... सुनें -"युद्धवीर की दो टूक" "जशपुर को नहीं बनने देंगे दूसरा बस्तर,7 दिन के अन्दर खनन का पट्टा निरस्त कर,ग्रीन जशपुर के लिए श्वेत पत्र जारी करे सरकार...अन्यथा होगा विद्रोह ...?

Recents in Beach


सुनें -"युद्धवीर की दो टूक" "जशपुर को नहीं बनने देंगे दूसरा बस्तर,7 दिन के अन्दर खनन का पट्टा निरस्त कर,ग्रीन जशपुर के लिए श्वेत पत्र जारी करे सरकार...अन्यथा होगा विद्रोह ...?



जशपुर(पत्रवार्ता) जशपुर जिले में खनन के लिए 5 पट्टों की स्वीकृति मिलने की खबर से जिले के ग्रामीण ईलाकों में हडकंप मच गया है।वहीँ पूर्व विधायक युद्धवीर सिंह जूदेव ने कड़े शब्दों में खनन के लिए जशपुर में स्वीकृत किये गए पट्टों को तत्काल निरस्त करने की मांग करते हुए ग्रीन जशपुर के लिए सरकार से श्वेत पत्र जारी किये जाने  की मांग की है। ऐसा न होने पर उन्होंने जिले के तीनों विधायकों से इस्तीफा भी माँगा है। 


दरअसल पत्रवार्ता ने युद्धवीर से सवाल किया कि पट्टा तो पहले जारी हो चूका है जिसके जवाब में युद्धवीर ने पत्रवार्ता से कहा कि उनके द्वारा 10 साल के विधायकी में कई बार खनन को लेकर सवाल पुछा गया जिसमे उन्हें सर्वे की जानकारी दी गई और खनन के बारे में कोई योजना न होने की बात बताई गई।

सरकार द्वारा पट्टा जारी किये जाने की जानकारी उन्हें नहीं है ...इसके बाद भी अगर पहले की सरकार ने खनन का पट्टा जारी किया है तो उसे निरस्त करना सरकार का काम है तत्काल उसे निरस्त करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि सत्र के सात दिन में सरकार स्वीकृत पट्टे को निरस्त करे और जशपुर को ग्रीन जशपुर बनाये जाने के लिए श्वेतपत्र जारी करे।

ऐसा न किये जाने पर उन्होंने विद्रोह की बात करते हुए यहाँ तक कह डाला कि वे नई सेना खडी कर लेंगे ....

आखिर और क्या क्या कहा युद्धवीर ने

सुनें पूरा ऑडियो






क्या है मामला 

यहां जशपुर जिले में बॉक्साइट के खनन के लिए बगीचा विकासखंड के खुडिया क्षेत्र,छिछली,बीजाघाट,
मुढ़ी,चुंदापाठ,समेत गायबुड़ा,गनैयापाठ,गढ़पहाड़,घोरड़ेगा,जमुनियापाठ,खोमडापाठ,रोकड़ापाठ,लमदरहापाठ,मेंढरपाठ,कुरकुरिया,मुर्रापाठ,नवापारा,पंडरापाठ,सोनगेरसा,सरधापाठ,सेमरा,जलतेपाठ,सुलेसा,महनई,बोराकोना,सुलेसा,रौनी,तेंदपाठ,भेडीकोना,पकरीटोला,जमुनियांपाठ,देवड़ाड,धनापाठ,हर्राडिपा,केरापाठ,कदमपाठ,दातूनपानी को चिन्हित किया गया है जिसके लिए शासन द्वारा 5 पट्टे स्वीकृत किये जा चुके हैं।

वहीँ जशपुर जिले में सोना के खनन के लिए  बरजोर, हथगढा, तपकरा,पण्डरीपानी,धौरासांड़,सेजबहार पुसरा,कोटानपानी,कांसाबेल ,सिंगिबहार,कटंगखार,इलाके में सर्वेक्षण किया जा चूका है जहाँ भरपूर सोना होने की खबर है।बेरिल व टंगस्टन खनिज बोरोकछार, चिकनीपानी, मयूरनाचा,पत्थलगांव व निकिल,क्रोमियम एवं प्लेटिनम ग्रुप्स ऑफ एलिमेंट कोनपारा में हैं।

मुख्यमंत्री ने यूडी मिंज के प्रश्न के जवाब में सदन को बताया कि सर्वेक्षण में ज्ञात खनिजों में प्राप्त बॉक्साइट खनिज के लिए छत्तीसगढ़ मिनिरल्स डेवलपमेन्ट कॉर्पोरेशन लिमिटेड को जशपुर जिले में 05 खनिज पट्टे स्वीकृत किये गए हैं जिनमें खनन प्रक्रिया लंबित है।


इससे जुडी खबर..यहाँ क्लिक करें 🔻 


Post a Comment

0 Comments