... ब्रेकिंग पत्रवार्ता : "पूर्व मंत्री गणेश राम भगत" की "दो टूक" संगठन के हर बीमारी का होगा ईलाज,फिर से लहराएगा "बीजेपी" का परचम

ब्रेकिंग पत्रवार्ता : "पूर्व मंत्री गणेश राम भगत" की "दो टूक" संगठन के हर बीमारी का होगा ईलाज,फिर से लहराएगा "बीजेपी" का परचम




जशपुर,टीम पत्रवार्ता,18 फ़रवरी 2020

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के अंतर्गत जनपद पंचायतों में कांग्रेस से मिली करारी हार के बाद बीजेपी के दिग्गज नेताओं ने जब सरेंडर कर दिया तब पूर्व मंत्री गणेश राम भगत ने मोर्चा सम्हाला और जिला पंचायत जशपुर में एक बार फिर से बीजेपी का परचम लहरा दिया।अब पूर्व मंत्री भाजपा की हर बीमारी को ठीक करने की बात भी कर रहे हैं  

दरअसल जिला संगठन ने पूर्व मंत्री को हाशिये पर भेज दिया था इसके बावजूद गणेश राम भगत सतत जनजागरण का कार्य करते रहे उन्होंने कभी अपने को पार्टी से अलग नहीं किया उन्हें जो भी जिम्मेदारी दी गई उसे बखूबी निभाया और उसमे सफलता भी हासिल की।इसके बावजूद संगठन के द्वारा पार्टी के सच्चे कार्यकर्ता को हमेशा दरकिनार किया जाता रहा।पत्रवार्ता से चर्चे में पूर्व मंत्री ने बताया कि पहली बार उन्होंने पार्टी को इतना कमजोर देखा था यहाँ तक कि पार्टी के लोगों को पसीना आ रहा था 

देखिए गणेश राम ने क्या कहा 


विधानसभा चुनाव से हार जारी  
इससे न केवल जिले में भाजपा की स्थिति दिनों दिन कमजोर होती चली गई बल्कि विधानसभा चुनाव,निकाय चुनाव और पंचायत चुनाव में भी भाजपा का सुपड़ा साफ़ हो गया।अंततः जिला पंचायत में कब्जा करने के लिए पार्टी ने पूर्व मंत्री को याद किया और अथक प्रयासों के बाद उनके अनुभव और दृढ़ता का लाभ बीजेपी को मिला जिनके मार्गदर्शन में जशपुर जिला पंचायत में बीजेपी समर्थित अध्यक्ष और उपाध्यक्ष की जीत हुई

गणेश राम ने माना हार हुई 
बीजेपी के कद्दावर पूर्व मंत्री गणेश राम भगत ने सामने आकर बीजेपी की हार स्वीकार की है उन्होंने पत्रवार्ता से चर्चे में बताया कि यह चिंतन और समीक्षा का विषय है कि आखिर ऐसी बुरी स्थिति क्यों निर्मित हुई..? उन्होंने जनपद पंचायतों में हुई हार को स्वीकार करते हुए बताया कि सभी को मिलकर इस चुक में सुधार करने की आवश्यकता है ताकि आने वाले समय में इसकी पुनरावृत्ति न हो

पूर्व मंत्री ने कहा 



पत्रवार्ता से बात करते हुए पूर्व मंत्री गणेश राम भगत ने कहा कि गणेश राम भगत ओ हर बीमारी का ईलाज आता है अब वे सब बीमारी को ठीक कर देंगे।दरअसल लगातार हो रहे हार से संगठन की छवि पर इसका गहरा प्रभाव पडा है।उन्होंने बताया कि संगठन में टकराहट होती रहती है जो स्वाभाविक है।परिवार बड़ा होने के कारण मतभिन्नता होती है।उन्होंने बताया कि कल तक जो जशपुर था अब वह नहीं रहेगा फिर से यहाँ बीजेपी का परचम लहरेगा


पूर्व मंत्री गणेश राम भगत ने कहा अब मैं आ गया हूँ सब बीमारी को ठीक कर सकते हैं।संगठन को मजबूत करना कोई कठिन काम नहीं है।कल हमारा नया जन्म हुआ है अब आगे सब ठीक हो जाएगा
देखिये कैसे मजबूत होगा संगठन 



बहरहाल एक बार फिर से पूर्व मंत्री गणेश राम भगत पुरे आत्मविश्वास के साथ कमर कसकर तैयार हैं अब देखना होगा कि जिले में संगठन के महत्वपूर्ण पदों पर मठाधीश बनकर पार्टी को हार के मुहाने पर लाकर खड़े करने वालों की पहचान कैसे होती है

गणेश राम कैसे बने संकटमोचक 

देखिये वीडियो 



जरुर पढ़ें
कट्टरवादी हिंदुत्व के साथ क्या है पूर्व मंत्री गणेश राम भगत के मजबूत कन्धों का राज



Post a Comment

0 Comments