Recents in Beach


अब जांजगीर का नाम होगा "काशीराम"...? जोगी के सियासी दांव से कांग्रेस भाजपा का बिगड़ा समीकरण।


रायपुर(पत्रवार्ता.कॉम) विधानसभा चुनाव के ठीक पहले छजकां सुप्रीमो अजित जोगी ने बड़ा सियासी दांव चला है। जोगी ने देश के पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखते हुए देश के बहुजन समाज के महानायक, कांशीराम को देश के सबसे बड़े सम्मान और पुरस्कार भारत रत्न से अलंकृत करने व उनकी कर्मभूमि जांजगीर जिले का नाम को कांशीराम के नाम से करने की मांग की है।


पीएम को पत्र लिखते हुए जोगी ने कहा है कि समाज के दबे, कुचले, पिछड़े , शोषितों के नेता, बहुजन नायक कांशीराम एक व्यक्ति नही बल्कि एक विचारधारा थे। लिहाज़ा उनकी विचारधारा दलगत राजनीति से नही बल्कि देश नीति से जुड़ी है। बहुजन समाज के आर्थिक और सामाजिक विकास में उनका योगदान अतुलनीय,अद्वितीय एवं अविस्मरणीय है।

ऐसे महापुरुष की विचारधारा युगों युगों तक देश की आने वाली पीढ़ी के विचारों में समाहित हो एवं देश में सामाजिक सामानता का उदहारण बन सके। लिहाज़ा कांशीराम जी को 'भारत रत्न' की उपाधि से अलंकृत कर उन्हें देश के सर्वोच्च सम्मान से सम्मानित किया जाए। साथ ही कांशीराम जी की कर्मभूमि रहे छत्तीसगढ़ के जांजगीर जिले का नाम भी कांशीराम जी के नाम से करते हुए उनसे जुड़े प्रदेश के लोगों की जन भावनाओं का सम्मान किया जाए। 

जोगी ने बताया कि समाचार पत्रों के माध्यम से उन्हें ज्ञात हुआ कि 22 सिंतबर को प्रधानमंत्री मंत्री मोदी जांजगीर जिले के प्रवास पर आ रहे हैं। लिहाजा इस दौरान दो मांगों पर गौर करने एवं अपने छत्तीसगढ़ प्रवास के दौरान इसकी घोषणा करने का अनुरोध उन्होंने पत्र के माध्यम से किया है।

बहरहाल चुनाव करीब है, काँग्रेस-बसपा के बीच गठबंधन व सीट बंटवारे की सुगबुगाहट चल रही है। ऐसे में जोगी ने जो सियासी दांव चला है उससे एक बात तो तय है कि जोगी प्रदेश में काँग्रेस -भाजपा दोनों का समीकरण बिगाड़ने वाले हैं। 






Post a Comment

0 Comments