Recents in Beach


खुलासा:- जानिए NH 43 के अधूरे निर्माण की इनसाईड स्टोरी,केंद्रीय मंत्री की जुबानी अब तक की पूरी कहानी।



By योगेश थवाईत।

जशपुर(पत्रवार्ता) इन दिनों पत्थलगांव से कुनकुरी होकर जशपुर से लोदाम शंख तक और अम्बिकापुर से पत्थलगांव तक NH 43 पर परेशानी इतनी बढ़ गई है कि आम आदमी के चलने लायक सड़क ही नही बची।केंद्रीय मंत्री व सांसद विष्णुदेव साय ने बताया कि केंद्र सरकार ने 1400 करोड़ उक्त एनएच के निर्माण के लिए दिया है जिसके त्वरित निर्माण के लिए उनके द्वारा विशेष पहल की गई है।

पिछले 1 साल से इस सड़क के पीछे सियासत हो रही है।दरअसल अनुभवहीन लोगों के द्वारा पेटी में कार्य किये जाने से सड़क निर्माण की गति प्रभावित हुई है।केंद्र सरकार उक्त सड़कों का लगातार मॉनिटरिंग कर रही है।आने वाले 3 महीनों में सड़क का बेहतर कार्य होने की उम्मीद है।

उल्लेखनीय है कि पिछले 1 साल से एनएच 43 की दुर्दशा को लेकर आम जनता त्रस्त है।उच्चाधिकारियों की अनुभवहीनता और पेटी कांट्रेक्ट के खेल ने पत्थलगांव से लेकर जशपुर तक सड़क को बरबाद कर दिया।वहीं अब कांग्रेसी इस सड़क को लेकर सियासत करते नजर आ रहे हैं।

आपको बता दें कि अम्बिकापुर से पत्थलगांव व पत्थलगांव से कुनकुरी एनएच का कार्य चेन्नई की जीवीआर कंपनी को मिला था।जिसके द्वारा काम बीच मे ही छोड़ दिया गया और कंपनी बोरिया बिस्तर समेटकर भाग गई।

सांसद साय ने बताया कि इस कंपनी के अधीन कई स्थानीय ठेकेदारों ने पेटी कांट्रेक्ट में काम किया जिनका भुगतान अब तक बाकी है।वहीं दूसरे ठेकेदार पर भी स्थानीय पेटी ठेकेदार काम के लिए सरकार का धौंस दिखाकर जोर जुगत लगाने में जुटे हैं।

विधानसभा चुनाव में सड़क मुख्य मुद्दा बना और कांग्रेस ने इसे खूब भुनाया।अब आगामी लोकसभा के मद्देनजर केंद्र सरकार के निर्देश पर सड़कों की स्थिति ठीक करने के लिए विशेष कार्यवाही की जा रही है।ताकि जल्द से जल्द लोगों को सुगम आवागमन मिल सके।

काम छोड़कर भागने वाली कंपनी को ब्लेक लिस्टेड करने की कार्रवाई के साथ अब नई कंपनी को काम पूरा करने का जिम्मा दिया गया है।

जिसमें अम्बिकापुर से पत्थलगांव के सड़क निर्माण का कार्य तिरुपति ग्रुप सिंघानिया को मिला है वहीं पत्थलगांव से कुनकुरी पंजाब की ग्रेवाल कंपनी को सड़क निर्माण का कार्य मिला है वहीं कुनकुरी से जशपुर शंख शिवालया कंपनी के द्वारा किया जा रहा है।

पत्थलगांव से कुनकुरी सड़क निर्माण का कार्य पंजाब की ग्रेवाल कंपनी द्वारा शुरू किया जा रहा है इसके बाद भी स्थानीय ठेकेदारों के द्वारा कार्य में रोक लगाने की कोशिश की जा रही है।जिसके कारण निर्माण कंपनी को कार्य करने में खासी परेशानी हो रही है।

तुलसी कौशिक ने बताया कि जशपुर कलेक्टर समेत केंद्रीय स्तर पर मामले की शिकायत की गई है।जिसमें स्थानीय पेटी ठेकेदारों व कांग्रेस के कुछ नेताओं द्वारा काम रोके जाने की बात का उल्लेख है।हांलाकि कार्यस्थल पर पुलिस के साथ काम शुरु कराए जाने की पहल भी की गई है बावजूद इसके कार्य शुरू नहीं हो सका है।

सांसद व केंद्रीय मंत्री विष्णु देव साय ने पत्रवार्ता से चर्चा में बताया कि अगले तीन माह में जशपुर कुनकुरी व पत्थलगांव के लोगों को अच्छी सड़क मिलेगी जिसमें सुगम यातायात संभव हो सकेगा।केंद्रीय स्तर पर अधिकारियों को स्पष्ट निगरानी व गुणवत्तापूर्ण कार्य के निर्देश दिए गए हैं।स्थानीय समस्या को दूर करने के लिए जिला प्रसाशन को निर्देशित किया गया है।

"केंद्रीय मंत्री नितीन गड़करी से एनएच 43 के निर्माण में लेटलतीफी को लेकर सतत संपर्क जारी है,केंद्र की पहल पर 1400 करोड़ की स्वीकृति मिली है,काम छोड़कर भागने वाले ठेकेदार पर कार्रवाई के अलावा दूसरे ठेकेदार से अनुबंध पूरा हो चुका है,स्थानीय लोगों के सहयोग से जल्द ही अच्छी सड़क लोगों को मिलेगी।"

विष्णुदेव साय,सांसद व केंद्रीय मंत्री।
=======================
केंद्रीय मंत्री से जुड़ी हर बात
यहां क्लिक करें

आगामी लोकसभा को लेकर क्या बोलते हैं विष्णुदेव साय..?

Post a Comment

0 Comments