... पत्रवार्ता न्यूज :"धर्म की सजग प्रहरी हैं घर की माताएं बहनें-कालीचरण"अश्वमेध महायज्ञ के 25 साल पुरे,रजत जयंती समारोह का हुआ शुभारम्भ

Recents in Beach


पत्रवार्ता न्यूज :"धर्म की सजग प्रहरी हैं घर की माताएं बहनें-कालीचरण"अश्वमेध महायज्ञ के 25 साल पुरे,रजत जयंती समारोह का हुआ शुभारम्भ




कोरबा,टीम पत्रवार्ता,10 नवम्बर 

अश्वमेध यज्ञ की रजत जयंती के अवसर पर 10 से 13 नवम्बर तक कोरबा के प्रियदर्शिनी इंदिरा स्टेडियम के आयोजित 251 कुंडीय गायत्री महायज्ञ के प्रथम दिवस मातृशक्ति ने सिर पर कलश धारण कर भव्य शोभायात्रा निकाली।नगर में गायत्री महामंत्र के गुंजन से दिव्य वातावरण निर्मित होने के साथ दैवीय शक्ति का साक्षात् स्वरुप देखने को मिला।माताओं बहनों ने सिर पर कलश,वेद,उपनिषद,प्रज्ञा पुराण धारण कर नव उर्जा का संचार किया।


शोभायात्रा नगर के दो हिस्सों से निकाली गई जिसमें शोभायात्रा रानी रोड,इतवारी बाजार,मुख्य मार्ग कोरबा,पावर हाउस रोड,ट्रांसपोर्ट नगर होते हुए प्रियदर्शिनी इंदिरा स्टेडियम पंहुची वहीँ दूसरी शोभायात्रा प्रज्ञापीठ सीएसईबी से निकलकर निहारिका,घंटाघर,बुधवारी, शक्तिपीठ सीएसईबी,टीपी नगर चौक होते हुए स्टेडिंयम पंहुची।कलश यात्रा की जिम्मेदारी सम्हाल रहे,संध्या अग्रवाल,वीके यादव, संध्या अग्रवाल ने बताया कि शोभायात्रा में बारह झांकियां निकाली गई जिसमें नशा उन्मूलन,नारी जागरण,पर्यावरण संवर्धन प्रमुख हैं।कोरबा जिले के अलावा,सरगुजा,जशपुर,कोरिया,बिलासपुर,रायपुर समेत पुरे प्रदेश से माताएं,बहनें,बच्चे व गायत्री परिजन उक्त कार्यक्रम में पंहुचे हैं।


कलश यात्रा नगर का भ्रमण कर प्रियदर्शिनी इंदिरा स्टेडियम पंहुची जहाँ शांतिकुंज से पधारे प्रज्ञापुत्रों की टोली ने मातृशक्ति का ऐतिहासिक स्वागत किया।युग संगीत आए आए हैं सारे देव विराजे कलशों में मधुर संगीत की प्रस्तुति ओमप्रकाश पाटीदार के द्वारा दी गई।वहीँ माता तेरे चरणों में वरदान जो मिल जाए की प्रस्तुति से हरिप्रसाद चौधरी,नारायण रघुवंशी,बसंत यादव,गणेश पवार,हेमंत ने अपने साज से वातावरण को भक्तिमय बना दिया ।कलश लेकर यज्ञस्थल में पंहुचे मातृशक्ति को वरिष्ठ प्रज्ञापुत्र कालीचरण शर्मा ने संबोधित किया।जिनके साथ अधवर्यु उदय किशोर मिश्रा,दिनेश पटेल,होता अरुण खंडाग्ले,परमानंद द्विवेदी,इन्द्रेश पथिक ने मंच का सञ्चालन किया। 


गायत्री की महिमा व नारीशक्ति  पर प्रकाश डालते हुए इसके महात्म्य का वर्णन वरिष्ठ प्रज्ञापुत्र कालीचरण शर्मा ने किया ।उन्होंने हर परिस्थिति में माताओं बहनों को धर्म की रक्षा करने वाला बताया,व्रत,उपवास और विभिन्न सांस्कृतिक मूल्यों को जीवंत रखते हुए घर की माताएं हमेशा धर्म की रक्षा करतीं हैं।देवशक्तियों को कलश में धारण कर पंहुची मातृशक्ति के साथ समस्त देवशक्तियों की आरती उतारी गई।शान्तिपाठ के बाद कलश यात्रा का समापन किया गया

उक्त कार्यक्रम में पूर्व षाडा अध्यक्ष व वरिष्ठ गायत्री परिजन एसडी सिंह,पूर्व महापौर व संसदीय सचिव लखनलाल देवांगन कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित रहे।उक्त कार्यक्रम की व्यवथा में शांतिकुंज प्रतिनिधि कामता प्रसाद साहू,कमलेश  मिश्रा,डा शोभना परसाई,राजकुमार देवांगन,रोहतास कसेर,डीके वर्मा,एम आर बरेठ,रामकुमार थवाईत,प्राणेश विश्वास,दीपक अग्रवाल,राजेश लाम्बा,एसआर शर्मा,दानेश्वर शर्मा समेत सभी र्कायकर्ताओं व परिजनों का लगातार सहयोग मिल रहा है।

Post a Comment

0 Comments