... BIG ब्रेकिंग रायपुर : छत्तीसगढ़ पर्यटन बोर्ड के कर्मचारी पर "पद के दुरुपयोग" व "शासकीय राशि के फर्जीवाड़े" का आरोप,प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव ने गृह व "पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू" से की शिकायत...इन गंभीर आरोपों पर कार्यवाही की मांग ..?

BIG ब्रेकिंग रायपुर : छत्तीसगढ़ पर्यटन बोर्ड के कर्मचारी पर "पद के दुरुपयोग" व "शासकीय राशि के फर्जीवाड़े" का आरोप,प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव ने गृह व "पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू" से की शिकायत...इन गंभीर आरोपों पर कार्यवाही की मांग ..?

 

रायपुर,टीम पत्रवार्ता,31 जनवरी 2021

छत्तीसगढ़ पर्यटन बोर्ड के प्लेसमेंट कर्मचारी पर पद के दुरुपयोग व शासकीय राशि के फर्जीवाड़े का गंभीर आरोप लगा है।पर्यटन बोर्ड में टीएन सिंह ऑपरेशन शाखा की जिम्मेदारी सम्हाल रहे हैं।छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव सैय्यद अफसर अली ने गृह व पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू से पुरे मामले की शिकायत कर जाँच कार्यवाही की मांग की है।

उल्लेखनीय है कि टीएन सिंह छत्तीसगढ़ पर्यटन बोर्ड में लम्बे समय से पदस्थ हैं।गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू से किए गए शिकायत में बताया गया है कि उक्त कर्मचारी द्वारा अपने पद का दुरुपयोग करते हुए शासन की योजनाओं का  प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष आर्थिक लाभ उठाने की जानकारी उन्हें मिली है। 

छत्तीसगढ़ पर्यटन बोर्ड के इस कर्मचारी द्वारा अपने पद का लाभ उठाते हुए इंपीरियल टूर और ट्रेवल्स एलआईजी 830 वीर सावरकर नगर हीरापुर रायपुर को वाहन परिवहन का कार्य दिलाया गया है।

आवेदन में बताया गया ही कि उक्त ट्रैवल एजेंसी में पर्यटन बोर्ड में कार्यरत प्लेसमेंट कर्मचारी टीएन सिंह का पूर्ण योगदान है,जिसका प्रमाण प्लेसमेंट एजेंसी के प्रति में अंकित फोन नंबर से मिल रहा है।

कर्मचारी टीएन सिंह के द्वारा अपने कार्यकाल के दौरान इस ट्रैवल एजेंसी के नाम से शासकीय पैसों का आहरण किए जाने की जानकारी उन्हें  मिली  है। 

पर्यटन बोर्ड में शासकीय राशि के अनियमितता मामले में आय से ज्यादा संपत्ति अर्जित किये जाने की शिकायत आवेदन में की गई है।

इतना ही नहीं कर्मचारी द्वारा विभाग में ऑपरेशन शाखा की जिम्मेदारी देखी जा रही है, जिसके कारण प्रदेश के कई रिसोर्ट व पर्यटन स्थलों में ठहरने की जगह पर अपने करीबियों मित्रों व रिश्तेदारों को निशुल्क ठहराए जाने का उल्लेख भी शिकायत आवेदन में किया गया है।नियमानुसार इन जगहों पर शासकीय शुल्क का प्रावधान अनिवार्य रहता है। 

इसके साथ ही वीआईपी का हवाला देकर कर्मचारियों से शुल्क न लेने का दबाव इनके रुकने के दौरान कर्मचारी टीएन सिंह के द्वारा लगातार किया जा रहा है,जो जांच का विषय है। प्रदेश कांग्रेस सचिव सैयद ने मांग की है कि दोषी के विरुद्ध उचित जांच करते हुए कानूनी कार्रवाई के साथ उनके द्वारा अर्जित संपत्ति की भी जांच हो।

Post a comment

0 Comments