... आस्था : पर्युषण महापर्व पर "अभिषेक पिंकी" ने किया कठोर तप,दशलक्षण व्रत से सबके कल्याण की कामना-भावेश

आस्था : पर्युषण महापर्व पर "अभिषेक पिंकी" ने किया कठोर तप,दशलक्षण व्रत से सबके कल्याण की कामना-भावेश





योगेश थवाईत @पत्रवार्ता ,13 सितम्बर 2019

जशपुर जिले के बगीचा में दिगंबर जैन समाज के अभिषेक जैन,पिंकी जैन व अविनाश जैन ने पर्युषण महापर्व पर दस दिनों तक निर्जला दशलक्षण व्रत रखकर सबके उज्जवल भविष्य की कामना की

उल्लेखनीय है कि जैन समाज के द्वारा स्थानीय जैन मंदिर में पिछले दस दिनों तक पर्युषण महापर्व का आयोजन किया गया जिसमें नगर के युवा व्यवसायी अभिषेक जैन ने अपनी अर्धांगिनी पिंकी जैन व भाई अविनाश जैन के साथ 10 दिनों का कठोर निर्जला व्रत किया

जैन मंदिर में पधारे भावेश भैया के सान्निध्य में उक्त दशलक्षण व्रत का अनुपालन किया गया।श्री भावेश ने पत्रवार्ता को बताया कि जैन दर्शन में तप और तपस्या को महत्वपूर्ण स्थान प्राप्त है।जैन दृष्टि से भगवान आपको मोक्ष का मार्ग दिखाते हैं,आपको मोक्ष नहीं दिला सकते।जिसके लिए स्वयं को पुरुषार्थ करना पड़ता है।जैन परंपरा में इसके लिए उपवास एक सशक्त माध्यम है जिसकी विधि शुद्ध,प्रमाणिक व कठिन है

नगर के प्रतिष्ठित व्यवसायी विमल जैन के सुपुत्र अभिषेक जैन व पुत्रवधू पिंकी जैन व अविनाश जैन ने कर्मों के निर्जरा मर्ग में प्रशस्त होकर उक्त दशलक्षण व्रत को धारण किया।जिसका पारणा उद्यापन शुक्रवार को धूमधाम से संपन्न हुआ


जैन मंदिर से व्रतियों की शोभायात्रा निकाली गई जो नगर के मुख्य मार्ग से जैन धर्म का सन्देश देते हुए बसस्टैंड होते हुए दिगंबर जैन मंदिर पंहुची।इस अवसर पर परिवार व समाज के लोगों के साथ स्थानीय नागरिक,मित्र भी शामिल हुए

Post a Comment

0 Comments