.

26 जनवरी विशेष:- जशपुर जिले के तीनों विधायकों के नाम "खुड़िया"का संदेश।


By योगेश थवाईत।

जशपुर (26 जनवरी 2019 पत्रवार्ता) । गणतंत्र दिवस पर देश के नाम प्रधानमंत्री का संदेश,प्रदेश के नाम मुख्यमंत्री का संदेश हम सभी सुनते हैं।जिसमें देशहित के अहम मुद्दों के साथ अब तक कि उपलब्धियों और भविष्य की योजनाओं का सार होता है।

जाहिर है हमारे विधायकों को भी जिलेवासियों के हित के मुद्दे पर संदेश प्रसारित करना चाहिए।जिससे यहां की जनता को विश्वास हो कि विकास के हर मुद्दे पर हमारा विधायक हमारे साथ है।

जिले में कई ऐसे मुद्दे हैं जिनका अतिक्रमण कर मौजूदा सरकार तक गलत बातें पंहुचाई जा रही हैं।जनहित से जुड़े इन मुद्दों पर निश्चित ही जिले के तीनों विधायकों की नैतिक जिम्मेदारी सुनिश्चित होनी चाहिए जिससे यहां का विकास अवरुद्ध न हो।

जशपुर जिले की धुरी माने जाने वाला खुड़िया क्षेत्र पहले भी अछूता था और अब भी अछूता ही नजर आ रहा है।क्षेत्रवासियों के कई अहम मुद्दे हैं जिसपर तत्काल कोई भी निर्णय नहीं लिया जा सकता।इसके बावजूद उन मुद्दों पर अब तक विधायकों का कोई रुख स्पष्ट न होना कई सवालों को जन्म दे रहा है।

फिलहाल खुड़िया वासियों की बहुप्रतीक्षित मांग कैलाश गुफा में सड़क निर्माण का कार्य स्वीकृत होने के बाद भी शुरु नहीं किया जा सका है।जिससे जाति जनजाति समाज के साथ अन्य वर्ग भी रुष्ट है।अंदर ही अंदर ऐसी सुगबुगाहट पनप रही है जिससे खुड़िया क्षेत्र एक बार फिर से अशांत नजर आ रहा है।

सोनगेरसा,सारूढाब,बुचीडांडी,राट गुफा ऐसे क्षेत्र हैं जहां आजादी के बाद पहली बार इस सड़क का निर्माण हो रहा है।आस्था पर्यटन के केंद्र के साथ यह क्षेत्र पहाड़ी कोरवा बाहुल क्षेत्र है जहां के लोग लंबे समय से पक्के सड़क की मांग कर रहे थे।

दरअसल पूर्व सरकार ने इस सड़क के निर्माण के लिए 16 करोड़ की स्वीकृति के साथ कार्यादेश भी जारी कर दिया था।इसके बाद भी इसका काम शुरु नहीं किया गया है।

दरअसल इस मामले में जशपुर जिले के तीनों विधायकों में से किसी ने भी जनहित से जुड़े इस मुद्दे पर सरकार से निर्माण कार्य शुरु कराने की कोई कवायद ही नहीं की।अब मौजूदा सरकार से लोक निर्माण विभाग को पुनःस्वीकृति की दरकार है।

पिछले विधानसभा चुनाव के बाद से खुडियावासी अपने अस्तित्व की लड़ाई को और तेज करते नजर आ रहे हैं।जिले के जिम्मेदार विधायकों को खुड़िया से जुड़े मुद्दों पर गंभीर होकर निर्णय लेने की आवश्यकता है जिससे यहां की जनता को इसका लाभ मिल सके।वह दिन दूर नहीं जब खुडियावासी मुखर होकर अपने स्वतंत्र अस्तित्व की मांग करते नजर आएंगे।

दूसरे मुद्दे पर खुड़ियाक्षेत्र की मांग पर जशपुर विधायक ने "खुड़िया जिला" बनाए जाने की बात कही है।इससे न केवल राजनैतिक,आर्थिक व सामाजिक,सांस्कृतिक विकास होगा बल्कि लोगों के जीवन स्तर में सुधार भी होगा।वहीं पत्थलगांव भी जिला की दौड़ में है जिसपर वर्तमान विधायक नजर बनाए हुए हैं।एक ओर जहां नई संभावनाएं विकसित होंगी वहीं दूसरी ओर नवल नेतृत्व भी सामने होगा।

बातों को पंहुचाने का सबसे बेहतर माध्यम पत्र होता है।जिसमें आपका संदेश सामने वाले तक पंहुच जाता है।इसी विश्वास के साथ खुडियावासियों की भावनाओं को समेटे यह संदेश जिले के तीनों विधायकों के नाम प्रेषित है।

निश्चित ही जिले के इन बड़े मुद्दों के साथ सरकार तक सही जानकारी के साथ खुड़िया क्षेत्र के विकास के लिए आप सभी प्रतिबद्ध होंगे।

Share on Google Plus

About patravarta.com

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 Comments:

Featured Post

सियासत के बदलते मौसम में जशपुर के नेताओं को मार गया पाला......? जशपुर की सियायत का उत्तराधिकारी कौन...?

जशपुर(11 फरवरी 2019 योगेश थवाईत) बदलते मौसम का असर अब यहां की राजनीति पर दिखने लगा है।कारण अगर आप जानना चाहते हैं तो बस एक लाईन समझ लें...