... BREAKING पत्रवार्ता : "सैलाब" का कहर,किसानों की सैकडों एकड़ फसल "बरबाद" किसानों का दर्द "साहब! "अब तो भूखों मरने की नौबत आ गई..."

Recents in Beach


BREAKING पत्रवार्ता : "सैलाब" का कहर,किसानों की सैकडों एकड़ फसल "बरबाद" किसानों का दर्द "साहब! "अब तो भूखों मरने की नौबत आ गई..."






जशपुर 23 अगस्त,पत्रवार्ता By योगेश थवाईत

जशपुर के बगीचा तहसील अंतर्गत बेतरा गांव में बारिश का कहर इस कदर बरपा कि किसानों की सैकड़ों एकड़ फसल रातोंरात चौपट हो गई वहीं कई खेतों में बाढ़ का मलबा जमा हो गया।

किसानों ने पत्रवार्ता से अपना दर्द बयां करते हुए बताया कि   गुरुवार शाम को हुई लगातार बारिश से पहाड़ का पानी बेतरा के मुर्गीकोना नाले में उतर गया।जिसके कारण नाले के आसपास के खेत जलमग्न हो गए।


देर रात बरबादी का आलम देखते ही किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें खींच गईं।सुबह जब किसान अपने खेतों पर पंहुचे तो उनके सामने फसल नुकसान के आंकलन के अलावा कुछ नहीं बचा था।


बगीचा के बेतरा,जामपानी व मुर्गीकोना के किसानों ने बताया कि इस साल कम बारिश के कारण देरी से धान की फसल जैसे तैसे कर के लगाए थे।बीती रात हुई बारिश के कारण पहाड़ी नाले में पानी उतरने से बाढ़ की स्थिति निर्मित हो गई जिसके कारण खेतों में लगी धान की फसल  बरबाद हो गई।


बेतरा गांव के किसानों ने पत्रवार्ता से चर्चा में बताया कि राजकुमार,शूद्रो,पदु,सेदम,परमेश्वर,जाकिर हुसैन,गणेश, देवाधि,शंकर,मसि,शनि,रफेल,गौतम,प्रमोद,जगरनाथ,निता,उग्रसेन,भक्ति,जीवधन,पिछरु,निरंजन,लीला,कुंदो,गणेश,संजय,रामकुमार,पास्कल समेत लगभग 30 किसानों की सैकडों एकड़ फसल बरबाद हो गई है।वहीं कई किसानों के खेतों की मेड़ टूट गई है तो कई खेतों में बाढ़ का मलबा जमा हो गया है।

"फसल नुकसान का जायजा लेकर मुआवजा प्रकरण तैयार कराया जाएगा,गांव में टीम भेजी जा रही है।"

रवि मित्तल,एसडीएम बगीचा

Post a Comment

0 Comments