... ACTION : "दैहिक शोषण" मामले में "पत्थलगांव TI" ओमप्रकाश ध्रुव " पर बड़ी कार्यवाही,पीड़िता की शिकायत पर दर्ज होगी FIR..?

Recents in Beach


ACTION : "दैहिक शोषण" मामले में "पत्थलगांव TI" ओमप्रकाश ध्रुव " पर बड़ी कार्यवाही,पीड़िता की शिकायत पर दर्ज होगी FIR..?



रायपुर,टीम पत्रवार्ता,21 सितंबर 2019

जशपुर जिले के पत्थलगांव थाने में पदस्थ थानेदार ओमप्रकाश ध्रुव के विरुध्द दैहिक शोषण के मामले में पीड़िता की शिकायत पर अब तक FIR दर्ज नहीं किया गया है।वहीं आईजी के निर्देश पर जशपुर SP ने थानेदार को लाईन अटैच कर दिया है।अब मामले की जाँच रायगढ़ एसपी कर रहे हैं।मामले में सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जल्द ही पीड़िता की शिकायत पर थानेदार के विरुद्ध मामला दर्ज किये जाने की खबर है   

उल्लेखनीय है कि उक्त मामले में पीड़ित महिला के द्वारा DGP से शिकायत कर मामले में कड़ी कार्यवाही की मांग की गई थी।पुलिस मुख्यालय द्वारा जशपुर एसपी को शिकायत आवेदन भेजा गया था।जिसके बाद जशपुर एसपी एसएल बघेल ने एडिशनल एसपी उनैजा खातून से मामले की जांच कराई।मामले में पीड़िता के बयान के बाद जांच रिपोर्ट पुलिस अधीक्षक को सौंपी गई।जिसके बाद उक्त मामले में थानेदार ओमप्रकाश ध्रुव के विरुद्ध अब तक अपराध पंजीबद्ध नहीं किया गया है।

आईजी सरगुजा के निर्देश पर टीआई को लाईन हाजिर कर दिया गया है।वहीं अब मामले में आगे की जांच रायगढ़ एसपी द्वारा कराए जाने की खबर है।

क्या था मामला
शिकायत आवेदन के अनुसार वर्तमान में पत्थलगाँव थाने में पदस्थ TI ओमप्रकाश ध्रुव से पीड़िता की मुलाकात 2 साल पहले हुई थी। जिसके बाद TI ने उसे विश्वास में लेकर शादी का भरोसा दिलाया और उसके साथ शारीरिक सम्बन्ध स्थापित किया। यह क्रम लगातार 2 साल तक चलता रहा।पीड़िता ने बताया कि वह हमेशा कहा करता था कि उसे वह कभी नहीं छोड़ेगा।पति पत्नी की तरह रखने की बात उसके द्वारा कही जाती थी।कुछ दिन बाद पीड़िता को पता चला कि थानेदार शादीशुदा है जिसके बाद पीड़िता ने उसे समझाया कि वह उससे मिलना जुलना बंद कर दे।

तब उसने पीड़िता को विश्वास दिलाया कि वह उससे शादी करेगा और उसने यह भी कहा कि वह उसके बिना वह नहीं रह सकता। पीड़िता के छोड़ने की बात कहने पर उसने अपनी जान देने की बात कही। यहाँ तक कि पत्थलगाँव के होटल अर्नव में उन्होंने आत्महत्या करने की भी कोशिश की।जिससे पीड़िता ने उसपर विश्वास कर लिया।

डीजीपी को दिए गए शिकायत आवेदन में उल्लेख है कि जब भी उनका मिलने का मन होता था तो पत्थलगाँव के होटल के कर्मचारी ड्राईवर असलम खान उर्फ़ राजू को वे अपनी स्कार्पियो देकर पीड़िता को लेने भेज देते थे।और उसी होटल में उसे हमेशा लाया जाता था और फिर वापस भेज दिया जाता था।

पीड़िता ने अपने आवेदन में बताया है कि थानेदार के द्वारा शादी झांसा देकर 2 वर्षों तक उसका दैहिक शोषण किया गया।इस बीच तीन बार वह गर्भवती हुई और तीनों बार उसका गर्भपात भी कराया गया।

अब पीड़िता के सामने बड़ी मुसीबत आ गई है उसने बताया कि उसने अपना सबकुछ लुटा दिया है और अब वह उसे अपने साथ रखने से मना कर रहा है।

अब थानेदार कहता है कि 
वह शादीशुदा है,पत्नी है उसे कैसे साथ रख सकता है।उसने पीड़िता को धमकी भी दी है कि वह उसका क्या करेगी ..? वह टीआई है .. है। वह उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकती,उसकी पंहुच बहुत ऊपर तक है।

पीड़िता ने अपने साथ हुए छलपूर्वक व्यवहार के साथ उसकी आबरु से खेलने वाले टीआई के ख़िलाफ़ कार्रवाई की मांग करते हुए तत्काल एफ़आईआर दर्ज किये जाने की मांग की है।

Post a Comment

0 Comments