... BREAKING पत्रवार्ता : " कलेक्टर" ने कहा "Whatsapp" पर अफवाह फ़ैलाने वालों पर होगी "सख्त कार्रवाई " Social Media पर अपुष्ट खबरें फ़ैलाने वालों को सीधे होगी जेल .......ऐसे लोग चिन्हित कर लिए गए हैं ...?

BREAKING पत्रवार्ता : " कलेक्टर" ने कहा "Whatsapp" पर अफवाह फ़ैलाने वालों पर होगी "सख्त कार्रवाई " Social Media पर अपुष्ट खबरें फ़ैलाने वालों को सीधे होगी जेल .......ऐसे लोग चिन्हित कर लिए गए हैं ...?

                                                                                   

पत्थलगाँव,प्रदीप ठाकुर,30 अप्रैल 2020

जशपुर जिले में राजनांदगाँव से आए श्रमिक की रैपिड टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद जिला प्रशासन ने एहतियातन सख्ती बरतनी शुरू कर दी है।पत्थलगाँव लुड़ेग के दौरे में पंहुचे जिला कलेक्टर निलेश कुमार महादेव क्षीरसागर ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि प्रारंभिक रैपिड टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आया है जिसे अंतिम निर्णय नहीं माना जा सकता सैम्पल भेजा गया है रायपुर से रिपोर्ट आने के बाद ही यह तय होगा कि संदिग्ध  कोरोना संक्रमित है या नहीं ।एहतियातन उन्होंने सभी को सतर्क रहने की हिदायत दी है वहीँ अति आवश्यक कार्य होने पर ही घर से बाहर निकलने की बात कही है

इधर  रैपिड टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अफवाहों को लेकर जिला कलेक्टर ने कड़ी कार्रवाई की बात कही है।उन्होंने कहा कि व्हाट्सअप ग्रुप्स के माध्यम से कोई भी अफवाह न फैलाएं उन्होंने कहा कि कोई भी सुचना पुलिस व प्रशासन से पुष्टता के बाद ही सार्वजनिक करें।उन्होंने ऐसे अफवाह फ़ैलाने वालों को चिन्हित कर एफआईआर दर्ज कराने की बात कही हैगौरतलब है कि पत्थलगांव समेत जिले के अन्य क्षेत्रों में तरह तरह की भ्रामक बातें फैलाई जा रही है जिसे लेकर जिला प्रशासन सख्त हो गया है उन्होंने व्हाट्सअप ग्रुप एडमिन से निवेदन किया है कि आगामी 5 से 7 दिनों के लिए अपने ग्रुप को ओनली एडमिन करके रखें जिससे अफवाह न फ़ैल सके

देखें कलेक्टर ने क्या कहा - वीडियो  

 


कलेक्टर निलेश कुमार महादेव क्षीरसागर और पुलिस अधीक्षक शंकर लाल बघेल ने पत्थलगांव विकास खंड लुड़ेग राहत शिविर का आकस्मिक निरीक्षण किया। कलेक्टर ने राहत शिविर में रहने वाले मजदूरों को कोराना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए सूरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं। उन्होंने लुड़ेग राहत शिविर के बाहर बैरिकेटिंग लगाने के लिए कहा। और किसी भी व्यक्ति को बिना अनुमति राहत शिविर में प्रवेश नहीं देने के सख्त निर्देश अधिकारी को दिए हैं। ताकि कोई भी बाहरी व्यक्ति राहत शिविर में प्रवेश न कर सके। कलेक्टर ने डाक्टरों की टीम को पूरी अपनी सुरक्षा कवच के सुरक्षा के साथ राहत शिविर में प्रवेश करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही संक्रमण से बचने के लिए सुरक्षा के पूरे उपाय अपनाने के लिए कहा गया है। उन्होंने राहत शिविर में सेनेटाइजर का उपयोग मजदूरों को सोशल डिस्टेंसिग का पालन के साथ मास्क का नियमित उपयोग करने के निर्देश दिए हैं।राहत शिविर में भोजन बनाने वाले रसोई को मजदूरों से दूरी बनाकर भोजन परोसने की सलाह दी है। साथ ही विशेष सतर्कता बरतने की हिदायत दी गई। राहत शिविर में ड्यूटी कर रहे अधिकारी कर्मचारी को बैरैकिटिग के बाहर रहने के निर्देश दिए गए हैं। कलेक्टर आम लोगों से अपील की कोरोनावायरस संक्रमण से बचाव के सोशल डिस्टेंसिग का पालन करें घरों से बाहर ना निकल अफवाहों से बचें और शासन के निर्देश का पालन करें । 

उन्होंने कहा कि 

जशपुर जिले को कोरोनावायरस संक्रमण से मुक्त करने में सहयोग प्रदान करें और लोगों को संक्रमण से बचने के लिए पूरा उपाय अपनाने के लिए कहा गया है।कलेक्टर ने राहत शिविर के अंदर डाक्टरों और स्वास्थ्य कर्मचारियों को जाने की अनुमति होगी बाहरी कोई भी व्यक्ति प्रवेश नहीं कर सकेगा । उन्होंने अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कड़ाई से पालन करने के लिए कहा।
 

Post a comment

0 Comments