... आंदोलन : बाक्साइड खनन के खिलाफ हजारों ग्रामीणों की जनांदोलन रैली आज, सड़क पर होगा विरोध प्रदर्शन,गरजेंगे पूर्व मंत्री भगत..

Recents in Beach


आंदोलन : बाक्साइड खनन के खिलाफ हजारों ग्रामीणों की जनांदोलन रैली आज, सड़क पर होगा विरोध प्रदर्शन,गरजेंगे पूर्व मंत्री भगत..





सन्ना,टीम पत्रवार्ता,28 सितंबर 2019

जशपुर जिले में बाक्साईड खनन को लेकर अब विरोध के स्वर तेज होते जा रहे हैं।आज बगीचा में पूर्व मंत्री गणेश राम भगत के नेतृत्व में हजारों ग्रामीण सड़कों पर इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेंगे।आपको बता दें कि यह जनांदोलन रैली बग़ीचा के हाईस्कूल चौक से शुरु होकर बसस्टैंड बाजारडाँड़ में आम सभा के रूप में तब्दील हो जाएगी।जहां बाक्साईड खनन के विरोध में दिग्गज नेता आमसभा को संबोधित करेंगे।

उल्लेलखनीय है कि अजीत जोगी सरकार में जशपुर जिले के पाठ क्षेत्र में बाक्साइड खनन के लिए पट्टे जारी किये गए थे।जिसमें अब खनन की तैयारी लगभग पूरी हो गई है।

खनन की दिशा में सरकार के बढ़ते कदम को रोकने और उसके विरोध में अब प्रदेश के दिग्गज आदिवासी नेता खुद खड़े हो चुके हैं।बाक्साईड खनन को लेकर जशपुर जिले की सियासत गरमा गई है।

आपको बता दें की जशपुर जिले के बगीचा में आज 28 सितम्बर मंगलवार को छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री व दिग्गज आदिवासी नेता गणेश राम भगत के नेतृत्व में विशाल जनांदोलन रैली आहूत की गई है।जिसमें पर्यावरण संरक्षण के आह्वान के साथ बाक्साईड खनन का विरोध होना है।

पत्रवार्ता को जानकारी देते हुए जनजाति सुरक्षा मंच के जिला उपाध्यक्ष चंद्रदेव ग्वाला ने बताया की आज बगीचा में पुरे पाठ क्षेत्र के ग्रामीणों जुटेंगे।दोपहर 12 बजे से ही बगीचा के हाई स्कुल मैदान में लोग एकत्रित होंगे और फिर रैली नगर के मुख्य मार्ग से होते हुए बाजार डाँड़ पंहुचेगी जहां पूर्व मंत्री आमसभा को संबोधित करेंगे।

जशपुर जिला प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण है जहां पर्यटन की असीम  सम्भावनाएँ हैं।यहां सरकार द्वारा पाठ क्षेत्र के सुंदरता को उजाड़ने व पर्यावरण के विरुध्द किये जा रहे प्रयास का जमकर विरोध किया जा रहा है।यहाँ बाक्साइड खनन की प्रक्रिया भी शुरु किये जाने को लेकर सरकार काम कर रही है।

यह तब स्पष्ट हुआ जब छत्तीसगढ़ सरकार में जशपुर जिले के प्रभारी मंत्री अमरजीत भगत ने बाक्साइड खनन की ओर अपना रुझान दिखाते हुए बयान दिया था कि बिना ग्राम पंचायतों की सहमति के कुछ नहीं होगा।जहां सहमति मिली होगी वहीं का पट्टा पूर्व सरकार द्वारा जारी किया गया होगा।खनन से प्रदेश के राजस्व में वृद्धि की बात उन्होंने कहते हुए उन्होंने अपनी मंशा स्पष्ट कर दी थी।

Post a Comment

0 Comments