चुनावी समर:- प्रदेश में विधानसभा चुनाव का सबसे रोचक मुकाबला,कोटा में वोटों के ध्रुवीकरण की राजनीति शुरु...पढ़ें पूरी खबर सिर्फ पत्रवार्ता पर...


बिलासपुर(पत्रवार्ता.कॉम) आगामी विधानसभा चुनाव के नजदीक आते ही वोटों के ध्रुवीकरण की राजनीति शुरु हो गई है इसका सबसे दिलचस्प उदाहरण है बिलासपुर का कोटा विधानसभा क्षेत्र जहाँ इन दिनों हिन्दु कुलतिलक प्रबल प्रताप सिंह जूदेव आयातित धर्मों के खिलाफ जमकर बरस रहे हैं।

इस मुद्दे पर कांग्रेस नेता शैलेष पांडे ने दो टुक शब्दों में कहा कि यहाँ वोटों के ध्रुवीकरण की राजनीति नहीं चलेगी,उन्होंने बताया कि जिस राजनीती के दम पर जशपुर की सियासत पर इन्होंने कब्ज़ा जमा रखा है वे इस खयाली पुलाव से दूर रहें कि यहाँ भी उसी राजनीती से वे किला फतह कर पाएंगे

दरअसल बीजेपी प्रदेश संगठन ने कांग्रेस के परंपरागत सीट को ढहाने का जिम्मा प्रबल प्रताप सिंह जूदेव को दिया है जिसके लिए उन्होंने दौरा भी शुरू कर दिया है हांलाकि यह तय नहीं कि वे कोटा से ही विधानसभा चुनाव लड़ेंगे उन्होंने इस मुद्दे पर कहा कि संगठन जहाँ से चाहेगी वहां से वे चुनाव लड़ेंगे वे पार्टी के सच्चे सिपाही है और हिंदुत्व के रक्षक हैं यदि पार्टी नहीं चाहेगी तो वे संगठन के लिए ही काम करेंगे ।

प्रबल प्रताप ने कोटा बेलगहना के मिट्ठू नवागांव में कहा कि उनके पिता स्वर्गीय दिलीप सिंह जूदेव ने छुआछूत के खिलाफ अभियान छेड़ा था । उन्होंने बताया कि हिन्दू धर्म में चल रहे छुआछूत को हथियार बनाकर विधर्मियों द्वारा हिंदुओं को धर्मान्तरित करने की साजिश को असफल करने के लिये उनके पिता ने पैर धोकर अस्पृश्यता के विरुद्ध एक महा अभियान छेड़ा था जिसे अब वे आगे बढ़ा रहे हैं।

प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने अपने उद्बोधन में कहा की मेरे पिताजी का पुराना रिश्ता है बेलगहना से और मैं आपलोगों से मिलने आया हूँ ।आगे की कड़ी में जूदेव ने कहा की आज हमारे देश को बाहरी षड्यंत्रकारी शक्तियाँ खोखला करने और हिंदुत्व को बाँटने में लगी है। वहीँ मिशनरी पर निशाना साधते हुए खुली चुनौती दी और कहा कि धर्मान्तरण बंद करे मिशनरी अन्यथा अब संगठित हिन्दू अपने दल बल के साथ आक्रमण कर देंगे और जब हिंदुओं पर कोई संकट आएगा तो मैं प्रबलप्रताप सिंह जूदेव अपनी जान देकर हिन्दू धर्म की रक्षा करूँगा ।

प्रबल के हिंदुत्व के मुद्दे पर यहाँ की सियासत गरमा गई है कांग्रेस नेता शैलेष पांडे ने पत्रवार्ता को बताया की कोटा कांग्रेस की परंपरागत सीट है और यहाँ की जनता ने हर बार कांग्रेस पर भरोसा किया है और इस बार भी कांग्रेस को ही यहाँ की जनता नेतृत्व प्रदान करेगी।उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि कोटा ही नहीं पुरे छत्तीसगढ़ में बीजेपी वोटों का ध्रुवीकरण करने में लगी है जाति,समाज में वोटों को बांटकर जीत हासिल करना इनका मकसद है जिसमे ये कही सफल नहीं होगी।

श्री पांडे ने प्रबल पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि कोटा क्षेत्र में लगभग 50 प्रतिशत बैगा आदिवासी हैं जिन्हें लक्ष्य कर लुभाने का प्रयास किया जा रहा है।यहाँ के बैगा आदिवासियों के साथ हर वोटर का भरोसा कांग्रेस पर है जो उनके सुख दुःख में हमेशा उनके साथ है।बीजेपी आदिवासियों की आड़ में राजनैतिक रोटी सेंकती आई है इसी का परिणाम है की आज तक आदिवासियों को छत्तीसगढ़ प्रदेश के नेतृत्व का अवसर नहीं दिया गया।उन्होंने जशपुर में पहाड़ी कोरवा विशेष पिछड़ी जनजाति के दुर्दशा के बारे में बताया और कहा की आज भी जशपुर में पहाड़ी कोरवा जनजाति अभाव की जिंदगी जी रहे हैं जिनके पास मुलभुत सुविधा तक नहीं।जिनके दम पर बीजेपी नेताओं की राजनीति चमकी है जब उनकी सुध वे नेता नहीं ले सकते तो यहाँ सुध लेने का प्रश्न ही नहीं उठता ।  


Comments

Popular Posts

"जशपुरिया मॉडल दिल्ली में हुई हिट",मॉडल "रेने" का वह गाँव जहाँ से शुरू हुई संघर्ष की कहानी,पत्रवार्ता की टीम पंहुची रेने के घर

BREAKING(पत्रवार्ता)शासकीय महिला कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर,छग में भी लागू होगा चाइल्ड केयर लीव,हाईकोर्ट ने दिया आदेश..

बड़ी खबर : जब उड़नदस्ता टीम ने छात्राओं के उतरवाए कपड़े...? ..और फांसी के फंदे पर झूल गई 10 वीं की छात्रा।