन नवजात बच्चों के साथ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गई हैं।उनकी बस एक मांग है कि सरकार उनके कर्ज को माफ़ कर दे और आरोपी को जेल भेजे या पैसे की रिकवरी कराए।

दरअसल समूह की महिलाओं को ठगी का एहसास तब हुआ जब उनके पास बैंक से लोन पटाने का नोटिस आने लगा।महिलाओं को समूह के नाम पर लोन मिला था।जिसके बाद आरोपी महिला सुमित्रा नायक के द्वारा समूह की महिलाए से यह कहकर लोन की राशि ले ली गई कि वह महिलाओं को अच्छा काम व प्रशिक्षण दिलाएगी।नं तो प्रशिक्षण हुआ न उन्हें कच्चा माल मिला न ही उनके जीवन स्तर में सुधार हुआ और न ही उनकी लोन की राशि अदा की गई।

देखिए धरना का वीडियो 

अब दैनिक काम धंधा कर जीवन यापन करने वाली महिलाओं के सामने सबसे बड़ी संकट यह है कि वे अपना घर चलाएं या लोन की रकम अदा करें।जशपुर जिले के मनोरा विकासखंड में सबसे ज्यादा आरोपी महिला सक्रिय रही हैं जहाँ सैकड़ों  समूहों से इस प्रकार की ठगी की गई है।

आरोपी महिला

फरार आरोपी महिला सुमित्रा नायक 

सबसे बड़ी बात यह कि अब तक इस मामले में जशपुर पुलिस के हाथ पुरी तरह से खाली हैं और आरोपी महिला फरार है।कुछ लोगों की शिकायत पर लगभग 7 लाख की ठगी का मामला सुमित्रा नायक पर दर्ज किया गया है।वही कलेक्टर,एसपी समेत कोतवाली में दूसरी महिलाओं ने भी शिकायत की है जिसपर अब तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है।इधर एसपी का कहना है कि मामले में तत्परता से कार्यवाही की जा रही है।

अधिवक्ता रामप्रकाश पाण्डेय का कहना है कि मामला बेहद गंभीर है पुलिस व जिला प्रशासन को तत्परता के साथ ग्रामीणों को न्याय दिलाने की दिशा में प्रयास करना चाहिए।

इधर पीड़ित महिलाओं को मनाने की कवायद जारी है,एसडीएम योगेन्द्र श्रीवास,तहसीलदार विकास जिंदल थाना प्रभारी लक्ष्मण ध्रुव मौक पर पंहुचकर बातचीत कर रहे हैं और महिलाओ को न्याय दिलाने का भरोसा दे रहे हैं।

यहाँ हुई प्रशानिक चूक

जिले में सैकड़ों महिलाओं से इतनी बड़ी ठगी होने के बाद भी प्रशासन गंभीर नजर नहीं आया।अब तक कुछ महिलाओं की शिकायत पर मामला जरुर दर्ज हो गया पर जिस गंभीरता से मामले की जाँच होनी थी उसकी शुरुआत अब तक नहीं हुई।जब प्रशासन के संज्ञान में मामला आया तभी इसकी गंभीरता समझकर तत्परता के साथ सभी पीड़ित महिलाओं का बयान लिया जाना था,गाँव में कैम्प लगाकर पतासाजी की जानी थी,सम्बंधित बैंक वालों से सवाल जवाब कर महिलाओं को राहत दिलाना जाना चाहिए था।जब 2 वर्षों से ऐसा गोरखधंधा चल रहा था तो स्थानीय पुलिस व प्रशासन ने इस पर कार्यवाही क्यों नहीं की ..? तमाम ऐसे सवाल हैं जो प्रशासन के सामने हैं।

मामले में जिले के एसपी विजय अग्रवाल ने बताया कि यह बेहद गंभीर मामला है और पुलिस मामला दर्ज होने के बाद से लगातार आरोपी महिला की पतासाजी कर रही है।लगातार टीम भेजी जा रही है।जल्द ही आरोपी महिला की गिरफ्तारी की जाएगी।मामले में जो भी पीड़ित हैं सभी का बयान लिया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments