... "सोचो सरकार सोचो"सुशासित राज्य की श्रेणी में छत्तीसगढ़ 15वें पायदान के निचले स्तर पर पंहुचा

"सोचो सरकार सोचो"सुशासित राज्य की श्रेणी में छत्तीसगढ़ 15वें पायदान के निचले स्तर पर पंहुचा

👉प्रदेश के गिरते स्तर के लिए मुख्यमन्त्री और बीजेपी सरकार जिम्मेदार-शैलेष👉 

बिलासपुर(पत्रवार्ता.कॉम) पब्लिक अफेयर्स इंडेक्स 2018 के जारी ताज़ा रैंक में सुशासित राज्य की श्रेणी में प्रदेश के 13वें से 15 वें पायदान में जाने के बाद सरकार काँग्रेस के निशाने पर है। काँग्रेस प्रदेश प्रवक्ता शैलेष पांडेय ने इसे लेकर तीखी प्रतिक्रिया दी है। 

उन्होंने कहा कि रमन सरकार
ने 15 वर्षो में राज्य को गरीब बना 
दिया है। 39 प्रतिशत गरीब प्रदेश मे 
रह रहे है। विकास प्रदेश की जनता के 
लिए केवल सपना बन कर रह गया है। 
शहरी व ग्रामीण क्षेत्र का हाल बुरा है।

पांडेय ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश की जो स्थिति है इसके लिये मुख्यमन्त्री और प्रदेश की बीजेपी सरकार जिम्मेदार है। रिपोर्ट के मुताबिक केरल देश में सबसे सुशासित राज्य है। तमिलनाडु, तेलंगाना, कर्नाटक और गुजरात सु-शासन वाले शीर्ष पांच राज्यों में शामिल हैं।   

वहीं बिहार, झारखंड, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश और ओडिशा सूचकांक पर सबसे निचले स्थान पर हैं। ओडिशा को छोड़ बाकी राज्यों में बीजेपी की सरकार है। बेंगलुरु विशेषज्ञ समूह, पब्लिक अफेयर्स सेंटर ने ये रिपोर्ट तैयार करने के लिए राज्यों के 10 अलग-अलग जरूरी विषयों पर स्टडी किया। जिसमें इंफ्रास्ट्रक्चर, ह्यूमन डेवलपमेंट, सोशल प्रोटेक्शन, महिलाओं और बच्चों की स्थिति जैसे विषय शामिल थे।

छत्तीसगढ़ की स्थिति पर चिंता जताते हुए पांडेय ने कहा कि, पिछले साल की तुलना प्रदेश 13 वें पायदान से नीचे गिरकर 15 वें स्थान पर आ गया है। ऐसे में इसे लेकर कहीं न कहीं सरकार को सोचने की आवश्यकता है।

Post a comment

0 Comments