.

जिले के गौ सेवकों ने बिजली कर्मचारियों पर की कार्रवाई की मांग,करेंट की चपेट में आने से मवेशियों की मौत का मामला।


  • भारती शर्मा की रिपोर्ट।

पत्थलगांव(पत्रवार्ता) जशपुर जिले में इन दिनों लगातार बिजली के करेंट से मवेशियो की मौत के मामले सामने आ रहे हैं जिसपर यहाँ के गौ सेवक बेहद गंभीर नजर आ रहे हैं। गौ सेवकों ने पत्थलगांव वितरण विभाग के कार्यपालन यंत्री को ज्ञापन सौंपकर क्षेत्र में लटकते बिजली के तार व जमीन से सटे ट्रांसफार्मर को दुरुस्त किये जाने की मांग की है। विभाग के लापरवाह कर्मचारियों पर भी कड़ी कार्यवाही किये जाने की बात गौ सेवकों द्वारा कही गयी है। 


उल्लेखनीय है की पिछले दो दिनों में कुनकुरी समेत कांसाबेल में बिजली तार की चपेट मे आकर हुए मवेशियों की मौत के मामले में बिजली कर्मचारियों की लापरवाही सामने आ चुकी है जिसपर अब तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है। गौ सेवकों ने लापरवाह कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई नही होने पर सड़क मे उतरकर आंदोलन की बात भी कही है।

कांसाबेल ब्लॉक में शनिवार व शुक्रवार की रात्रि 11 केव्ही हाई वॉल्टेज तार की चपेट में आने से पास ही खड़े दो पशु बुरी तरह जल कर राख हो गए थे वहीँ इस हादसे से पूर्व जशपुर जिले में ही कुनकुरी में तीन मवेशियों की मौत बिजली करंट से हो चुकी है।लगातार हो रहे इस तरह के हादसों के बाद गौ सेवकों में आक्रोश देखा जा रहा है बिजली विभाग की लापरवाही से मवेशियों की मौत के मामले में राष्ट्रीय गौ रक्षा वाहिनी की प्रदेश महामंत्री भारती शर्मा व गौ रक्षा सेवा के जिलाध्यक्ष हरी जायसवाल समेत अन्य कार्यकर्ता बिजली विभाग के खिलाफ बड़े आंदोलन का संकेत दे रहे हैं।

प्रदेश महामंत्री भारती शर्मा ने बताया कि हमने इस संबध में वरिष्ठ अधिकारीयों को लचर व्यवस्था दुरुस्त करने का ज्ञापन सौपा है ताकि भविष्य मे किसी भी प्रकार की घटना न हो।उन्होंने कहा कि यदि दोषी कर्मचारियों पर कार्रवाई नही होती है तो हम सड़क पर उतरकर आदोंलन करने को बाध्य होंगे। 
Share on Google Plus

About patravarta.com

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 Comments:

Featured Post

बच्चों के रिजल्ट से पहले व बाद में DIG रतनलाल डांगी का यह खत जरुर पढ़ें अभिभावक व बच्चे।

प्रिय अभिभावकों एवम् बच्चों , नम्बरों से ज्यादा आपके बच्चों की जिंदगी हैं,कम नम्बरों के तनाव से आप भी बाहर निकलो व बच्चों को भी निक...