... ब्रेकिंग पत्रवार्ता जशपुर : गर्भवती महिला को समय पर नहीं मिली एंबुलेंस,सिकलसेल से पीड़ित थी प्रसूता,रेफर के बाद भी तड़पती रही महिला,विधायक रायमुनि भगत व केके रॉय पहुंचे मौके पर,जिला चिकित्सालय के लचर रवैये पर जमकर भड़के नेता,विधायक रायमुनि की दो टूक " जिम्मेदार अधिकारी अपने कर्तव्य का नहीं कर रहे निर्वहन,तत्काल हो कड़ी कार्यवाही।"

Ro no12806/ 5

Ro no12806/ 5

आपके पास हो कोई खबर तो भेजें 9424187187 पर

ब्रेकिंग पत्रवार्ता जशपुर : गर्भवती महिला को समय पर नहीं मिली एंबुलेंस,सिकलसेल से पीड़ित थी प्रसूता,रेफर के बाद भी तड़पती रही महिला,विधायक रायमुनि भगत व केके रॉय पहुंचे मौके पर,जिला चिकित्सालय के लचर रवैये पर जमकर भड़के नेता,विधायक रायमुनि की दो टूक " जिम्मेदार अधिकारी अपने कर्तव्य का नहीं कर रहे निर्वहन,तत्काल हो कड़ी कार्यवाही।"

 


जशपुर,टीम पत्रवार्ता,19 जून 2024

एक बार फिर से जशपुर जिला अस्पताल का गैर जिम्मेदाराना रवैया सामने आया है जहां प्रसूता को घंटो तक एंबुलेंस नहीं मिली।सिकलसेल की बीमारी से जूझ रही प्रसूता के पेट में बच्चे की मृत्यु हो गई। जिला चिकित्सालय में प्रशासनिक कसावट की कमी स्पष्ट रुप से परिलक्षित हो रही है जिसके कारण लापरवाही चरम पर है।

मामला है जशपुर जिला चिकित्सालय का जहां प्रसूता की जान बचाने के लिए चिकित्सकों ने आपरेशन के लिए प्रसूता को अंबिकापुर रेफर कर दिया था।जिला चिकित्सालय में रेफर की गई प्रसूता को अंबिकापुर भेजने के लिए एंबुलेंस तक नहीं थी।

एंबुलेंस उपलब्ध कराने के लिए विधायक रायमुनि भगत और पर्यटन मंडल के पूर्व अध्यक्ष कृष्ण कुमार राय,जिला चिकित्सालय पहुंचे और यहां व्याप्त अव्यवस्था पर जमकर नाराजगी जताई। 

उल्लेखनीय है कि जिले के बगीचा ब्लाक के एकम्बा निवासी सिकी बाई को प्रसव में परेशानी होने पर,स्वजन उन्हें इलाज के लिए जिला चिकित्सालय ले कर पहुंचे थे। यहां,जांच करने पर चिकित्सकों ने पाया कि प्रसूता के पेट में पल रहा बच्चा कोई हलचल नहीं कर रहा है। प्रसूता की हालत बिगड़ने पर चिकित्सकों ने आपरेशन करने के लिए अंबिकापुर रेफर कर दिया। रेफर करने के बाद प्रसूता और उनके स्वजन एंबुलेंस के लिए स्वास्थ्य विभाग से संपर्क किए। विभाग ने उन्हें बताया कि जिला चिकित्सालय में उपलब्ध सभी एंबुलेंस बाहर गए हैं। एंबुलेंस ना मिलने पर प्रसूता के स्वजनों ने विधायक रायमुनि भगत और कृष्ण कुमार राय से सहायता मांगी। 

विधायक रायमुनि भगत ने बताया कि उन्होनें एंबुलेंस उपलब्ध कराने के लिए सीएमएचओ व्हीके इंदवार से संपर्क करने का प्रयास किया लेकिन उन्होनें काल रिसिव नहीं किया। इधर,प्रसूता की हालत लगातार बिगड़ती जा रही थी।

स्वास्थ्य विभाग की इस लापरवाही से भड़के विधायक रायमुनि भगत और कृष्ण कुमार राय सहित भाजपा के जनप्रतिनिधि जिला चिकित्सालय पहुंच गए। यहां उन्होनें प्रसूता के स्वजनों से पूरी घटना की जानकारी ली। 

जिला चिकित्सालय पहुंचे एसडीएम प्रशांत कुशवाहा ने मोर्चा सम्हाला।यहां विधायक रायमुनि भगत ने एसडीएम से जिला चिकित्सालय में व्याप्त अव्यवस्था पर नाराजगी जाहिर करते हुए तत्काल कार्यवाही की बात कही।

जिला चिकित्सालय में व्याप्त अव्यवस्था पर विधायक रायमुनि भगत ने खुल कर नाराजगी जताई। उन्होनें कहा कि जशपुर सहित पूरे प्रदेश में स्वास्थ्य सेवा में गुणात्मक सुधार लाने के लिए मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय की नेतृत्व वाली सरकार तेजी से काम कर रही है।मुख्यमंत्री साय ने पदभार ग्रहण करने के तत्काल बाद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को जरूरतमंदों को काल प्राप्त होने के आधा घंटा के अंदर एंबुलेंस कराने का सख्त निर्देश दिया था।इसके बावजूद सीएम के निर्देशों का असर नहीं हो रहा है यह प्रशासनिक लापरवाही है।

इसके साथ ही सभी सरकारी अस्पतालों में जेनरीक दवा उपलब्ध कराने का आदेश दे चुके हैं। जशपुर में स्वास्थ्य स्तर में सुधार के लिए कुनकुरी में 220 बिस्तर का सर्वसुविधा युक्त अस्पताल की ना सिर्फ घोषणा हुई है अपितु इसके लिए बजट भी आबंटित हो चुका है। कृष्ण कुमार राय ने कहा कि एक ओर जहां प्रदेश सरकार स्वास्थ्य सेवा में सुधार के लिए मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय लगातार काम कर रहें हैं। वहीं,जिला स्वास्थ्य विभाग में व्याप्त अव्यवस्था और भर्राशाही बहुत दुखद है। यह नहीं चलेगा,लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

जशपुर विधायक रायमुनि भगत ने कहा कि प्रसूता सिकीबाई को रेफर किये जाने के बाद एंबुलेंस ना मिलना बहुत ही दुखद विषय है। जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा जनप्रतिनिधियों का काल रिसिव ना करना बहुत निराशा जनक है। ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

Post a Comment

0 Comments

जशपुर की आदिवासी बेटी को मिला Miss India का ख़िताब