... Big ब्रेकिंग पत्रवार्ता : "डॉ ने दो मासूमों के सिर से मां का साया छीन लिया...? देर रात लगे नारे "जिला डॉक्टर हत्यारा है"..? "जिला अस्पताल में महिला की मौत पर मचा बवाल"डॉ अग्रवाल पर नशे की हालत में ईलाज करने समेत लापरवाही का लगा आरोप,दोषी डॉक्टर के विरुद्ध कार्यवाही व मुआवजे की मांग को लेकर परिजन बैठे धरने पर,देर रात तहलीलदार,एसडीएम,SDOP पंहुचे मौके पर,अब तक नहीं हुआ मृतिका का पोस्टमार्टम,डॉक्टर पर नहीं हुई कोई कार्यवाही...? कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने परिजनों को दिया जांच कार्यवाही का भरोसा ...

प्रवेश प्रारम्भ

प्रवेश प्रारम्भ

आपके पास हो कोई खबर तो भेजें 9424187187 पर

Big ब्रेकिंग पत्रवार्ता : "डॉ ने दो मासूमों के सिर से मां का साया छीन लिया...? देर रात लगे नारे "जिला डॉक्टर हत्यारा है"..? "जिला अस्पताल में महिला की मौत पर मचा बवाल"डॉ अग्रवाल पर नशे की हालत में ईलाज करने समेत लापरवाही का लगा आरोप,दोषी डॉक्टर के विरुद्ध कार्यवाही व मुआवजे की मांग को लेकर परिजन बैठे धरने पर,देर रात तहलीलदार,एसडीएम,SDOP पंहुचे मौके पर,अब तक नहीं हुआ मृतिका का पोस्टमार्टम,डॉक्टर पर नहीं हुई कोई कार्यवाही...? कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने परिजनों को दिया जांच कार्यवाही का भरोसा ...

 


जशपुर, टीम पत्रवार्ता,04 अगस्त 2022

BY योगेश थवाईत

जिला अस्पताल जशपुर में उस वक्त बड़ा बवाल मच गया जब बुखार से पीड़ित महिला की ईलाज के दौरान मौत हो गई।मृतक महिला के दो छोटे बच्चे हैं जिनके सिर से मां का साया हट गया।परिजनों ने डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए देर रात जिला अस्पताल का घेराव कर दिया और डॉक्टर पर कार्यवाही व मुआवजे की मांग करने लगे।देर रात तहसीलदार,एसडीएम व एसडीओपी मौके पर पंहुचे और कलेक्टर से परिजनों की बात कराने के बाद मामला शांत हुआ।हांलाकि मृतिका का अब तक पोस्टमार्टम नहीं हो पाया है और न ही डॉक्टर के विरुद्ध कोई जांच टीम बनी है।परिजन लगातार जांच कार्यवाही व मुआवजे की मांग कर रहे हैं।

देखिए परिजनों ने क्या कहा

भागलपुर निवासी मृतिका प्रभा नायक (22) पति अविनाश नायक को बुधवार को सुबह 10 बजे के आसपास जिला अस्पताल के जनरल वार्ड में बुखार की शिकायत में भर्ती किया गया था।जिसमें मलेरिया टायफाईड की जांच में रिपोर्ट नेगेटिव आया।इस दौरान ट्रीटमेंट शुरु हो चुका था।रात्रिकालीन ड्यूटी में पंहुचे डॉ अग्रवाल के कहने पर नर्स ने इंजेक्शन दिया जिसके बाद महिला की हालत बिगड़ने लगी घबराहट होने लगी और सांस लेने में मृतिका को दिक्कत होने लगी।परिजनों ने इसकी सूचना तत्काल डॉ अग्रवाल को दी जिसपर उन्होंने परिजनों को डांट कर भगा दिया और मरीज को देखने नहीं पंहुचे।जिसके लगभग आधा घंटे बाद महिला की मौत हो गई।

Video

महिला की मौत के बाद परिजन आश्चर्य चकित थे कि जो महिला बिल्कुल ठीक थी घर के सारा काम करने के बाद खुद अस्पताल आई थी और एक पल में उसकी मौत कैसे हो गई।परिजनों ने इसकी सूचना अपने अन्य रिश्तेदारों और भागलपुर के स्थानीय निवासियों को दिया जिसके बाद बड़ी संख्या में स्थानीय ग्रामीण जिला अस्पताल पंहुच गए और डॉक्टर पर कार्याही व मुआवजे की मांग को लेकर नारेबाजी करते हुए जिला अस्पताल के घेराव कर दिया।इस दौरान भाजयुमो कार्यकर्ता भी वहां पंहुच गए और मृतिका के परिजनों के साथ उनकी मांग को जायज ठहराते हुए जांच कार्यवाही की मांग करने लगे।

Video

रात्रि साढ़े 10 बजे के आसपास बड़ी संख्या में लोग जिला अस्पताल पंहुच चुके थे।यहां परिजनों ने डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने कई बार डॉक्टर अग्रवाल को महिला के गम्भीर होने की सूचना दी इसके बावजूद वे महिला के ईलाज के लिए नहीँ पंहुचे।परिजनों ने कहा कि महिला को कौन सा इंजेक्शन लगाया गया,जो महिला ठीक थी जिसे बस बुखार की शिकायत थी उसकी अचानक कैसे मौत हो गई।हांलाकि डॉ अग्रवाल ने महिला के चिकित्सा के बाद तत्काल उसे आईसीयू में शिफ्ट करने के लिए लिखा था वहां उपस्थित नर्सों के द्वारा महिला को आईसीयू में शिफ्ट नहीं किया गया।बड़ा सवाल यह भी है कि जब महिला की हालत गंभीर थी तो डॉ अग्रवाल ने अपने सामने महिला को आईसीयू में शिफ्ट क्यों नहीं कराया।

मामले में लगभग 4 घण्टों तक परिजन मुआवजे के साथ जांच कार्यवाही की मांग को लेकर जिला अस्पताल के सामने धरने पर डटे रहे।जिसके बाद जशपुर तहसीलदार विकास जिंदल, एसडीएम व एसडीओपी राजेन्द्र सिंह परिहार ने आकर परिजनों को समझाईश दी और कार्यवाही का आश्वासन दिया।परिजन इनकी बात मानने को तैयार नहीं थे।परिजन तत्काल जांच की मांग कर रहे थे।परिजनों के साथ उपस्थित देवधन नायक ने डॉ पर शराब के नशे में होने का आरोप लगाते हुए मेडिकल परीक्षण तक कराने की मांग कर डाली पर प्रशासन डॉ को लेकर बचाव के पक्ष में दिखा और डॉ का मेडिकल परीक्षण नहीँ कराया गया।

जिसके बाद परिजनों के साथ संघर्ष में साथ दे रहे भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने तहसीलदार व एसडीएम से कहा कि कलेक्टर से वे बात कराएं जिसपर स्थानीय प्रशासन ने जिला कलेक्टर रितेश अग्रवाल से फोन पर परिजनों की बात कराई।कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने परिजनों को जांच व कार्यवाही का भरोसा दिलाया है।जिसके बाद धरना समाप्त किया गया।

आरोपों से घिरे डॉक्टर अग्रवाल ने बताया कि पेशेंट सीरियस थी लिहाजा उन्होंने फिजिशियन बुलाने समेत आईसीयू में शिफ्ट करने के लिए प्रिस्क्राइब किया था।वहीं परिजनों का कहना है कि बस कागजों में लिखा गया जबकि महिला को आईसीयू में। नहीं भेजा गया यह बड़ी लापरवाही है।

हांलाकि परिजनों का कहना है कि जब तक निष्पक्ष जांच कार्यवाही नहीं होती है तब तक वे अपना प्रदर्शन जारी रखेंगे।महिला की मौत के बाद स्थानीय परिजनों के साथ मौके पर भाजयुमो कार्यकर्ता अमन शर्मा,विक्रांत सिंह,देवधन नायक,निखिल गुप्ता,राहुल गुप्ता,कृष्णा गुप्ता समेत अन्य ग्रामीण उपस्थित थे।जिनकी मांग है कि तत्काल दोषी डॉक्टर पर कार्यवाही करते हुए मृतिका के परिवार वालों को मुआवजा दिया जाए।

Post a Comment

0 Comments