.

गड़बड़ी:-अब तो जागो सरकार ! खनिज न्यास ही नहीं खनिज विभाग भी सवालों के घेरे में ...?


By योगेश थवाईत

जशपुर(11 फरवरी 2019 पत्रवार्ता) जशपुर जिले में खनिज न्यास के पैसों के दुरूपयोग का मामला अब विधानसभा में जा पंहुचा है।जिले के तेज तर्रार कुनकुरी विधायक उत्तमदान मिंज ने अब इस भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान छेड़ दिया है।
खनिज न्यास की जाँच तो ठीक है पर इन दिनों जिले में रेत के अवैध उत्खनन पर सरकार समेत प्रशासन भी चुप है।मानो खनिज विभाग का तो मौसम आ गया एक सीजन कमा लिए तो बस पुरे साल का काम हो गया।अवैध रेत का उत्खनन ही नहीं जिले में अवैध ईंट के भट्ठे भी सैकड़ों की तादाद में हैं जिसपर अब तक कोई कार्रवाई नहीं होना विभागीय कार्य प्रणाली पर सवालिया निशान खड़े करता है।वहीँ रात दिन नदियों से हो रहे रेत उत्खनन को आखिर विभाग द्वारा संरक्षण दिया जाना तगड़ी सेटिंग की ओर ईशारा करता है 
अब आते हैं खनिज न्यास पर दरअसल विधायक यूडी m के प्रश्न पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि खनिज न्यास निधि का गठन 2 जनवरी 2016 को किया गया है।

जशपुर जिले में अब तक 99 करोड़ 132 लाख रुपये विभिन्न कार्य के लिए प्राप्त हो चुका है 
                         आबंटित राशि                                              
2016-17 में   18 करोड़ 36 लाख 16 हजार                    
2017-18 में   58 करोड़ 03 लाख 026 हजार                   
2018-19 में   30 करोड़ 19 लाख 25 हज़ार                     
 खर्च राशि 
 2016-17 में   16 करोड़ 73 लाख 97 हजार
 2017-18 में   48 करोड़ 08 लाख 90 हजार
 2018-19 में   20 करोड़ 93 लाख 78 हज़ार
डीएमएफ के कार्यों की होगी जांच 
जिल में शासकीय राशि के बंदरबाट का यह कोई पहला मामला नहीं है कुनकुरी विधायक यूडी मिंज ने बताया कि जशपुर जिले में ड़ीएमएफ की राशि का सही उपयोग नहीं किया गया है अनावश्यक स्थानों पर पुलिया स्टॉप डेम,तटबंध समेत अनेक कार्य कर पैसों का दुरूपयोग किया गया है। 

=================================
यह भी पढ़ें
सबसे खास बात कि जिले के सर्व शिक्षा अभियान विभाग में इस राशि की तगड़ी सेटिंग चली जहाँ से जिले के चुनिन्दा विकासखंड में इस राशि का स्कुल मरम्मत के नाम पर जमकर दुरूपयोग किया गया।बिना गुणवत्ता के काम कराकर राशि का बंदरबाट कर लिया गया और आलम यह है कि आज भी खंडहर स्कुल अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहे हैं।इतना ही नहीं नौनिहालों के आंगनबाड़ी केंद्रों के मरम्मत के नाम पर भी खनिज न्यास निधि की राशि का बंदरबाट किया गया है।   
लोकहित के कार्यों को ध्यान में रखते हुए कराए गए कार्यों का नियमानुसार भौतिक सत्यापन तक नहीं कराया गया।फिलहाल कुनकुरी विधायक द्वारा कार्यों के भौतिक सत्यापन के लिए जांच समिति द्वारा कराए जाने की बात कही जा रही है। 
Share on Google Plus

About patravarta.com

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 Comments:

Featured Post

बड़ी खबर : जब उड़नदस्ता टीम ने छात्राओं के उतरवाए कपड़े...? ..और फांसी के फंदे पर झूल गई 10 वीं की छात्रा।

जशपुर(पत्रवार्ता) बोर्ड परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए जांच के नाम पर छात्र छात्राओं के कपड़े उतरवाकर जांच किए जाने का मामला सामने आया ...