... BIG BREAKING : 30 पटवारी,3 आरआई समेत तीन तहसीलदार SDM के विरुद्ध हुए लामबंद,सब्जी,फल से लेकर देशी मुर्गा, मटन ,कबूतर तक की डिमांड समेत मानसिक व आर्थिक प्रताड़ना का लगाया गंभीर आरोप,कलेक्टर ने कही जांच की बात तो SDM ने पूरे मामले को बताया निराधार।

आपके पास हो कोई खबर तो भेजें 9424187187 पर

BIG BREAKING : 30 पटवारी,3 आरआई समेत तीन तहसीलदार SDM के विरुद्ध हुए लामबंद,सब्जी,फल से लेकर देशी मुर्गा, मटन ,कबूतर तक की डिमांड समेत मानसिक व आर्थिक प्रताड़ना का लगाया गंभीर आरोप,कलेक्टर ने कही जांच की बात तो SDM ने पूरे मामले को बताया निराधार।

 


जशपुर,टीम पत्रवार्ता,17 मई 2021

छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले की बगीचा SDM ज्योति बबली कुजूर पर अधीनस्थ कर्मचारियों ने आर्थिक व मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए पूरे मामले की शिकायत जिला कलेक्टर महादेव कावरे से की है।मामले में कलेक्टर ने जांच की बात कही है वहीं एसडीएम ने शिकायत को निराधार बताया है।

बगीचा व सन्ना के तहसीलदार,आरआई व पटवारियों ने एकजुट होकर एसडीएम के खिलाफ स्वहस्ताक्षरित आवेदन देकर एसडीएम को जिला में अटैच कर मामले में जांच कार्यवाही की मांग की है।

शिकायत आवेदन में कई गंभीर आरोप लगाते हुए कहा गया है कि अनुविभागीय अधिकारी राजस्व बगीचा सुश्री ज्योति बबली कुजूर के कार्यप्रणाली एवं किये जा रहे कार्यों से हम समस्त अधिकारी एवं कर्मचारीगण तहसील सन्ना एवं बगीचा आर्थिक एवं मानसिक रुप से प्रताड़ित हो रहे हैं।  भयपूर्ण वातावरण में कार्य करने के लिये विवश हैं ।अतः हम सभी,महोदय से यह मांग करते हैं कि SDM सुश्री ज्योति बबली कुजूर को जिला मुख्यालय में अटैच कर पारदर्शिता पूर्वक विभागीय जांच कराकर नियमानुसार कार्यवाही करने की कृपा करें ।

शिकायत आवेदन के अनुसार SDM बगीचा सुश्री ज्योति बबली कुजूर पर कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं जिसमें उल्लेखित है कि उनके द्वारा निम्न अनैतिक कार्य किए जा रहे हैं।(शिकायत आवेदन में उल्लेखित )

 1. अनु ० अधि o ( रा ० ) बगीचा द्वारा कलेक्टर महोदय को होली गिफ्ट दिये जाने के नाम पर दो लाख रुपये वसूलने के लिये प्रत्येक पटवारी एवं राजस्व निरीक्षकों से सात - सात हजार रु . जमा कराने हेतु तहसीलदार बगीचा श्री टी 0 डी 0 मरकाम महोदय को निर्देशित किया गया था जिसकी जानकारी तहसीलदार महोदय द्वारा पटवारी मिटींग में दी गई एवं प्रत्येक पटवारी एवं राजस्व निरीक्षकों से सात - सात हजार रु . जमा करने हेतु कहा गया । इसके अतिरिक्त प्रत्येक पटवारी एवं राजस्व निरीक्षकों से प्रत्येक माह सात - सात हजार रु . SDM बगीचा के लिये जमा करने के लिये कहा गया जिसका विरोध हम सभी ने किया अन्त में प्रत्येक पटवारी द्वारा एक - एक हजार रु 0 चंदा कर दिया गया । 

  2. पटवारी एवं राजस्व निरीक्षकों से दो लाख रु 0 वसूली नहीं कर पाने पर पटवारी एवं राजस्व निरीक्षकों की मिटींग में नायब तहसीलदार बगीचा सुश्री रोशनी तिर्की एव नायब तहसीलदार श्री अविनाश चौहान तथा पटवारीयों एवं राजस्व निरिक्षकों की उपस्थिति में तहसीलदार बगीचा श्री टी 0 डी 0 मरकाम महोदय द्वारा SDM बगीचा को कहा गया कि- " आपने मुझे पटवारियों एवं राजस्व निरीक्षकों से दो लाख रु 0 वसूली करने के लिये कहा था जिसे मैं वसूली नहीं कर सका “ । जिस पर तहसीलदार बगीचा श्री टी 0 डी 0 मरकाम महोदय को SDM बगीचा द्वारा मिटींग से बाहर निकाल दिया गया ।

3 SDM बगीचा द्वारा अपने घरेलू एवं निजी उपयोग की सामग्री जैसे राशन सामग्री , सब्जी , फल , जूस , दही , ड्रायफूड्स , देशी मुर्गा , मटन , कबूतर , बर्तन इत्यादि पटवारियों एवं राजस्व निरीक्षकों एवं लिपिकों से मंगाया जा रहा है एवं स्वयं के द्वारा किये गये खरीददारी का बिल पटवारियों एवं अन्य कर्मचारियों से भुगतान कराया जा रहा है । जिसके लिये SDM बगीचा द्वारा नायब तहसीलदारों एवं तहसीलदार को फोन कर आर्डर दिया जाता है । तहसीलदार एव नायब तहसीलदारों द्वारा समग्री भिजवाने से मना किये जाने पर उन्हे भी कार्यवाही की धमकी दी जाती है । 

4. SDM बगीचा द्वारा प्रोटोकाल ड्यूटी के नाम पर पटवारियों एवं राजस्व निरीक्षकों को अनावश्यक आर्थिक एवं मानसिक रुप से प्रताड़ित किया जाता है । प्रोटोकाल के नाम पर अनावश्यक सामग्री की खरीददारी कराई जाती है एवं खरीदे गये सामग्री को स्वयं के घर पहुँचाने हेतु कहा जाता है , मना करने पर दबाव डालकर मंगाया जाता है ।

 5. SDM बगीचा द्वारा हाल ही में दिनांक 17/02/2021 को पटवारियों को पाट क्षेत्र में स्थानांतरण करने के नाम पर ब्लैकमेलिंग कर पच्चीस से तीस हजार रु 0 तक अवैध वसूली किया गया है , मजबूर होकर कुछ पटवारी साथियों द्वारा रु ० दिया गया है किन्तु जो पटवारी साथी रु 0 नहीं दे सके उन्हें दुरस्थ एवं पाट क्षेत्र में स्थानान्तरण किया गया है । 

6. SDM बगीचा द्वारा पटवारियों एवं राजस्व निरीक्षकों की साप्ताहिक मिटींग में पटवारियों को अपमानित किया जाता है एवं अभद्र भाषा का प्रयोग किया जाता है जैसे- “ दो थप्पड़ लगाउंगी तो भी मेरा कुछ नहीं कर सकते हो तुम लोग " , " किसी को मुझसे कोई भी प्रश्न पूछने का अधिकार नहीं है और इस लायक भी नहीं हो तुम लोग इसके अतिरिक्त मिटींग हॉल से पटवारियों को बाहर निकल जाओ बोला जाता है , किसी को अपनी बात तक रखने का अवसर नहीं दिया जाता है उल्टा डांट फटकार कर चुप करा दिया जाता है । 

7. SDM बगीचा द्वारा बिना शासन की अनुमति के हमर अंचरा ' कार्यक्रम चलाया जा रहा है जिसमें सभी विभाग के कर्मचारियों को अपना डर दिखाकर 1000 रु 0 से 5000 रु 0 तक जमा कराया जा रहा है एव हम राजस्व विभाग के कर्मचारियों को हमर अंचरा कार्यक्रम के कार्यों को करने हेतु आदेशित किया जाता है जिससे हमारा विभागीय कार्य प्रभावित होता है । 

8. SDM बगीचा द्वारा हमर अंचरा कार्यक्रम के लिये निर्मित बैंक अकाउंट में कर्मचारियों व्यापारियों एवं प्रतिष्टित व्यक्तियों से चंदा एकत्रित कर लगभग 20 से 25 लाख रुपये जमा कराया गया है जिसका उपयोग गरीबों को निःशुल्क सामग्री वितरण के नाम पर प्रत्येक सामग्री में कमीशनखोरी किया जा रहा है जिसका जांच किया जाना उचित होगा एवं हमर अंचरा कार्यक्रम में एकत्रित राशि का उपयोग वर्तमान में कोविङ -19 के दौर में आक्सीजन सिलेंडर एवं अन्य राहत सामग्री के लिये किया जाना उचित होगा परंतु SDM बगीचा जिन सामग्रीयों की खरीदी में कमीशन मिलता है वही कार्य करती है ।

SDM बगीचा द्वारा किये जा रहे उपरोक्त कार्यों से हम सभी आर्थिक एवं मानसिक रुप से प्रताड़ित हो रहे हैं तथा भयपूर्ण वातावरण में कार्य करने के लये मजबूर हैं । अतः महोदय से निवेदन है कि अनुविभागीय अधिकारी राजस्व बगीचा सुश्री ज्योति बबली कुजूर को जिला मुख्यालय में अटैच कर पारदर्शिता पूर्वक विभागीय जांच कराकर नियमानुसार कार्यवाही करने की कृपा करें ।

"मामले में एसडीएम सुश्री ज्योति बबली कुजूर ने शिकायत को निराधार बताया है।"

"जिला कलेक्टर महादेव कावरे ने बताया कि डाक के माध्यम से शिकायत मिली है पूरे मामले में जांच की जाएगी।"





Post a Comment

0 Comments