Recents in Beach


मिशन 65 :- "गणेश राम भगत" पर केन्द्रीय संगठन की नजर,पूर्व मंत्री की घरवापसी से बीजेपी को 6 से अधिक सीटों का फायदा ..?



मिशन 65  :- "गणेश राम भगत" पर केन्द्रीय संगठन की नजर,पूर्व मंत्री की घरवापसी से बीजेपी को 6 से अधिक सीटों का फायदा ..?

कयासों पर जल्द लग सकता है विराम 




जशपुर 14 अक्टूबर 2018 (योगेश थवाईत,पत्रवार्ता ) जब बात हो सियासत की तो हर हाल में "जीत" का एकमात्र लक्ष्य रखने वाले राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह जिरह की जद तक हर संभव प्रयास करते हैं और इसके लिए छत्तीसगढ़ में सौदान सिंह को मिशन 65 प्लस की जमीन तैयार करने का लक्ष्य दिया गया है 

आपको बता दें कि आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर केन्द्रीय नेतृत्व द्वारा हर किसी नए पुराने कार्यकर्ताओं को महत्त्व दिया जा रहा है और सबसे अहम् बात ये कि "जीत" सुनिश्चित करने के लिए फिर से पुराने जमीनी नेताओं को पार्टी से जोड़ने का काम शुरु कर दिया है

इसी कड़ी में जशपुर के आदिवासी नेता पूर्व मंत्री गणेश राम भगत पर संघ समेत वनवासी कल्याण आश्रम की नजरें टिकी हुई हैं।स्थानीय नेताओं की बात करें तो उनकी सोच जशपुर की 3 विधानसभा सीट जशपुर,कुनकुरी,पत्थलगाँव तक सीमित है पर 


संघ के रणनीतिकार जिस समीकरण 
को लेकर पूर्व मंत्री गणेश राम भगत 
की घरवापसी के लिए प्रयासरत हैं 
उससे न केवल जशपुर की तीन 
सीट बीजेपी के खाते में आएगी 
बल्कि सरगुजा से लेकर बस्तर 
तक की आधा दर्जन से अधिक 
सीटों पर बीजेपी को इस 
आदिवासी नेता से 
फायदा मिलेगा

उल्लेखनीय है पूर्व मंत्री पिछले 10 वर्षों से जनजातीय सुरक्षा मंच के बैनर तले जनजातीय समाज के बीच अपनी पैठ बनाने में सफल हुए हैं न केवल जशपुर बल्कि कुनकुरी,पत्थलगाँव,सीतापुर,लुन्ड्रा,सामरी,सरगुजा में जनजातीय समाज को एक सूत्र में पिरोने का कार्य इन्होने बखूबी किया है

जनजातीय समुदाय के बीच अच्छी पकड़ होने के कारण ऐसे जमीनी नेता पर बीजेपी संगठन की नजर बनी हुई है लिहाजा संघ एवं वनवासी कल्याण आश्रम द्वारा पहले ही पूर्व मंत्री गणेश राम भगत की वापसी को लेकर केन्द्रीय नेतृत्व तक बात पंहुचाई जा चुकी है 

वहीँ बीते दिनों खुद सौदान सिंह ने गणेश राम भगत से उनके घर में मुलाक़ात की और कई सीटों पर हार जीत के समीकरण सम्बन्धी चर्चा भी की

रणनीतिकार मानते हैं कि 
गणेश राम भगत को यदि जशपुर 
की सीट दी जाती है तो इस तैयार 
जमीन पर कम मेहनत की जरुरत होगी 
वहीँ पत्थलगाँव व् कुनकुरी में चेहरा 
बदलकर सीट हासिल की 
जा सकती है 

इसके साथ ही मिशन 65 प्लस के 
लिए सरगुजा की सीतापुर,लुंडरा,सामरी,
अंबिकापुर समेत अन्य सीटों पर 
पूर्व मंत्री का जनजातीय
 सहयोग मिलेगा 
जिससे न केवल जशपुर की 
तीन सीटों पर बल्कि सरगुजा की 
चार सीट भी बीजेपी के पक्ष में 
होगी ऐसे में जमीन से जुड़े
 आदिवासी नेता को 
नजरंदाज नहीं किया जा सकता

संघ की दूर दृष्टि

गौरतलब है कि दिवंगत दिलीप सिंह जूदेव के बाद इस क्षेत्र में धर्मान्तरण,घरवापसी व आदिवासी हितों की रक्षा के लिए गणेश राम भगत सतत प्रयासरत हैं।आने वाले भविष्य को देखते हुए संघ एक सबल एवं सुगढ़ नेतृत्व चाहता है जिससे जशपुर सरगुजा समेत प्रदेश में वनवासी एवं जनजातीय हितों की रक्षा हो सके।उल्लेखनीय है कि पत्थरगढ़ी समेत अन्य विध्वंसकारी शक्तियों को लेकर संघ के साथ पार्टी संगठन भी चिंतित है ऐसे में सर्वमान्य आदिवासी नेता गणेश राम भगत की घर वापसी को लेकर केन्द्रीय संगठन पर संघ का खासा दबाव है

लगातार वनवासियों के साथ कंधे से कन्धा मिलकर चलने वाले जननेता गणेश राम भगत की नेतृत्व क्षमता से हर कोई वाकिफ है लिहाजा मिशन 65 प्लस के लिए ऐसे नेतृत्व को वापस पार्टी में लेकर उसका फायदा पार्टी उठा सकती है



Post a Comment

0 Comments