... ACTION :-"विधायक की दो टूक" अंदर कराने वाले अधिकारी सम्हल जाएं,ग्रामीणों को परेशान किया तो खैर नहीं।दोषियों पर होगी कड़ी कार्रवाई-यूडी मिंज,बिजली अव्यवस्था पर भड़के विधायक।

ACTION :-"विधायक की दो टूक" अंदर कराने वाले अधिकारी सम्हल जाएं,ग्रामीणों को परेशान किया तो खैर नहीं।दोषियों पर होगी कड़ी कार्रवाई-यूडी मिंज,बिजली अव्यवस्था पर भड़के विधायक।


जशपुर(पत्रवार्ता)कुनकुरी विधायक यूडी मिंज ने बिजली विभाग के अधिकारी कर्मचारियों द्वारा ग्रामीणों को जबरन थाने में बैठाए जाने के मामले में कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए दोषियों पर सख्त कार्रवाई की बात कही है।

पत्रवार्ता की खबर पर विधायक यूडी मिंज ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए बताया कि ऐसी घटना की पुनरावृत्ति न हो इसके लिये दोषियों पर कार्रवाई के लिए उनके द्वारा पहल की जा रही है।उन्होंने फोन पर तत्काल ईई से बात कर मामले की जांच कर सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया है।

उन्होंने बताया की प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री भुपेश बघेल विद्युत व्यवस्था दुरुस्त रखने के लिए लगातार लापरवाह अधिकारियों पर कार्रवाई कर रहे हैं।ग्रामीणों के साथ बुरा बर्ताव वे कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे।

क्या था मामला ..?

बिजली जुड़वाने की अदावत करना दो युवकों को महंगा पड़ गया।युवकों का दोष बस इतना था कि उन्होंने बिजली विभाग के कर्मचारियों को अपने गांव की बिजली चालू करने की मांग की थी।

मामला है बगीचा जनपद के पण्ड्रापाठ का जहां नवापारा व जाड़ाकाेना बस्ती में पिछले 6 दिन से बिजली नहीं थी। आज सुबह ग्रामीणाें ने जब बिजली लाने की पहल शुरु की तो गांव के दो युवक शिवशम्भु यादव व जितेन्द्र यादव पण्ड्रापाठ पावर हाऊस गये।जहां बिजली कर्मचारियों काे बताया कि उनके इलाके में 6 दिनों से लाईट नहीं है।उन्होंने लाईट बनाने की मांग की थी।

इतना सुनते ही बिजली कर्मचारी तैश में आ गए और कहा हम लाेग अभी साे रहे हैं और जब हमारे अधिकारी हमें आदेश करेंगें तब हम लाईट चालु करेंगें।ज्यादा बाेलाेगे ताे हमारे अधिकारी तुम लाेगों काे अन्दर करा देंगें।

अंदर कराने की बात कहते ही उन्होंने विभाग के जेई को फोन कर दिया और उन दाेनों ग्रामीणाें काे जेई के कहने पर सुबह 9 बजे से 12 बजे तक पण्ड्रापाठ पुलिस चाैकी में जबरन बैठा दिया गया था। 

जब ग्रामीणाें काे पता चला कि कुछ लड़काें काे पुलिस चाैकी में बैठाया गया है तब कुछ ग्रामीण चाैकी पंहुच गये और ग्रामीणाें की पहल पर दाेनाे लड़काे काे छुडा़या गया।

"मामला बेहद गंभीर है,बिजली सुधारने की मांग करने पर युवकों को थाना में बैठना बिल्कुल गलत है।मामले में ईई को जांच कर कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया गया है।"
यूडी मिंज,विधायक कुनकुरी

Post a Comment

0 Comments