... CRIME :- आखिर ! तलवार मामले को क्यों दबाने में लगी है पत्थलगांव पुलिस....कहीं कोई बड़ी ..वारदात.......?

CRIME :- आखिर ! तलवार मामले को क्यों दबाने में लगी है पत्थलगांव पुलिस....कहीं कोई बड़ी ..वारदात.......?



पत्थलगांव(पत्रवार्ता.कॉम) खबर है की मुख्यमंत्री के अटल विकास यात्रा के ठीक एक दिन पहले पत्थलगांव पुलिस को सुचना मिली कि पत्थलगाँव बस स्टैंड में बस के माध्यम से तलवारों का जखीरा अंबिकापुर की ओर भेजा जा रहा है,सुचना मिलते ही थाने से पुलिस पार्टी ने दबिश देकर रंगे हाथों तलवार बरामद किया साथ ही उसे भी हिरासत में लिया गया जिसने तलवार बस में चढ़ाया था  

उक्त घटना में खास बात यह कि सीएम के कार्यक्रम के मद्देनजर इस मामले में कोई कार्यवाही नहीं दिखी वहीँ अब इस मामले में जिम्मेदार अधिकारी भी जवाब देने से बच रहे हैं यहाँ तक कि मामले में पत्थलगांव थाना प्रभारी से बात करने पर उन्होंने कहा कि मामले की जानकारी एसडीओपी ही देंगे जब उनसे कहा गया कि आपके थाना का मामला है तो उन्होंने कहा कि मैं उस दिन पुतला दहन के तरफ था और उनके आने से पहले ही क्या क्या हो गया था ..? फिलहाल मामले को एसआई रश्मि थामस व एसडीओपी द्वारा देखे जाने की बात उन्होंने कही और जवाब देने से बचते दिखे  

मामले में कोई कुछ बताने को तैयार नहीं पर जो बातें सूत्रों से पता चल रही है उसके अनुसार घटना हुई है जिसे छिपाया जा रहा है।यहाँ तक चर्चा है कि इस मामले में प्रदेश के किसी राजनैतिक पार्टी का हाथ भी है, इस मामले में एसडीओपी से बात करने का प्रयास किया गया पर उनका फोन बंद आया

उक्त मामले मे सोशल मिडिया में पुलिस विभाग की कार्यशैली को लेकर सवाल उठाए जा रहे है। सोशल मिडिया मे जो चर्चा चल रही है उसके मुताबिक 19 सितंबर को पत्थलगांव मे बस स्टैंड मे तलवार का जखीरा मिलने की खबर शहर मे आग की तरह फैल गई,इस मामले मे कुछ लोगों का कहना है कि पुलिस ने तलवार को अपने कब्जे मे लेकर कार्रवाई करना शुरू कर दिया था कि एन मौके पर एक पुलिस के उच्च अधिकारी ने अपने अधीनस्थ पुलिसकर्मियों को दबाव देना शुरू कर दिया और पुरे मामले को रफा दफा करने की जोर जुगत में लग गए।

हांलाकि इस मामले मे पुलिस अधीक्षक जशपुर द्वारा जाँच करने की बात कही जा रही है अब देखना दिलचस्प होगा की पत्थलगांव पुलिस की कार्यप्रणाली पर उठे इस सवाल का पटाक्षेप सामने कब आता है ..? और दोषियों पर कार्यवाही होगी या मामला  रफा दफा....? बड़ा सवाल...? 

Post a comment

0 Comments