... ब्रेकिंग पत्रवार्ता :- मृत पहाड़ी कोरवाओं के नाम पर पंचायत के खाते से वृद्धा पेंशन की राशि आहरित,सरपंच ने सचिव पर लगाया गंभीर आरोप,आला अधिकारियों से मामले की शिकायत के बावजूद सचिव पर कोई कार्रवाई नहीं....?

ब्रेकिंग पत्रवार्ता :- मृत पहाड़ी कोरवाओं के नाम पर पंचायत के खाते से वृद्धा पेंशन की राशि आहरित,सरपंच ने सचिव पर लगाया गंभीर आरोप,आला अधिकारियों से मामले की शिकायत के बावजूद सचिव पर कोई कार्रवाई नहीं....?

===========::============


जशपुर(पत्रवार्ता) एक ओर प्रदेश की संजीदा सरकार जहां वृद्ध व असहाय लोगों के लिए तमाम जनकल्याणकारी योजनाएं संचालित कर रही है वहीं दूसरी ओर जशपुर जिले में मृतकों के नाम पर पंचायत सचिव द्वारा वृद्धा पेंशन की राशि आहरित किये जाने का मामला सामने आया है।

मामला बेहद संवेदनशील है जो जशपुर के बगीचा जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत पंडरापाठ का है।जहाँ पदस्थ सचिव व्यासमुनी यादव पर सरपंच जसिंता ने कई गंभीर आरोप लगाते हुए आला अधिकारियों से मामले की शिकायत करते हुए सचिव पर कार्रवाई  की मांग की है।

मृत पहाड़ी कोरवाओं के नाम पर निकाली राशि 
ग्राम पंचायत पंडरापाठ की महिला सरपंच जसिंता द्वारा अनुविभागीय अधिकारी बगीचा समेत जिला सीईओ जिला पंचायत जशपुर से शिकायत की गई है जिसमें बताया गया है कि सचिव द्वारा मृत व्यक्तियों सुखु पहाड़ी पिता बिशुन,हलकी पिता मग्दयाल,ढेलकी पिता गुलाब व् पीडिया पिता पिछारू के नाम से पेंशन की राशि का आहरण किया गया है।सरपंच द्वारा बताया गया कि सितम्बर से दिसंबर 2018 की पेंशन राशि का आहरण किया गया है।

सचिव ने किया गुमराह 

सरपंच ने बताया कि सचिव द्वारा उन्हें भ्रम में रखते हुए चेक में दस्तखत कराया गया और राशि आहरित की गई। वहीँ पेंशन धारियों की सूची मांगे जाने पर सचिव द्वारा सूची प्रदान नहीं की गई।

मामले में जब सरपंच द्वारा सचिव व्यासमुनी से रजिस्टर की जानकारी मांगी गई तो सचिव ने उसे दिखने से इनकार कर दिया और जातिगत गाली गलौज करने लगा।पंडरापाठ चौकी में किये गए शिकायत आवेदन में उल्लेख किया गया है कि आए दिन सचिव द्वारा अपने करीबियों को पंचायत भवन में बैठाकर उन्हें प्रताड़ित किया जाता है व सरपंच की बैबातों को सचिव द्वारा अनदेखा किया जाता है।

पुनः सचिव ने किया राशि निकालने का प्रयास 

एक बार मृत व्यक्तियों के नाम से पेंशन की राशि निकाले जाने के बाद सचिव द्वारा फिर जनवरी से मई 2019 के पांच महीनों की पेंशन राशि आहरित करने के लिए सरपंच के समक्ष 8750 रु का चेक प्रस्तुत किया गया जिसपर सरपंच द्वारा नाराजगी जाहिर करते हुए मृत व्यक्तियों की राशि काटकर चेक प्रस्तुत करने को कहा गया और सरपंच ने इस बार चेक पर दस्तखत नहीं किये इसी प्रकार सचिव द्वारा अपने नाम का 55650 रूपए का चेक फिर से प्रस्तुत किया गया जिसपर सरपंच ने हस्ताक्षर नहीं किया।ऐसे कई चेक सरपंच के पास मौजूद हैं जिनमें सचिव ने मनमाने तरीके से सरपंच से हस्ताक्षर कराना चाहा जिसपर सरपंच ने हस्ताक्षर नहीं किया  

माह जनवरी से मार्च 2019 तक वृद्वा पेंशन,मुख्यमंन्नी पेंशन,विधवा पेंशन,सामाजिक सुरक्षा पेंशन व सुखद सहारा के कुछ हितग्राहियों की राशि हितग्राहियों के खाते में जमा की गई है वहीं शेष राशि ग्राम पंचायत के खाते में जमा कर आहरित किया गया है।

सचिव की मनमानी से हो रही परेशानी 

ग्राम पंचायत पंडरापाठ के सचिव व्यासमुनी यादव को सरपंच द्वारा कई बार बोला गया कि ग्राम पंचायत को पेंशन की प्राप्त राशि जीवित हितग्राहियों को ग्राम पंचायत से चेक जारी कर राशि आहरण के लिए पंचायत प्रस्ताव एवं चेक जारी कर मेरे समक्ष प्रस्तुत करें ताकि पेंशन की राशि का भुगतान किया जा सके।जिसमें पेंशन भुगतान के लिए ग्राम पंचायत बैठक में 12 मार्च व 15 जून 2019 को प्रस्ताव पारित किया गया है।इसके बावजूद सचिव के द्वारा सभी प्रस्ताव मनमाने रूप से काट दिया गया और मनमाने तरीके से पैसे का आहरण किया गया है सरपंच ने सचिव से उक्त पेंशन राशि की वसूली के साथ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।


"मामले की जाँच की जा रही है,जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी"
 आरएन पाण्डेय,एसडीएम बगीचा  

=============================

Post a Comment

0 Comments