... निधन :100 से अधिक "कन्यादान" करने वाले "प्रियदर्शी" शिवकुमार पांडे के निधन से शोकमय हुआ "जशपुर",सेवानिवृत्त शिक्षक,समाजसेवी होने के साथ जीवन भर "अंधविश्वास और आडम्बर" के खिलाफ लड़ते रहे,एक ढपली के सहारे जगाते रहे "अलख"...

निधन :100 से अधिक "कन्यादान" करने वाले "प्रियदर्शी" शिवकुमार पांडे के निधन से शोकमय हुआ "जशपुर",सेवानिवृत्त शिक्षक,समाजसेवी होने के साथ जीवन भर "अंधविश्वास और आडम्बर" के खिलाफ लड़ते रहे,एक ढपली के सहारे जगाते रहे "अलख"...

 

जशपुर,टीम पत्रवार्ता,16 अगस्त 2020

अविभाजित मध्यप्रदेश में शिक्षक रहे शिवकुमार पाण्डेय के निधन से पुरे जशपुर में शोक की लहर है।स्वर्गीय पाण्डेय जिले के वरिष्ठ पत्रकार विश्वबंधु शर्मा के पिता हैं।सेवानिवृत होने के बाद अपने जीवन काल में उन्होंने लगभग 100 कन्यादान किये हैं वहीँ अपना पूरा जीवन धर्म और अध्यात्म की स्थापना के लिए लगा दिया।वे 85 वर्ष के थे जो लम्बे समय से बीमार चल रहे थे


उल्लेखनीय है कि स्वर्गीय पाण्डेय सर्वेश्वरी समूह के सदस्य थे और बाबा गुरुपद सम्भव राम के द्वारा उन्हें "प्रियदर्शी" का सम्मान दिया गया था लोग उन्हें माताराम कहकर भी संबोधित करते थे।अवधूत अघोरेश्वर भगवान राम के प्रमुख शिष्यों में से वे एक थे और उन्हीं से गुरुमुख थे।उन्होंने धर्म और अघोर पंथ के आदर्शों के लिए पूरा जीवन समर्पित किया।वे अंधविश्वास,आडम्बर के खिलाफ आजीवन लड़ते रहे।कुरीति उन्मूलन उनके जीवन का बड़ा लक्ष्य था जिसके लिए लिए उन्होंने अपना सारा जीवन समर्पित कर दिया


एक ढपली के साथ वे जीवन भर घूम घूम कर अलख जगाते रहे।उनके निधन पर बाबा गुरुपद सम्भव राम उनके गृह निवास पंहुचे और उन्हें श्रद्धांजलि दी वहीँ शोक संतप्त परिवार को संबल प्रदान किया।पत्रकार जगत के साथ शिक्षा व् सामाजिक क्षेत्र के लोगों ने भी अपनी संवेदना प्रकट करते हुए शोक जताया है।स्थानीय मुक्तिधाम में शाम 5 बजे उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा 


Post a comment

0 Comments