... BiG ब्रेकिंग फर्जीवाड़ा : "प्रबंधक" ने बनाया "शिक्षा एवं सहकारिता मंत्री "प्रेमसाय सिंह टेकाम" का "फर्जी लेटरपेड" अपनी नौकरी बचाने का अपनाया ये तरीका,प्रदेश सचिव "शैलेन्द्र प्रताप सिंह' की शिकायत पर पुलिस ने प्रबंधक के खिलाफ दर्ज किया मामला।

BiG ब्रेकिंग फर्जीवाड़ा : "प्रबंधक" ने बनाया "शिक्षा एवं सहकारिता मंत्री "प्रेमसाय सिंह टेकाम" का "फर्जी लेटरपेड" अपनी नौकरी बचाने का अपनाया ये तरीका,प्रदेश सचिव "शैलेन्द्र प्रताप सिंह' की शिकायत पर पुलिस ने प्रबंधक के खिलाफ दर्ज किया मामला।

 


अम्बिकापुर,टीम पत्रवार्ता,20 जनवरी 20201

By योगेश थवाईत

सरगुजा के कुन्नी सहकारी समिति के पूर्व प्रबंधक राजीव वर्मा द्वारा प्रदेश के शिक्षा सहकारिता मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम के फर्जी लेटरपेड में फर्जी हस्ताक्षर कर स्वयं को भ्रष्टाचार के आरोपों से बरी कर पुनः पदभार दिलाने का बड़ा मामला सामने आया है।मामले में मंत्री द्वारा फर्जी लेटरपेड की पुष्टि के बाद कांग्रेस के प्रदेश सचिव शैलेन्द्र प्रताप सिंह ने आरोपी पूर्व प्रबंधक पर एफआईआर दर्ज कराया है।

फर्जी लेटरपेड

उल्लेखनीय है कि राजीव वर्मा उर्फ राजू वर्मा जो पूर्व में कुन्नी सहकारी समिति में प्रबंधक था जिसे भ्रष्टाचार के आरोप में पूर्व में बर्खास्त किया जा चुका है एवं उसकी जांच भी लंबित है।इस बीच राजीव वर्मा ने शिक्षा एवं सहकारिता मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम का फर्जी लेटरपेड बनाकर उसमें मंत्री का फर्जी हस्ताक्षर कर पंजीयक सहकारी संस्थाएं अम्बिकापुर में जमा किया था।जिसमें यह उल्लेख था कि राजीव वर्मा पर लगाए गए आरोपों का निराकरण कर उन्हें तत्काल पदभार ग्रहण कराएं।

उक्त मामले में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव शैलेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि उन्होंने सूचना के अधिकार के तहत फर्जी लेटर पेड समेत अन्य दस्तावेज की प्रमाणित छायाप्रति उपपंजीयक सहकारी संस्थाएं अम्बिकापुर से प्राप्त किया था।प्रबंधक राजीव वर्मा के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों पर 3 सदस्यीय जांच दल का भी गठन किया गया है।

संबंधित विभाग ने जब शिक्षा सहकारिता मंत्री से जब इस मामले की जानकारी ली तो उन्होंने ऐसे किसी भी पत्र को जारी करने से इनकार किया और अपने निजी सचिव को मामले की जांच के लिए आदेशित किया जिसमें यह बात सामने आई कि राजीव वर्मा को पुनः पदभार देने संबंधी लेटर पेड पूर्णतः फर्जी है जिसमें मंत्री जी का हस्ताक्षर भी फर्जी है।

प्रदेश सचिव शैलेन्द्र प्रताप सिंह ने स्वयं आकर कोतवाली अम्बिकापुर में राजीव वर्मा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया।कोतवाली अम्बिकापुर में राजीव वर्मा के खिलाफ आईपीसी की धारा 409,420,467,468,471 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर मामले की जांच की जा रही है।वहीं इसमें और भी लोगों के नाम सामने आ रहे हैं जिसमें पुलिस अन्य संलिप्त लोगों पर भी कार्यवाही की तैयारी कर रही है।


Post a comment

0 Comments