... राजनीति : "मंत्री अमरजीत भगत " के बेटे द्वारा जमीन खरीदी मामले में " सियासत " उफान पर "प्रबल प्रताप" के आरोपों को "दिनेश कोरवा" ने किया ख़ारिज,कैमरे के सामने आकर बीजेपी नेता,पूर्व मंत्री समेत जमीन दलालों पर लगाए ये गंभीर आरोप.....देखिये EXCLUSIVE VIDEO.....

राजनीति : "मंत्री अमरजीत भगत " के बेटे द्वारा जमीन खरीदी मामले में " सियासत " उफान पर "प्रबल प्रताप" के आरोपों को "दिनेश कोरवा" ने किया ख़ारिज,कैमरे के सामने आकर बीजेपी नेता,पूर्व मंत्री समेत जमीन दलालों पर लगाए ये गंभीर आरोप.....देखिये EXCLUSIVE VIDEO.....


जशपुर,टीम पत्रवार्ता,15 मार्च 2021

BY योगेश थवाईत 

छत्तीसगढ़ सरकार के मंत्री अमरजीत भगत के बेटे द्वारा जशपुर में पहाड़ी कोरवा आदिवासियों की जमीन रजिस्ट्री कराने के बाद  अब इस मामले में  जमकर राजनीति शुरू हो गई है।मामले में भाजपा ने सांसद गोमती साय की अध्यक्षता में इस मामले की जांच कराई थी जिसमे जाँच दल ने अपनी रिपोर्ट में पीड़ित पहाड़ी कोरवाओं की शिकायत को सही पाते हुए,प्रदेश सरकार से मंत्री को बर्खास्त किए जाने की मांग की थी।

देखिये प्रबल ने क्या कहा था 


इस बार बीजेपी के नेता प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने जमीन मामले में कांग्रेस पर गंभीर आरोप लगाते हुए जिस दिनेश कोरवा की अपहरण की बात कही थी उसे जशपुर की कुनकुरी पुलिस ने ढूंढ निकाला है...और अब दिनेश कोरवा खुद बता रहा है कि उसका अपहरण नहीं हुआ बल्कि उसे  जमीन दलालों और अपने परिवार वालों से जान का खतरा था जिसके कारण वह अपने दोस्त के यहाँ चला गया था..... दिनेश कोरवा ने  बीजेपी नेताओं पर मामले में राजनीति करने का भी गंभीर आरोप भी  लगाया है।  

गौरतलब है कि पहाड़ी कोरवाओं के जमीन के सौदे से जुड़ा यह मामला पिछले माह सामने आया था।जशपुर जिले के मनोरा तहसील के कुछ कोरवाओं ने कलेक्टर और एसपी से किए गए शिकायत में प्रदेश के खाद्य और जिले के प्रभारी मंत्री अमरजीत भगत के बेटे पर फर्जी तरीके से 24 एकड़ जमीन रजिस्ट्री करने का आरोप लगाया था।


शिकायत में उन्होनें पंजीकृत जमीन को वापस दिलाने की गुहार भी लगाई थी।मामला उजागर होते ही जिले में कांग्रेस और भाजपा के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी था।इस बीच जमीन के सौदेबाजी में अहम् भूमिका निभाने वाले दिनेश कोरवा के अपहरण व् लापता  होने की खबर से पुलिस पर सवालिया निशान खड़े होने शुरू हो गए थे वहीँ बीजेपी ने इस मुद्दे पर राजनीति शुरू कर दी थी।बीजेपी के नेता प्रबल प्रताप सिंह जूदेव पीड़ित परिवार से मिलने उनके गाँव पंहुचे थे और उन्होंने कांग्रेस सरकार पर ही अपहरण का आरोप लगा दिया था। 

इधर दिनेश कोरवा के अपहरण व लापता होने की खबर से मचे सियासी तूफ़ान के बाद पुलिस भी लगातार दिनेश कोरवा की छानबीन कर रही थी।पुलिस को जानकारी मिली की वह काम की तलाश में रायपुर चला गया था और फिर वहां काम नहीं मिला तो वह अपने दोस्त के यहाँ कुनकुरी में आकर रह रहा था..और काम की तलाश में फिर से कहीं बाहर जाने वाला था तभी पुलिस ने उसे ढून्ढ लिया....

देखिये दिनेश ने क्या कहा 

पुलिस के पास दिनेश कोरवा ने जो बयान दिया उसमे उसने चौकाने वाले खुलासे किये हैं....दिनेश कोरवा ने बीजेपी नेता प्रबल प्रताप जूदेव,कृष्णा राय समेत पूर्व मंत्री गणेश राम भगत पर राजनीति करने का आरोप लगाया है और जमीन दलाओं के साथ अपने परिवार वालों से उसने अपनी जान का खतरा भी बताया है....फिलहाल पुलिस पुरे मामले की जाँच कर रही है वहीँ दिनेश कोरवा के मिलने के बाद बीजेपी बैकफुट पर आ गई है.....और जिले में एक बार फिर से  सियासी तूफ़ान उफान पर आ गया है ....

Post a comment

0 Comments