Recents in Beach


BREAKING(पत्रवार्ता) :- भ्रष्ट सचिव को किसका संरक्षण..?,फर्जी आहरण के बाद अब तक नहीं हुई कार्यवाही..? सरपंच समेत 10 पंचों ने एसडीएम को सौपा इस्तीफा ।

सचिव पर कार्रवाई नहीं हुई तो करेंगे सीएम से शिकायत 

जशपुर/बगीचा(पत्रवार्ता.कॉम) ये जशपुर है जहाँ कुछ भी हो सकता है भ्रष्ट सचिव की शिकायत एसडीएम,जनपद सीईओ समेत तीन बार कलेक्टर जनदर्शन में किये जाने के बाद भी अब तक कार्यवाहीं न होने से नाराज जनप्रतिनिधियों ने सैकड़ों ग्रामीणों के साथ एसडीएम बगीचा को अपना इस्तीफा सौपा।  बगीचा जनपद पंचायत के भंवर पंचायत के सरपंच उपसरपंच समेत 10 पंचों ने ग्राम पंचायत का प्रस्ताव पारित कर अपने पद से इस्तीफा दे दिया है


दरअसल मामला बेहद गंभीर है जिसमें ग्रामीण शिकायत कर के थक चुके हैं बावजूद इसके सचिव अब तक अपने पद पर बना हुआ है वहीँ अब तक उस पर कोई कार्यवाही भी नहीं की गयी 

मामला है बगीचा विकासखंड के ग्राम पंचायत भंवर का जहाँ के सचिव मंगतु राम के द्वारा ग्राम पंचायत भंवर के निवासियों को शासन के द्वारा चलाये गये विकास कार्यों का लाभ नहीं दिया जा रहा है बल्कि व्यक्तिगत लाभ के लिए पंचायत की राशि का जमकर दुरूपयोग किया जा रहा है।यहाँ तक कि ग्राम पंचायत के प्रस्ताव एवं चेक में फर्जी हस्ताक्षर कर राशि का आहरण तक कर लिया गया है।

वहीँ जनप्रतिनिधियों के साथ गलत व्यवहार करना,किसी योजना सुचना की जानकारी न देना और फर्जी ग्रामसभा कर प्रस्ताव पारित करने जैसे मामलों की शिकायत 13 अगस्त को ग्राम पंचायत के सरपंच एवं ग्रामीणों द्वारा पहले भी की जा चुकी है जिसमें स्पष्ट उल्लेख किया गया था कि ग्राम पंचायत सचिव मंगतु राम के खिलाफ 15 दिवस के अन्दर कार्यवाही नहीं होने पर ग्राम पंचायत के सरपंच/पंच के द्वारा सामूहिक रूप से इस्तीफा देने का निर्णय लिया गया है।


सचिव के भ्रष्ट रवैये से नाराज होकर सैंकड़ों की संख्या में ग्रामीण व जनप्रतिनिधि  आज बगीचा अनुविभागीय अधिकारी कार्यालय पंहुचे जहाँ सरपंच राप्रसाद भगत,उपसरपंच फुलकुमारी भगत व पंच फुलवती भगत,लक्ष्मी बाई,सुखन राम,रमेश भगत,जगरनाथ,एतवा राम,बिफनी बाई,सालो बाई,अजीत टोप्पो ने एसडीएम रवि राही को अपना इस्तीफा सौपा। 



ग्रामीणों के साथ जिला पंचायत सदस्य फुलकेरिया भगत,कोरवा समाज के अध्यक्ष रामप्रसाद कोरवा समेत पूर्व विधानसभा कांग्रेस प्रत्याशी सरहुल भगत भी शामिल रहे जिन्होंने ग्रामीणों के हित में अनुविभागीय अधिकारी के सामने अपना पक्ष रखते हुए दोषी सचिव पर कार्यवाही की मांग की।उन्होंने ग्रामीणों के मजदूरी भुगतान कराये जाने व सचिव पर एफआईआर दर्ज कराये जाने की मांग भी की।जिसपर एसडीएम ने कार्यवाही का आश्वासन देते हुए दो दिन में कार्यवाही किये जाने की बात कही। 

"ग्राम सचिव पर कार्यवाही शुरू कर दी गई है मामला न्यायालय में दर्ज कर लिया गया है दो दिन के अन्दर सचिव को पंचायत से हटाने की कार्यवाही की जाएगी।
रवि राही,एसडीएम बगीचा 


Post a Comment

0 Comments