Recents in Beach


CRPF के जवानों ने बनाया जुगाड़ का एम्बुलेंस,दुर्गम स्थल पर पहुंचकर बचाई बालक की जान,एक हाथ में हथियार और दूसरे कदम IED का खतरा.....और भी बहुत कुछ......? पंहुचे


दंतेवाड़ा(पत्रवार्ता) छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में सीआरपीएफ के जवानों ने मानवता की मिसाल पेश की हैजवानों ने बीमार बच्चे को कंधे पर लादकर अस्पताल पहुँचाया जिसके बाद उस पीड़ित बच्चे का इलाज शुरू हो सका।

दरअसल सीआरपीएफ 231 वीं बटालियन के जवान कोंडसावली इलाक़े में सर्च ऑपरेशन के लिए निकले थे। इसी दौरान गुमडी गाँव में उन्हें एक बीमार बालक मिला।परिजनों ने बताया की वह काफ़ी दिनो से बीमार है। अज्ञानतावश और ग़रीबी के चलते परिजन बच्चे का इलाज नहीं करा पा रहे थे।

सीआरपीएफ के जवानों ने तय किया कि वे ही बालक को अस्पताल तक पहुँचायेंगे। परेशानी ये थी की उस जगह पर न तो एम्बुलेंस जा सकती थी और न ही बाइक। जवानों ने उलटी खाट पर ही बीमार बालक को लिटा दिया और एक लकड़ी की मदद से जुगाड़ का एम्बुलेंस बना लिया।जवान एक हाथ में हथियार और दूसरे हाथ में खाट से बंधी लकड़ी लेकर अस्पताल की ओर चल पड़े।


इस दौरान  IED का ख़तरा भी जवानों को सताने लगा था।आगे एक जवान  IED की जाँच करता हुआ आगे बढ़ता.. पीछे खाट में लेटे बीमार बालक को लेकर आगे बढ़ते रहे। 

इसी तरह जवान लगभग 5 किलोमीटर का सफ़र तय कर कैम्प पहुँचे। कैम्प में मौजूद डॉक्टर अविनाश ने बालक का उपचार शुरू कर दिया। इलाज शुरु होने से परिजनों ने रहत की सांस ली वहीँ CRPF के जवानों ने एक बार फिर से मानवता का परिचय देते हुए अपनी छवि को और मजबूत किया है।  

=============================

पूरी खबर के लिए क्लिक करें
आँध्रप्रदेश का एक ट्रक गांजा छत्तीसगढ़ में कीमत 56 लाख,क्या है पूरा मामला l

Post a Comment

0 Comments