... दुष्कर्म पीड़िता को हाईकोर्ट से मिली गर्भपात की इजाजत,डीन सहित पांच चिकित्सकों की निगरानी में कराया जाएगा गर्भपात।

दुष्कर्म पीड़िता को हाईकोर्ट से मिली गर्भपात की इजाजत,डीन सहित पांच चिकित्सकों की निगरानी में कराया जाएगा गर्भपात।


बिलासपुर(पत्रवार्ता.कॉम) बिलासपुर हाईकोर्ट ने आज एक महत्वपूर्ण मामले में निर्णय देते हुए दुष्कर्म पीड़ित नाबालिग को बड़ी राहत दी है। हाईकोर्ट ने पीड़िता के गर्भपात की अनुमति दे दी है।

कल मंगलवार को रायपुर के भीमराव अंबेडकर अस्पताल के डीन सहित 5 विशेषज्ञ डॉक्टरों की निगरानी में पीड़िता का गर्भपात कराया जाएगा। 

हाईकोर्ट ने आज इस मामले में निर्णय देते हुए कहा है कि कल सभी चिकित्सकीय सुविधा के बीच गठित 5 सदस्यीय डॉक्टरों की टीम की निगरानी में पीड़िता का गर्भपात कराया जाय। 13 वर्षीय दुष्कर्म पीड़ित नाबालिग के गर्भपात के लिए उसके परिजनों ने हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी। 

दरअसल रायपुर इलाके की पीड़िता के साथ पड़ोस के ही एक युवक ने दुष्कर्म किया था। आरोपी के खिलाफ थाने में मामला भी दर्ज है। पीड़िता के परिजनों को जब पता चला कि पीड़िता 4 महीने के गर्भ से है तो वे मेकाहारा अस्पताल पहुंचे और डॉक्टरों से गर्भपात की गुहार लगाई । लेकिन कानून का हवाला देकर डॉक्टरों ने गर्भपात कराने से इनकार कर दिया।

जिसके बाद पीड़िता के परिजन हाईकोर्ट पहुंचे और कोर्ट से गर्भपात की गुहार लगाई। पिछले सुनवाई के दौरान डॉक्टरों ने कोर्ट को अपना मेडिकल रिपोर्ट सौंपते हुए कहा कि गर्भपात के लिहाज से मामला रिस्की है। आज इस मामले में जस्टिस संजय के अग्रवाल की सिंगल बेंच ने निर्णय देते हुए कल 5 सदस्यीय विशेषज्ञ डॉक्टरों की निगरानी में गर्भपात की इजाज़त दे दी है।

Post a comment

0 Comments