... जिस जिले की सड़क ठीक नहीं उसका जिम्मेदार कौन..? बड़ा सवाल ..?

जिस जिले की सड़क ठीक नहीं उसका जिम्मेदार कौन..? बड़ा सवाल ..?


पत्थलगांव(पत्रवार्ता)सीएम आगमन को लेकर युद्धस्तर पर तैयारी की जा रही है। 20 सितम्बर कल मुख्यमंत्री का पत्थलगांव आगमन हो रहा है,यहां के शासकीय कॉलेज मेंं करीब 1 घन्ट्टा आम सभा को सम्बोधित करेंगे।

इसकी तैयारी में प्रशासन कोई कसर नहीं छोड़ रहा। लोगों के लिए लंबे समय से मुसीबत का कारण बने सड़क की समस्या को पेंच रिपेयरिंग या देखा जाये तो थूूूक पालिश कर निजात दिलाने की कोशिश की जा रही है। नगरवासियों के द्वारा लम्बे समय से पहले भी मांग हुई थी, पर तब किसी ने ध्यान नहीं दिया। अब राज्य के मुखिया आ रहे हैं, इसलिए अब सड़क में थूूूक पालिश किया जा रहा है।

नगर से गुजरने वाली कटनी गुमला एन एच 43 सड़क जिसे नगरवासियों के द्वारा वर्षो से कम से कम नगर के अंदर तो सुधारने हेतु विभाग को कई मर्तबा बोला जा चुका है, परंतु विभाग द्वारा इस मसले पर कोई ध्यान नही दिया जा रहा था। 

अब जब सीएम साहब जो आ रहे इस वजह से विभाग ने उक्त सड़क को थूक पालिस करने में पूरी ताकत झोंक अधिकारी व कर्मचारी आनन-फानन में रातो रात सड़क में थूक पालिस कर दी गई। सड़क का कार्य मात्र इंदिरा चौक से पालीडीह चौक तक खानापूर्ति या यूं कह लें कि सीएम साहब का दौरा जो है जिसके लिए बकायदा एनएच विभाग के अधिकारी सड़क पर खड़े होकर कार्य करवा रहे हैं जिन्हें इतने दिनों तक शहर के अंदर की यह विक्राल समस्या नही दिख रही थी जनता इतने दिनों से लगातार बेतहाशा धूल खाने को मजबूर है।

अब सोचा जा सकता है कि किस कदर नेताओं की आवभगत और जनता की परेशानी को अलग अलग रूप देकर प्रशासन कार्य करता है । बता दे कि यह सड़क पिछले कई महिनों से जर्जर अवस्था में थी, जिससे नगर स्थानीय निवासी काफी परेशान थे, सड़क से उड़ती धूल से राहगीर परेशान हैं, और गड्ढे में बदल चुकी सड़क पर छोटे-मोटे हादसे आए दिन होते रहते थे। 

मुख्यमंत्री के आने की बात से एक ही रोड में रातो रात सड़क के गड्ढे भरवाए गये और पिचिंग कर दी गई। वही नगर के तीनों मुख्य मार्ग में बड़े बड़े गढ्ढे मौजूद हैं। इस मामले पर शहर के कई नागरिकों ने कहा कि काश मुख्यमंत्री अक्सर आते रहें तो खस्ताहाल सड़कों से निजात मिल जाती। 

Post a comment

0 Comments