... ब्रेकिंग पत्रवार्ता : "जशपुर" के इस "दारु दूकान " में अनोखा गोरखधंधा,इस मिलीभगत को आबकारी विभाग का खुला संरक्षण,बाकायदा महीने की पूरी सेटिंग का पूरा सच सिर्फ पत्रवार्ता पर...?

ब्रेकिंग पत्रवार्ता : "जशपुर" के इस "दारु दूकान " में अनोखा गोरखधंधा,इस मिलीभगत को आबकारी विभाग का खुला संरक्षण,बाकायदा महीने की पूरी सेटिंग का पूरा सच सिर्फ पत्रवार्ता पर...?


बगीचा का अनोखा शराब दुकान जहाँ चखना भी है और बैठने की जगह भी,अंग्रेजी शराब दुकान के कर्मचारियों की मिलीभगत का एक अनोखा खेल

जशपुर,टीम पत्रवार्ता,21 फरवरी 2021

BY योगेश थवाईत

एक ओर जहाँ सरकार अवैध शराब की बिक्री को लेकर काफी सजग हैं। वहीँ दूसरी ओर बगीचा के अंग्रेजी शराब दुकान के ठीक सामने विभाग के नए चखना दुकान में सारे नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए खुलेआम शराब पिलाने का काम जारी है।

आपको बता दें कि जशपुर जिले के किसी भी अंग्रेजी शराब दुकान के सामने नियमानुसार चखना दुकान नहीं है वहीं बगीचा में आबकारी नियमों की धज्जियां खुद विभाग के लोग ही उड़ाते दिख रहे हैं।जब कोई पूछता है तो परमिशन लेकर दुकान संचालन की बात कही जाती है।अब ये अलग बात है कि महीना लेकर परमिशन का खेल कागजों में कहीं नहीं दिखता।

अब आपको सैर कराते है जशपुर जिले के बगीचा नगर पंचायत के अंग्रेजी शराब दुकान का जो डोंडकी नदी के किनारे स्थित है।यहां की सुरम्य वादियों के बीच यदि बैठकी की व्यवस्था मिल जाए तो शराबियों के लिए इससे अच्छी बात और क्या हो सकती है।

इसी सोच के साथ शराब दुकान से महज पचास कदम की दूरी पर चखना दुकान का भव्य शुभारंभ करीब 10 दिन पहले किया गया है।आप इसे चखना दुकान ना बोलकर बार या मदिरालय भी बोल सकते हैं।क्योकि यहां शराबियों को उस प्रकार की सारी सुविधाएं मुहैया कराई जा रही हैं।

अंग्रेजी शराब की दुकान से शराब लीजिये एवं 10 कदम की दूरी में जाकर चखना दुकान में आराम से मदिरापान का रसास्वादन कीजिये,वो भी निर्भीक होकर,कोलाहल कीजिये, अपशब्दों का खुला प्रयोग किजिए, एक से दो घण्टे तक मदिरा का रसास्वादन कीजिये,जब नशा का खुमार चढ़ जाए तो वहीँ मदिरा की खाली बोतल को तोड़िये,फिर अंगूर की बेटी का नशा जब खुमारी पे आ जाये तो वहाँ विश्राम की सुविधा भी है।

ये तो है मुख्य मार्ग से लगे अंग्रेजी शराब दुकान के समीप चखना दुकान की हकीकत और ये गोरखधंधा शराब दुकान के कर्मचारियों एवं सेल्समैन की सह पे ही किया जा रहा हैं, क्योकि शराब दुकान के बगल में जो शराब दुकान के कर्मचारी जिस कमरे में अपना खाना बनाकर खाते हैं,उसी कमरे मे शराब दुकान बंद होने के बाद चखना दुकान का सामान वहीं रखा जाता है, फिर वो कमरा अंडों ,मछली,मुर्गा,चना,डिस्पोजल से सुसज्जित हो जाता है।

छत्तीसगढ़ शासन के नियमानुसार शराब दुकान के 100 मीटर की दूरी में कोई भी चखना दुकान का संचालन पूर्ण रूप से प्रतिबंधित हैं।कुछ दिन पहले विवादों में रहने वाली महिला अधिकारी ने इसी नियम का हवाला देकर यहां से एक चखना दुकान भी हटवाया था।

वहीँ बगीचा के अंगेजी शराब दुकान के बगल में चखना दुकान का ये खेल शासन के नियमो को अंगूठा दिखा रहा है, मजे की बात तो ये है कि आबकारी विभाग को सब कुछ मालूम होते हुए भी, चुप्पी साधना आबकारी विभाग के क्रियाकलापों पर प्रश्नचिह्न लगा रहा है।

हांलाकि आबकारी नियमों से ऊपर भी प्रशासनिक व्यवस्था बनी हुई है लिहाजा स्थानीय प्रशासन कार्यवाही की बात कह रहा है।आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शराब की अधिक बिक्री के लिए चखना दुकानों का टेंडर भी किया जा रहा है।वहीं कई स्थानों पर ऊपरी तौर से सेटिंग में चखना दुकान खुलवाया जा रहा है।अधिकारी दबी जुबान से ऊपर के प्रेशर की बात भी करते हैं।हांलाकि यहां के चखना दुकान का कोई टेंडर नहीं हुआ।

"नियम विरुद्ध चखना दुकान खोले जाने को लेकर जानकारी मिली है,नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।" 

नीलेश केरकेट्टा,सीएमओ नगर पंचायत बगीचा।

"आबकारी नियमों के अनुसार सार्वजनिक स्थलों पर शराब का सेवन पूर्णतः प्रतिबंधित है।यदि नियम विरुद्ध चखना दुकान खोलकर शराब पिलाने का कार्य किया जा रहा है तो संचालकों पर तत्काल कड़ी कार्यवाही की जाएगी।" 

भास्कर शर्मा,थाना प्रभारी बगीचा।

Post a comment

0 Comments