... MURDER (खुलासा) :-अमित व उनके दोस्तों के बीच बहन,प्रेमिका के सम्बंध में कमेंट करने को लेकर अक्सर होते थे झगड़े।क्या है हत्या का सच...?

MURDER (खुलासा) :-अमित व उनके दोस्तों के बीच बहन,प्रेमिका के सम्बंध में कमेंट करने को लेकर अक्सर होते थे झगड़े।क्या है हत्या का सच...?







बिलासपुर(पत्रवार्ता.कॉम) संस्कारधानी बिलासपुर के चर्चित अमित हत्याकांड की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है।मामले का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।आपसी झगड़े में दोस्तों ने मिलकर वारदात को अंजाम दिया था। आरोपियों से एयर गन व तलवार भी बरामद हुआ है।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आरोपियों का इतना आतंक था कि कालोनी वासी भी उनसे त्रस्त थे। गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने कालोनी में आरोपियों का जुलूस निकालकर जमकर उनकी पिटाई भी की।

दरअसल बीते 4 अगस्त की रात को गोड़पारा निवासी अमित नंदवानी की सिविल लाईन क्षेत्र के सिंधी कालोनी में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। अमित वारदात से कुछ घण्टे पहले ही जेल से छूटकर घर पहुँचा था। उसी बीच दोस्तों के कहने पर वो सिंधी कालोनी पहुँचा।

जहां आपसी झगड़े के बाद उसकी हत्या हो गयी। वारदात के बाद आरोपी फरार हो गए थे। पुलिस मामले में लगातार आरोपियों की पतासाजी व संदेहियों की धरपकड़ कर पूछताछ करने मे जुटी थी। 

इसी बीच अमित के दोस्त 
सन्नी थारवानी,सूरज करतारी,
लखन ढीमर व सुनील तलरेजा 
के वारदात में शामिल होने व 
उनके राजनांदगांव आने की
 सूचना मिली। 

जिसके बाद राजनांदगांव पहुंचते ही पुलिस ने  उन्हें गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक अमित व उनके दोस्तों के बीच बहन,प्रेमिका के सम्बंध में कमेंट करने को लेकर अक्सर झगड़े होते थे।

ये झगड़े इतने बढ़ गए थे कि आये दिन इस बात को लेकर विवाद होता रहता था। वारदात के दिन भी पहले से जेल में बंद अमित जैसे ही जेल से छूटकर बाहर आया। उसने सुनील व सन्नी को फोन लगाकर गाली गलौज किया था। जिसके बाद आरोपियों ने उसे सिंधी कालोनी आने चैलेंज किया और अमित सिंधी कालोनी पहुँच गया।

यहाँ फिर आपस में इनके बीच विवाद हुआ। इस बार विवाद इतना बढ़ा कि चारों ने मिलकर पहले अमित को तलवार और फिर गोली मारकर उसे मौत के घाट उतार दिया। बहरहाल मुख्य चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर मामले का पर्दाफाश कर दिया है। 2 सहयोगी आरोपियो की पतासाजी की जा रही है। 

Post a comment

0 Comments