"जूदेव लोगों के दिलों में राज करने वाले हैं-प्रबल" एक मंच पर बीजेपी के दिग्गज एकजुट,खुड़िया वासियों ने दिखाई ताकत।


By योगेश थवाईत।

जशपुर/सन्ना(पत्रवार्ता) इन दिनों जशपुर में चल रहे "जूदेव"के पोस्टर विवाद का पटाक्षेप हो गया है।सन्ना में आयोजित विधानसभा कार्यकर्ता सम्मेलन में प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने खुड़िया के लोगों को बताया कि उनके पिता स्वर्गीय दिलीप सिंह जुदेव बीजेपी के पितृ पुरुष हैं जिन्होने अपनी मेहनत से जशपुर को बीजेपी का अभेद गढ़ बनाया है,इसे बरकरार रखना हम सबकी जिम्मेदारी है।

गौरतलब है कि पाठ इलाके में बीजेपी से बगावत कर बागी प्रदीप नारायण सिंह के द्वारा चुनाव लड़े जाने से जनजातीय समाज के बीच बढ़ते असंतोष को लेकर बीजेपी के आला नेता चिंतित हैं।


प्रबल ने निर्दलीय प्रत्याशी द्वारा उनके पिता के पोस्टर का उपयोग किये जाने को लेकर इसे गलत बताया और कहा कि संगठन से बात कर इस मुद्दव पर आपत्ति दर्ज कराते हुए विधिसम्मत कार्यवाही की जाएगी।जूदेव जी हमेशा बीजेपी के थे और हमेशा रहेंगे वे सभी के दिलों में राज करते हैं।

इस बढ़ते असंतोष को देखते हुए सन्ना में आयोजित विधानसभा सम्मेलन में बीजेपी के आला नेता केंद्रीय मंत्री विष्णुदेव साय, राज्यसभा सांसद रणविजय सिंहदेव,कृष्ण कुमार राय,प्रबल प्रताप सिंह जूदेव,रायमुनी भगत,जागेश्वर भगत समेत जिले के अन्य वरिष्ठ बीजेपी नेता एक मंच पर एकमत होकर उपस्थित रहे।

कांग्रेस के उपनेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव की चुनावी सभा सरधापाठ मे होने से यहां का सियासी मिजाज बदला हुआ है वहीं सन्ना इलाके में वोटों के ध्रुवीकरण के लिए बीजेपी जोर शोर से लगी हुई है।

फिलहाल बीजेपी के नेताओं ने एक स्वर से कहा कि जिले की तीनों विधानसभा में इस बार बीजेपी की जीत सुनिश्चित है।अब देखना दिलचस्प होगा कि जनता किसे चुनती है।

उक्त कार्यक्रम में बीजेपी के वरिष्ठ नेता शंकर गुप्ता,हरिनारायण शर्मा,मुकेश शर्मा,दिलीप सिन्हा, भगवान गुप्ता,अशोक यादव,रामस्वरूप,गेंद बिहारी सिंह समेत अन्य मंडल के कार्यकर्ता व ग्रामीण उपस्थित रहे।

Comments

Popular Posts

"जशपुरिया मॉडल दिल्ली में हुई हिट",मॉडल "रेने" का वह गाँव जहाँ से शुरू हुई संघर्ष की कहानी,पत्रवार्ता की टीम पंहुची रेने के घर

BREAKING(पत्रवार्ता)शासकीय महिला कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर,छग में भी लागू होगा चाइल्ड केयर लीव,हाईकोर्ट ने दिया आदेश..

बड़ी खबर : जब उड़नदस्ता टीम ने छात्राओं के उतरवाए कपड़े...? ..और फांसी के फंदे पर झूल गई 10 वीं की छात्रा।